उत्तर प्रदेश कुशीनगर क्राइम

कुशीनगरःःप्रेमिका से नाजायज संबंध के शक में प्रेमी ने दोस्तों के साथ मिलकर युवक को पीटकर उतारा था मौत के घाट

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सुनील कुमार तिवारी/आदित्य प्रकाश श्रीवास्तव

कुशीनगर।तरयासुजान थाना क्षेत्र के ग्राम मठिया श्रीराम निवासी एक युवक की 10 दिन पूर्व हुई निर्मम हत्या के मामले को पुलिस ने पटाक्षेप कर दिया है।मुख्य हत्या आरोपी ने प्रेमिका से नाजायज संबंध के शक में अपने दोस्तों के साथ मिलकर इस तरह के घटना को अंजाम दिया था। हत्याकांड के मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर दर्ज मुकदमे की धारा में जेल भेज दिया है ।

आज सोमवार को पुलिस लाइन में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार मिश्र ने बताया कि तरयासुजान थाने के ग्राम मठिया निवासी राजकुमार तिवारी की हत्या कर शव को ठिकाने लगाने के उद्देश्य से उक्त थाने के सिसवा बुजुर्ग स्थित गन्ने के खेत में फेंक दिया गया था। इस संबंध में पुलिस ने मृतक के पिता के तहरीर भारतीय दंड विधान की धारा 302 201 के तहत अभियोग पंजीकृत कर इस हत्याकांड का खुलासा करने में जुटी हुई थी ।श्री मिश्र ने बताया कि विगत दिनों अभी रामू मिश्रा पुत्र प्रभु नाथ मिश्रा निवासी कोईन्दहा थाना तरयासुजान का बिहार प्रदेश में चल रहे मुकदमे में जेल चला गया था ।जेल जाने के बाद मृतक राजकुमार तिवारी रामू मिश्रा की गर्लफ्रेंड जो थाना सेवरही एक गांव निवासी है। उससे बातचीत करने तथा नाजायज संबंध बनाने का प्रयास किया था ,लेकिन उसे सफलता नहीं मिल पायी ,जेल से छूटने के बाद जब रामू घर आया तो उसकी गर्लफ्रेंड है आपबीती सुनाई जिसे सुन प्रेमी तिलमिला उठा और इसी बात से खार खाए रामू मिश्रा अपने सहयोगी प्रकाश तिवारी और दिलीप सिंह से मिलकर राजकुमार के साथ साजिश कर शराब पिए और उन्हें पीटते पीटते मौत के घाट उतार डाला और शव को ठिकाने लगाने के उद्देश्य से गन्ने के खेत में फेंक दिया था। अभियुक्त दो अभियुक्तों प्रकाश तिवारी पुत्र स्वर्गीय बृजकिशोर तिवारी निवासी सिसवा बुजुर्ग थाना तरयासुजान दिलीप सिंह पुत्र राम प्रवेश सिंह निवासी शिवराजपुर चौपथिया थाना तरयासुजान को तीनफेड़िया रेलवे स्टेशन के पास से पुलिस ने धर दबोचा ।इस घटना का सफला अनावरण करने में प्रभारी निरीक्षक राहुल कुमार सिंह उपनिरीक्षक रामविलास यादव हेड कांस्टेबल रामगोपाल यादव कांस्टेबल अमरमणि सोनू कुमार अमित मोदनवाल का सराहनीय योगदान रहा।

About the author

Aditya Prakash Srivastva