पटना : बिहार की रात्रि की 9:00 बजे तक की महत्वपूर्ण खबरें

Spread the love

विजय कुमार शर्मा, कुशीनगर केसरी बिहार(०९ नवंबर) की रिपोर्ट…

समस्तीपुर में बड़ा हादसा ::- मिट्टी धंसने से 5 बच्चों की मौत, 6 घायलों में दो की हालत गंभीर

समस्तीपुर : जनपद में मिट्टी धंसने से पांच बच्चों की मौत की खबर है. वहीं करीब आधा दर्जन अन्य के घायल होने की सूचना है. जिनमें से दो की हालत गंभीर बनी हुई है. जानकारी के मुताबिक छठ पर्व के लिए मिट्टी लाने गये करीब 18 लड़के मिट्टी धंसने से उसके नीचे दब गये। हादसे को लेकर गांव में मातम पसरा हुआ है।

घटना समस्तीपुर जिले के उजियारपुर के नजीरपुर सुरहनिया पोखर की है। हादसे में पांच बच्चों की मौके पर ही मौत हो गयी। वहीं कई अन्य के अभी भी मिट्टी में दबे होने की खबर हैै। हादसे में छह लोग घायल हैं, जिनमें से दो की हालत गंभीर बतायी जा रही है। स्थानीय प्रशासन द्वारा ग्रामीणों के सहयोग से राहत और बचाव अभियान जारी है। उधर, घायलों को डीएमसीएच रेफर कर दिया गया है। छठ के अवसर पर हुए बड़े हादसे से नजीरपुर सुरहनिया पोखर क्षेत्र के निवासियों में शोक की लहर दौड़ गयी है।

घर लौटने को तैयार लालू के लाल, लेकिन रखी बड़ी शर्त

पटना : राष्‍ट्रीय जनता दल (राजद) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव घर लौट सकते हैं, अगर उनकी बात मान ली जाए। माना जा रहा है कि अभी वे दिल्‍ली में हैं। उन्‍होंने माना कि कृष्‍ण अर्जुन से नाराज नहीं हैं, लेकिन एक दुर्योधन है जो अर्जुन व कृष्‍ण के बीच में आ गया है।
एक निजी चैनल से बातचीत में तेज प्रताप यादव ने कहा कि उनकी छोटी सी बात अगर माता-पिता मान लें तो वे घर लौट आएंगे। मेरी बात मानने के लिए कोई तैयार नहीं है। तेज प्रताप ने कहा कि उन्‍होंने तलाक की जो अर्जी फाइल की है, उसपर परिवार साथ दे। वे पत्‍नी ऐश्‍वर्या की मीठी-मीठी बातों में आने वाले नहीं हैं।
तेज प्रताप ने कहा कि परिवार में लड़ाई-झगड़े हद पार कर गए थे। वह (पत्‍नी) मेरे लिए गंदे शब्‍द बोलती थी। वो अपनी जिंदगी में मस्‍त रहे, मैं अपनी जिंदगी में मस्‍त रहूं। हमने सोच-समझकर तलाक का फैसला लिया है। यह अटल है।
तेज प्रताप ने कहा कि वे परिवार के साथ हैं लेकिन ऐश्‍वर्या के साथ रहना नहीं चाहते। उन्‍होंने घर में घुसे किसी विपिन नामक व्‍यक्ति के प्रति नाराजगी जताई तथा कहा कि वह उनके दोस्‍तों को बुलाकर सता रहा है। यह बर्दाश्‍त से बाहर है।
तेज प्रताप ने कहा कि पार्टी में भी गुंडे-मवाली घुस गए हैं। उन्‍हें भी बाहर करना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि कुछ दुर्योधन हमको हमारे भाई से दूर करने में लगे हुए हैं, लेकिन वे अपने अर्जुन (तेजस्‍वी) से दूर नहीं हैं। परिवार वालों से भी उनकी बात हो रही है। पिता लालू प्रसाद यादव से भी बात हुई है वे ठीक हैं।

नवविवाहिता को जलाकर मार डाला दरिंदो ने

सोनपुर : एक तरफ सरकार बेटी पठाओ बेटी बचाओ अभियान चला रही है और दहेज प्रथा की खिलाफ आवाज बुलंद करने व दहेजप्रथा रोकने के लिए करोड़ों रुपये विज्ञापन पर खर्च कर रही है और कई कल्याणकारी योजनाएं चलाई जा रही है जिसे बेटी आगे बढ़े ,आत्म निर्भर रहे जिसे समाज में बेटी -बेटा में अंतर नहीं हो। इसके लिए भी सरकार लोगो को जागृत कर रही है तो दूसरी तरफ दहेज के खातिर एक बेटी को आग के हवाले कर उसकी नवविवाहिता जिंदगी बर्वाद कर दी उनके ही ससुराल वालों ने ।
ऐसे ही एक मामला आज गरूवार शाम सोनपुर प्रखंड के खरिका पंचायत में हुई है । खरिका ग्राम निवासी धर्मेंद्र कुमार राय पिता शिव बालक राय ने अपनी ही पत्नी को दहेज में अन्य सामान, रुपए नहीं देने के कारण बार-बार प्रताड़ित किया करता था जिसके लेकर के पत्नी मंजू कुमारी ने अपने मायके वाले से पैसे और अन्य सामान मांग कर रही थी लेकिन मंजू के नइहर वालो की गरीबता रहने के कारण अपनी बहन की ससुराल वालों की माँग पूरी नही कर सकते। इस लिए दहेज में अन्य समान नही मिलने के कारण उनके ससुराल वालों ने उन्हें आज शाम जिंदा आग के हवाले कर दिया जिससे गाँव में अफरा-तफरी का माहौल बन गया । जैसे ही पहलेजा ओपी प्रभारी को इसकी खबर मिली। मृत अवस्था में पाई मंजू कुमारी को पुलिस ने शव को कब्जे में लेते हुए इसकी खबर मंजू के मैके को दी गई । मंजू का विवाह जून माह में हुई थी मंजू के नैहर पटना जिले के शाहपुर थाना अंतर्गत चन्दमारी के अनिल राय के पुत्री हैं । अपनी बहन की मृत्यु की खबर सुनते ही उसके भाई आकर पूरी बात बताते हुए दहेज ना देने के कारण उसकी बहन को हत्या जलाकर करने के आरोप लगाते हुए धर्मेंद्र कुमार के साथ पूरे परिवार को थाने में एफआइआर दर्ज करा दी है उन्होंने पुलिस को बताया कि तीन लाख नगद , मोटरसाइकिल , अन्य घरेलू सामान देकर बहन को शादी कर दिए थे । लेकिन इन दरिंदो ने पैसे के लालच में व जल्दी अमीर बनने की सपना के आगे मेरी बहन को आग के हवाले कर दिया जिससे मेरी बहन की मौत हो गई है । पुलिस शव को लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजने की तैयारी में जुट गई है। धर्मेन्द्र कुमार के साथ सभी परिवार भागने में सफल रहा । पुलिस मामले की छानबीन शुरू कर दी है ।

बिहार के शिक्षक अयोग्य,नाकाबिलों को हटाए सरकार

पटना : केंद्रीय मानव संसाधन राज्य मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा ने बिहार की शिक्षा व्यवस्था को लेकर नीतीश सरकार पर हमला बोला है। उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा है की बिहार सरकार ने बडी संख्या में अयोग्य शिक्षकों की बहाली कर ली है। वैसे अयोग्य शिक्षक बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। जो शिक्षक पढाने के काबिल नहीं हैं उन्हें सरकार तत्काल हटाए।अगर सरकार उन्हें नहीं हटा सकती तो उनसे कोई दूसरा काम लिया जाए।केंद्रीय मानव संसाधन राज्य मंत्री ने कहा कि हमने बिहार सरकार को शिक्षा में सुधार के लिए कई सुझाव दिए थे।लेकिन सरकार ने अब तक उनके सुझाव पर अमल नहीं किया है।अब भी समय है हमारे सुझाव पर अमल कर शिक्षा के स्तर को गिरने से बचा ले। हमने अपने स्तर से शिक्षा में सुधार को लेकर कई सामाजिक अभियान भी चलाया है।

केन्द्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा ने बिहार सरकार से शिक्षकों की बहाली पैटर्न को बदलने की मांग किया है। कुशवाहा ने कहा कि बिहार में अब शिक्षकों की बहाली बीपीएससी या इसके स्तर की एजेंसी से कराई जाए ताकि गुणवत्ता वाले शिक्षक सेवा में आयें।केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि पहले बीपीएससी के तहत शिक्षकों की बहाली हुई थी।उससे बहाल शिक्षकों का परफाँरमेंस काफी अच्छा है।कुशवाहा ने नीतीश सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि सूबे में शिक्षा व्यवस्था बेपटरी हो चुकी है। सरकार बच्चों को समय से किताब मुहैया नहीं करा पाती। केंद्रीय मंत्री ने सवाल उठाते हुए कहा कि सरकारी स्कूलों में गरीब लोगों के बच्चे पढते हैं।जब स्कूलों में नाकाबिल शिक्षक हैं ,ऐसे मे हमारे गरीब बच्चों के भविष्य का क्या होगा।

You may have missed