उत्तर प्रदेश कुशीनगर राजनीति

कुशीनगरःःभाकियू (भानु) के कार्यकर्ताओं ने विभिन्न समस्याओं के निराकरण की मांग को लेकर सौंपा ज्ञापन

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

डेस्क.कुशीनगर।भारतीय किसान यूनियन (भानु) की जिला इकाई, कुशीनगर के जिलाध्यक्ष रामचन्द्र सिंह द्वारा छ: सूत्रीय माँगों का ज्ञापन मैनेजिंग डाईरेक्टर, पूर्वांचल बिधुत वितरण निगम लिमिटेड भिखारीपुर, वाराणसी से सम्बन्धित एसडीओ (बिधुत), कप्तानगंज को सौपते हुए अवगत कराया है कि प्रदेश की जनता पहले ही मंहगाई की मार से बेहाल है ऐसे में बढ़ें हुए बिजली के बिल प्रदेश के जनता/किसानों के साथ नाइंसाफी हो रहा है| पूरा देश इस समय मंदी की चपेट में है| देश की आर्थिक ब्यवस्था बदहाल हो चुका है लोगों के पास रोजगार नही है और देश का नौजवान बेरोजगारी की मार झेल रहा है| प्रदेश की जनता बढे हुए प्याज के दामों सहित अन्य सब्जियों की महँगाई के साथ साथ जरूरत की सभी बस्तुओं के दाम आसमान छू रहें है और ऊपर से बढ़ी हुई बिजली के बिलों के वजह से गरीब जनता कैसे अपना गुजारा कर रही है अब तो वही जान रहेँ है? ऐसे वक्त में माननीय मुख्यमंत्री महोदय द्वारा लिया गया यह फैसला कहीं से भी उचित नही लग रहा है| लोगों के हक में इस फैसले पर मुख्यमन्त्री द्वारा पुन: विचार करना चाहिए| विधुत दरों को पहले के ही दर पर जारी रखना चाहिए जो जनहित में एक सराहनीय कदम होगा| अपने ज्ञापन के माध्यम से यूनियन के जिलाध्यक्ष श्री सिंह ने किसानों के हितों के लिये माँग किया है कि बढ़ी हुई बिजली की दरों को राज्य सरकार द्वारा वापस लिया जाय| जनपद कुशीनगर में बिजली का तार और लकड़ी का पोल जो बहुत पहले से लगे हुए है वह जर्जर होकर गिरने के कागार पर पहुँच गये है उसे तत्काल बदलवाने का कार्य किया जाय| पूरे उत्तर प्रदेश में किसानों का जो बिजली बकाया दस हजार से ऊपर है उनके कनेक्शन को बिजली विभाग द्वारा काटा जा रहा है जो इस समय अनुचित है| बिजली के बिल की वसूली खरीफ फसल तैयार होने के बाद वसूला जाय ताकि किसान उसकी भरपाई अपना अनाज बेचकर कर सके| पूरे उत्तर प्रदेश में किसानों को सिचाई करने के लिये बिजली मुफ्त में दिया जाय| जनपद के कुछ ऐसे गांव है जहां पर सिर्फ बिजली के पोल ही लगे है और बिजली का मीटर गांव वालों को प्रधान से मीलकर बिजली विभाग द्वारा लोगों के घर में लगा दिया है जिसके वजह से बिजली कनेक्शन होने से पहले ही बिजली का बिल आना शुरू हो गया है जो बिल्कुल अनुचित है| ऐसे गावों के बिजली विभाग द्वारा सर्वे कराकर इस समस्या का समाधान किया जाय जो जनहित में होगा| जनपद कुशीनगर में बिजली की कटौती कुछ ज्यादा ही हो रहा है और साथ ही साथ कुछ क्षेत्रों में तीन से लेकर चार-चार दिन तक बिजली बिल्कुल नही आता है उसके ऊपर ध्यान दिया जाय जो जनहित में होगा| यदि उपरोक्त माँगों के ऊपर तत्काल कोई कार्यवाही नही किया गया तो हमारा यूनियन आन्दोलन के डगर पर चलने के लिये वाध्य होगा जिसकी जिम्मेदारी शासंन प्रशासन की होगी| इस मौके पर हरि जी, रामप्यारे शर्मा, रामशीष, भोरिक यादव, रामाधार प्रसाद, राधे प्रसाद, चाँदबली, चेतई प्रसाद, बंशबहादुर विश्वकर्मा,सुरेश प्रसाद के साथ साथ अन्य कार्यकर्ता और किसान मौजूद रहेँ|

About the author

Aditya Prakash Srivastva