पटना बिहार राज्य

पटना :: बिहार की छोटीबड़ी महत्वपूर्ण खबरें एकसाथ

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विजय कुमार शर्मा  कुशीनगर केसरी/ kknews24 बिहार(१० जुलाई) की रिपोर्ट…..

राजस्व भूमि सुधार पर बिहार विधानसभा सत्र की खानापूर्ति नहीं चलेगी : भाकपा

मैनाटाड़ :: भाकपा माले कार्यकर्ताओं की बैठक अंचल कार्यालय में किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कामरेड अच्छेलाल राम ने किया। मौके पर उन्होंने कहा की राजस्व भूमि सुधार पर बिहार विधानसभा सत्र की खानापूर्ति नहीं चलेगी। उन्होंने कहा की बिहार विधानसभा का सात दिवसीय विशेष सत्र का आयोजन तथा गरीबों की भूमि से बेदखल पर रोक और चंपारण लैंड ट्रिब्यूनल के गठन के लिए जिला व्यापी भूमि अधिकार 9 जुलाई को मैनाटाड़ प्रखंड कार्यालय में किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा गरीबों की भूमि से बेदखल किया जा रहा तथा उनका हक प्रशासन द्वारा जबरदस्ती किसानों को दिलाया जा रहा है जिससे गरीब पूरी तरह से वेवश व कमजोर होते जा रहे हैं सरकार गरीबों के साथ नाइंसाफी कर रही है। मौकै पर कामरेड इन्द्रदेव कुश्वाहा, अंचल सचिव व सीताराम राम, आमिलाल रविदास, रामाधार राम, बुनी महतो, मदन साह आदि मौजूद रहे।

प्रधानमंत्री आवास योजना का राशि उठाकर घर नहीं बनाने वाले लाभार्थी पर होगी कार्रवाही

मैनाटाड़ :: प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास निर्माण कार्य के लिए लाभार्थियों द्वारा उठाव किये गए राशि से आवास का निर्माण नहीं कराने वाले लाभुकों से राशि की वसूली की जाएगी। इसको लेकर प्रखंड प्रशासन कड़ा रुख अख्तियार किया है। इस संबंध में बीडीओ राज किशोर प्रसाद शर्मा ने बताया कि प्रखंड क्षेत्र के सोलह पंचायतों में कुल 63 लाभुकों द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत राशि का उठाव कर आवास का निर्माण नहीं कराया गया है। उन्होंने बताया कि आवास योजना के तहत मिलने वाली प्रथम किस्त की राशि का दुरुपयोग करने वाले लाभुकों को घर बनाने के लिए निर्देशित किया गया था उन्हें उजला नोटिस देकर आवास बनाने को कहा गया था। लेकिन उन लोगों द्वारा समय पर घर नहीं बनाया गया जिससे सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं की सफलता में बाधा उत्पन्न हो रही है। सरकार एक तरफ गरीबों के पास अपना आवास हो इसको लेकर कृत संकल्पित है वही दूसरी तरफ लाभार्थि आवास बनाने में कोताही बरत रहे हैं। जिन्हें प्रखंड प्रशासन चिन्हित कर लिया है तथा उनसे राशि वसूल की जाने की कवायद शुरू कर दिया गया है।इस संबंध में आवास पर्यवेक्षक आनंद सुमन सहित आवास सहायकों को कड़े निर्देश दिए गए हैं। जिन 63 लाभार्थियों से पीएम आवास योजना की राशि वसूल करनी है।उनसे 18% ब्याज वसूल करते हुए कानूनी कार्रवाई की जायेगी।

मूसलधार बारीश मे भी माले ने निकाला भूमि-अधिकार मार्च

नरकटियागंज(प.च.) :: मंगलवार के दिन माले कार्यकर्ताओ ने भु- राजस्व व भुमी सुधार को लेकर सात दिनो का विशेष भुमी-सत्र आयोजित करने तथा गरीबो को जमीन से बेदखली पर रोक लगाने और चम्पारण मे लैंड ट्रिब्यूनल गठीत करने के मांग को लेकर पोखरा चौक से प्रखंड स्तरीय भूमि अधिकार मार्च निकाला जो शहर के मुख्य सड़क होते हुए शहीद भगतसिंह चौक पहुंचा और सभा मे तब्दील हो गया• सभा को सम्बोधित करते हुए भाकपा-माले खेग्रामस राज्य परिषद सदस्य कामरेड मुख्तार मिया ने कहा की अजादी के बाद आज तक बिहार में भुमी सुधार कानून लागू नही हो सका है और इस प्रकार बिहार में भुमी समस्या विकराल रूप धारण कर चुका है, तथा आज विधानसभा मे अन्य विषयो के साथ थोड़ा समय के लिए ही “भू-राजस्व व भुमी सुधार पर चर्चा होना तय है• आगे माले नेता मुख्तार मिया ने कहा माननीय उच्च न्यायालय ने यह साबित किया है की रामनगर राजघराने के सदस्यों के नेपाल में नागरिकता होने के बावजूद वह आज गौनाहा प्रखंड के धमौरा पंचायत के हजारो एकड़ जमीन पर कब्जा जमाये हुये हैं•
वही सभा को सम्बोधित करते हुए माले नेता नजरे आलम ने कहा की डी• वन्धुउपध्याय भूमी आयोग के अनुसार 21 लाख एकड़ से अधिक सेलिंग से फाजिल, बेनामी, गैरमजरूआ आदि श्रेणी की जमीन बड़े भु-पतीयों, चीनी मिलों व भु-माफीया के पास है और कब्जा जमाये हुये हैं एवम गरीब,दलीत व मजदुर सड़क के किनारे व स्टेशन पर अपना जिन्दगी गुजारने पर मजबुर हैं जो कि समाजिक न्याय बराबरी तथा सच्चे लोकतंत्र के लिए बाधक है• चाहे वह नरकटियागंज प्रखंड के सेमरा मंगल चौक के सरकारी जमीन, गौनाहा प्रखंड के धमौरा पंचायत के रामनगर स्टेट की जमीन या फीर मैनाटाढ प्रखंड के चिउँटाहा, सिंहपुर की जमीन हो बिना भुमी सुधार के सम्भव नही है. भुमी अधिकार मार्च में भाकपा-माले नेता नजरे आलम, नन्दकिशोर, युनुस मिया, राजकुमार, काशी सिंह, ऐपवा नेत्री कुसुम देवी आदी सैकड़ो के संख्या मे माले कार्यकर्ता शामिल थे।

आठ लिटर चुलाई शराब के साथ युवक गिरफ्तार

नरकटियागंज :: शिकारपुर थाना द्वारा शराब कारोबारियों के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान में मथुरा चौक से आठ लीटर देशी शराब के साथ एक शराब कारोबारी को शिकारपुर पुलिस गिरफ्तार की है वही शराब कारोबारी की पहचान निपु प्रसाद बेलबनिया निवाशी के रूप में की गई है।

लालू की सजा बढ़ाने की सीबीआई अर्जी पर झारखंड हाईकोर्ट की पीठ ने सुनवाई से किया इनकार

पटना :: झारखंड हाईकोर्ट ने चारा घोटाला मामले में जेल की सजा काट रहे बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद समेत 6 लोगों की सजा बढ़ाए जाने की मांग को लेकर सीबीआई की ओर से दाखिल अर्जी पर मंगलवार को कोर्ट की एक खंडपीठ ने सुनवाई से इनकार कर दिया।

दरअसल, इस पीठ में शामिल एक जज ने कहा कि वह चारा घोटाले के एक मामले में सीबीआई के वकील रह चुके हैं। जस्टिस अपरेश कुमार सिंह और के पी देव की खंडपीठ ने इस मामले में सुनवाई से इनकार कर दिया और मामले को दूसरी पीठ में भेजने का निर्देश दिया। मंगलवार को जब मामले की सुनवाई शुरू हुई तो उसी दौरान जस्टिस के पी देव ने कहा कि वह सीबीआई के वकील रह चुके हैं, इसलिए वह इस मामले की सुनवाई से खुद को अलग कर रहे हैं। इसके बाद खंडपीठ ने इस मामले को दूसरी पीठ के पास भेजने का निर्देश दिया। देवघर कोषागार से अवैध निकासी मामले में सीबीआई की विशेष अदालत से लालू प्रसाद, आर के राणा, बेक जूलियस, महेश प्रसाद, फूलचंद्र सिंह और सुबीर कुमार भट्टाचार्य को साढ़े तीन साल की कैद की सजा सुनाई गई थी।

चरस रखकर युवक को फसाने मामले मैं फसाने वाला सहित तीन पर प्राथमिकी दर्ज

मझौलिया(प.च.) ::  बरवा सेमरा घाट निवासी अमीरी लाल शाह के पुत्र सुनील कुमार को कमरे में बंद कर मारपीट करने व 2 किलो चरस रखकर फसाने के मामले में मझौलिया पुलिस ने दूध का दूध और पानी का पानी करते हुए झूठा फंसाने वाले समुद आलम फार्मूद आलम तथा मोहम्मद अजहरूद्दीन के विरुद्ध कांड संख्या 382/19 धारा 120 बी 20, 22, 23 एनडीपीएस एसी 191, 195 और 197 धारा के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। आवेदक दारोगा सुनील कुमार सिंह ने समुद आलम द्वारा अमीरी लालसा के पुत्र सुनील कुमार को 2 केजी चरस के साथ पुलिस को सौंपने का मामला अनुसंधान कर झूठा साबित कर दिया और समुद्र आलम को ही दोषी करार देते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई। आवेदक श्री सिंह का कहना है कि समुद आलम द्वारा पूर्व की रंजिश को लेकर साजिश के तहत षडयंत्र रचते हुए सुनील कुमार को फंसाया गया है। उनका कहना है कि अनुसंधान के क्रम में सैकड़ों हिंदू और मुसलमान ग्रामीणों ने समुदा आलम को अपराधी प्रवृत्ति का व्यक्ति बताया तथा सुनील कुमार को निर्दोष बताया। इस मामले में बताया गया कि सुनील कुमार एवं समूह आलम की बहन एक दूसरे से प्रेम करते हैं। करीब एक माह पूर्व इस बाबत पंचायती भी हुई थी लेकिन दोनों नहीं माने तो बीते दिन समुद आलम ने सुनील को पकड़ कर मारपीट कर अपने दुकान में बंद कर दिया एवं कहीं से चरस लाकर झूठा केस में फंसाने की साजिश रच कर पुलिस को सौंप दिया। इधर सुनील कुमार ने बताया कि घटना के दिन समुद आलम की बहन ने उसे मिलने के लिए बुलाया था। जब दोनों बातचीत कर रहे थे तब समुद आलम ने देख लिया तथा पकड़ कर मारपीट करते हुए दुकान में बंद कर दिया और कहीं से चरस लाकर उसे फंसाने की नियत से पुलिस को सौंपा। आवेदक दारोगा सुनील कुमार सिंह ने स्पष्ट लिखा है कि समुद आलम, फरमूद आलम और मोहम्मद अजहरूद्दीन ने साजिश के तहत सुनील कुमार को फसाया मारपीट किया और पुलिस को सौंप दिया। आवेदक का कहना है कि समुद आलम इसके पूर्व भी एक हत्या के मामले में जेल जा चुका है। उनका कहना है कि 120 बी भादवी एवं 21, 22, 23 एमडी पीएस एक्ट के तहत यह एक संगीन अपराध है। उक्त आवेदन के आलोक में थानाध्यक्ष कृष्ण मुरारी गुप्ता ने त्वरित कार्यवाही करते हुए तीनों आरोपितों पर कांड संख्या 382/19 दर्ज कर आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए अनुसंधानकर्ता को छापेमारी तेज करने आदेश निर्गत कर दिया है। पुलिस की इस कार्रवाई से ग्रामीणों में हर्ष है। भाकपा माले नेता डॉक्टर अनवारूल हक, जवाहर प्रसाद, सुनील यादव, रिंंकी आदि ने पुलिस को साधुवाद दिया है तथा कहा है कि इस तरह के सच्चे अनुसंधान से समाज में पुलिस के प्रति विश्वास और भरोसा बढ़ेगा।

About the author

Aditya Prakash Srivastva