कुशीनगर : बाईपास मार्ग बनवाने को लेकर तीसरे दिन धरना जारी

Spread the love

सुनील तिवारी/शम्भू मिश्र, कुशीनगर केसरी कुशीनगर(२७ अक्टूबर)। पडरौना शहर में रेलवे के बाईपास सड़क को गड्ढा मुक्त बनाने की मांग को लेकर छात्र नेताओं ने तीन लगातार तीन तक धरना दिया है लेकिन कोई शामधान नही निकल सका है सडक बनाने की मांग को लेकर अब भी इनका धरना जारी है। शहर के इस इकलौते बाईपास सड़क में कुछ हिस्सा रेलवे विभाग का पड़ता है। रेलवे विभाग के नजरअंदाज के कारण बाईपास सड़क गड्ढे में परिवर्तित हो गयी है, जिससे आवागमन में लोगों को दुश्वारियों का सामना करना पड़ता है। एसे मे पहले से दी गयी चेतावनी के तहत जिला पंचायत सदस्य छात्र संघ के पूर्व महामंत्री बजरंगी यादव नेतृत्व में लोगों ने रेलवे स्टेशन के पूर्वी ढाले के पास धरना देते हुए सड़क को गड्ढा मुक्त बनाने की मांग लगातार तीन दिन तक की।

गौरतलब हो की रेलवे के विभागीय लापरवाही यहां भारी पड़ रही है। सड़कों को गड्ढामुक्त न कराए जाने से आए दिन लोग दुर्घटना के शिकार हो रहे हैं। पडरौना शहर का प्रमुख बाईपास वाले मार्ग रेलवे के किनारे कठकुइयां रोड से पूर्वी रेलवे क्रासिंग को पार करते हुए बेलवा चुंगी चैराहा होते हुए जटहां मार्ग से जुड़ता है। इस रास्ते शहर में आने वाले भारी वाहनों के अलावा जटहां और बांसी के रास्ते बिहार प्रांत के लिए भी गाड़ियां जाती हैं। इस सड़क का कुछ हिस्सा रेलवे के अधीन है। शेष पडरौना नगर पालिका की निगरानी में है। रेलवे के हिस्से वाली सड़क बन नहीं रही है और नगर पालिका के हिस्से की सड़क पर मरम्मत का कार्य तक नहीं हो रहा है। हालांंकी पडरौना नगर के कठकुइयां मोड़ से निकलकर भूतनाथ कालोनी होते हुए जटहां मार्ग को जोड़ने वाला बाईपास मार्ग भूतनाथ कालोनी के मोड़ पर ही क्षतिग्रस्त है। मोड़ पर कई बार मालवाहक पलटने से भी बचे हैं। पूर्वी रेलवे क्रासिंग पर सड़क में लगभग तीन फीट नीचे तक गड्ढे बन गए हैं। इस वजह से बड़ी गाड़ियां इस रास्ते नहीं जातीं। बरसात के समय बाइक सवार भी इसमें गिरकर घायल हो जाते हैं। रेलवे स्टेशन रोड से बेलवा चुंगी की तरफ भी सड़क का आधा हिस्सा टूट चुका है।

You may have missed