पश्चिमी चम्पारण बिहार बेतिया राजनीति राज्य

बेतिया :: पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई की पहली पुण्यतिथि पर किया गया सर्वधर्म प्रार्थना सभा का आयोजन

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

शहाबुदीन अहमद, कुशीनगर केसरी/kknews24 बेतिया (16 अगस्त)। सत्याग्रह फाउंडेशन के सभागार सत्याग्रह भवन में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई की पहली पुण्यतिथि पर सर्वधर्म प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया। इसमें सभी धर्मों के लोगों ने भाग लिया। इस अवसर पर पश्चिम चंपारण कला मंच की संयोजक शाहीन परवीन ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनके जीवन पर प्रकाश डाला।
इस अवसर पर अंतराष्ट्रीय पीस एंबेस्डर सह सचिव सत्याग्रह रिसर्च फाउंडेशन डॉ एजाज अहमद (अधिवक्ता) ने कहा कि आज ही के दिन 1 वर्ष पूर्व 16 अगस्त 2018 को लंबी बीमारी के बाद पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई का निधन हो गया था। उनका सारा जीवन समाज सेवा एवं समाज हित के लिए समर्पित रहा। हिंदू और मुस्लिम एकता के सच्चे पक्षधर थे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई। इस अवसर पर एजाज अहमद ने कहा कि दक्षिण एशिया में स्थाई शांति पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई की आदर्शों एवं मूल्य मूल्यों से ही हासिल की जा सकती है। दक्षिण एशिया में शांति की दिशा में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई का योगदान अतुल्य रहा है। उन्होंने अपने कार्यकाल में पड़ोसी देशों के साथ सांस्कृतिक एवं सामाजिक संबंधों को मधुर बनाने के लिए बस सेवाएं शुरू की थी। जो शांति की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम था। पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेई सत्याग्रह की जन्मस्थली बेतिया पश्चिमी चंपारण से गहरा रिश्ता रहा है। आपातकाल के बाद विभिन्न अवसरों पर उन्होंने बेतिया पश्चिम चंपारण आकर राजनीतिक एवं सामाजिक समस्याओं का निदान निकाला था। जहांइस अवसर पर बिहार विश्वविद्यालय के इतिहास विभाग के शोधार्थी अधिवक्ता शाहनवाज अलीए स्वच्छ भारत मिशन के ब्रांड एंबेसडर नीरज गुप्ता एवं वरिष्ठ अधिवक्ता शंभू शरण शुक्ल अपने विचार रखते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई के सम्मान में बेतिया पश्चिम चंपारण में एक राष्ट्रीय स्मारक बनाने की मांग की ताकि नई पीढ़ी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई के बारे में जान सके।

About the author

Aditya Prakash Srivastva