पश्चिमी चम्पारण बिहार बेतिया राजनीति राज्य

बेतिया(पश्चिम चंपारण) :: आरोपियों पर हुये प्राथमिकी में त्वरित कार्रवाई नही की गई, तो आईएमए चरणबद्ध आंदोलन करेगा, जरूरत पड़ी तो हड़ताल पर भी जा सकते है चिकित्सक

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विजय कुमार शर्मा, कुशीनगर केसरी/केके न्यूज24, बेतिया(पश्चिम चंपारण), बिहार(२८ मई)। पश्चिम चंपारण जिला के नरकटियागंज स्थित पीएचसी में विगत दिनों पीएचसी में पदस्थापित डॉक्टर एवं कर्मी से हुये मारपीट एवं दुर्व्यवहार को पश्चिम चंपारण इकाई आईएमए कड़ी निंदा करता है। उक्त जानकारी आईएमए जिला मीडिया प्रभारी हड्डी, जोड़, रीढ़ एवं नस रोग विशेषज्ञ डॉ0 उमेश कुमार ने दिया।

उन्होंने आगे बताया कि आईएमए जिला सचिव डॉ0 मोहनीश सिन्हा द्वारा आईएमए संघ की इमरजेंसी बैठक कर यह निर्णय लिया गया कि आरोपितों पर हुये प्राथमिकी में त्वरित कार्रवाई नही की गई, तो आईएमए चरणबद्ध आंदोलन करेगा। जरूरत पड़ी तो चिकित्सक हड़ताल पर भी जा सकते है। वही डॉ0 उमेश कुमार ने आगे बताया कि जिलाध्यक्ष डॉ सुशील प्रसाद चौधरी का भी कहना हैं कि इस कोरोना काल मे भी लोग कोरोना योद्धाओं के साथ दुर्व्यवहार एवं मारपीट से बाज नही आ रहे है। हम इसकी कड़ी भर्त्सना करते हुए उचित कार्रवाई की मांग करते है।

बताते चले कि पीएचसी में कार्यरत डॉक्टर बीएन शुक्ल के शिकायत पर तीन लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। दर्ज प्राथमिकी में डॉ0 बीएन शुक्ल ने उल्लेख किया है कि सोमवार की रात शिकारपुर थाना क्षेत्र के सिसई गांव निवासी दुर्गा शाह का पीएससी में इलाज चल रहा था। वह ड्यूटी पर तैनात रहकर इमरजेंसी में मरीज का इलाज कर रहे थे। इसी बीच सिसई गांव का विपिन श्रीवास्तव दो अन्य व्यक्तियों के साथ आ कर गाली गलौज करते हुए धक्का-मुक्की करते हुए जान से मारने की धमकी दे डाली। चिकित्सक ने 22 मई को उक्त आरोपी द्वारा पीएसी प्रभारी को गाली गलौज देने व ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर को धमकी देकर चला गया था। डॉक्टर समेत अन्य स्वास्थ्य कर्मियों ने आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई है। साथ ही चेतावनी भी दिया है कि अगर मामले में ठोस कार्रवाई नहीं होती है। तो वे अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे।

About the author

Aditya Prakash Srivastva