उत्तर प्रदेश कुशीनगर क्राइम राज्य

कुशीनगरःः देवरिया पान्डेय चौराहें पर आधा दर्जन दुकानों को चोरों ने बनाया निशाना, नगदी सहित लाखों का उड़ाया समान

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सुनील कुमार तिवारी/आदित्य प्रकाश श्रीवास्तव.kknews24 -.3जुलाई.कुशीनगर।पड़रौना कोतवाली थाना क्षेत्र के देवरिया पांडे चौराहे पर बुधवार की रात अज्ञात चोरों ने आधा दर्जन दुकानों को निशाना बनाया। तीन दुकानों का शटर का ताला तोड़ नकदी लैपटॉप सहित लाखों रुपए के समान चुरा ले गए ।घटना की सूचना पर पहुंची मुकामी पुलिस ने घंटों तक मामले की छानबीन में जुटी रही ,वही संदिग्धों के घर पहुंच जांच पड़ताल भी किया ।इस मामले में पीड़ित दुकानदारों ने मुकामी थाने की पुलिस को तहरीर देकर कार्यवाही का मांग किया है ।

घटना के बावत मिली जानकारी के अनुसार ग्राम देवरिया पांडे निवासी पप्पू यादव उर्फ रोहिताश्व जो उक्त चौराहे पर गिट्टी सरिया बालू का थोक दुकान पर रखे हैं,बीती रात अपनी दुकान रोज की भांति बंद कर घर चले गए। जब सुबह हुई तो किसी ने देखा कि इनके शटर का ताला टूटा हुआ है तो इसकी सूचना इन्हें दी। जब वह मौके पर पहुंच दुकान के अंदर गये तो सभी सामान बिखरे पड़े हुए थे व दो काउंटर का तोड़कर उसने रखें ₹40000 नगदी सिक्का चोर चुरा ले गये थे। वहीं ग्राम रतनवा निवासी गोविंद प्रसाद जो उक्त चौराहे पर मोबाइल केयर की दुकान खोल रखी है उसके दुकान का ताला तोड़ चोरों ने लैपटॉप मोबाइल बैटरी नगदी सहित लगभग ₹50000 का समान चुरा ले गए ।गोविंद के दुकान के सामने सुरेंद्र गुप्ता निवासी माघी विशुनपुरा किराने की दुकान कर रखे हैं उनके दुकान का शटर का ताला तोड़ लगभग ₹20000 नगद तथा दुकान में रखे अन्य कीमती सामान चोर चुरा ले गए थे ।वही बिशनपुरा निवासी विद्या यादव की जनरल स्टोर की दुकान व पगरा बी निवासी चंद्रशेखर चौहान की मोबाइल की दुकान ,भगवन्त गोड़ जो पगरा के निवासी हे वह किराना का दुकान व बलिराम यादव जो रतनवां के निवासी है उनकी मेडिकल स्टोर की दुकानों को भी चोरों ने शटर का ताला तोड़ने का प्रयास किया था लेकिन ताला नहीं टूटने पर छोड़कर चले गए।

दुकानदार जहां इस घटना से दहशतजदा है, वही उन्होंने मांग किया है कि अगर इस चोरी के घटना का खुलासा नहीं हुआ तो वह आंदोलन की डगर पर चलने से परहेज नहीं कर सकेंगे जिसकी जिम्मेदारी शासन प्रशासन होगी।

About the author

Aditya Prakash Srivastva