उत्तर प्रदेश कुशीनगर क्राइम राज्य

कुशीनगरःःप्राथमिक व़िधालय का भवन गिरने से छात्र की मौत, ग्रामीणों ने शव को कई घंटे रोका,एम एलए के आश्वासन के बाद धरना हुआ समाप्त,परिवार में छाया मातम

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

वरिष्ठ संवाददाता. सुनील कुमार तिवारी.

कुशीनगर।कसया थाना क्षेत्र के ग्राम सिसवा मठिया में आज सोमवार की दोपहर उस समय कोहराम मंच गया जब एक पन्द्रवर्षीय छात्र गांव के बने पुराने प्राथमिक विद्यालय का छत गिरने से मलबे से दबने से उसकी मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गयी। प्राथमिक विद्यालय गिरने की आवाज सुन पहुचे अगल बगल के लोगो ने यह घटना देख हस्तप्रभ रह गये। जानकारी होने पर पुरे गांव के लोग उमड़ पड़े मौके पर सूचना पाकर पहुंचे कुशीनगर विद्यायक रजनीकान्त मणि त्रिपाठी ,हियुवा के जिला महामंत्री फुलबदन कुशवाहा एमएलसी राम अवध यादव ,पूर्व प्रधान व कांग्रेसी नेता त्रषिकेश मिश्र उपजिलाधिकारी रामकेश यादव, सीओ सदर नितेश प्रताप सिंह मय फोर्स के साथ घटना स्थल पर पहुच गयें। शव को ग्रामीणोंने एमबुलेंस जाने से रोक दिया और घटना स्थल पर ही शव को रख कर आन्दोलन शुरू कर दिया। उनकी मांग थी कि जिम्मेदारो के खिलाफ हत्या का मुकदमा पंजीकृत करते हुए सरकार 20 लाख मुवावजा दें। विधायक के आश्वासन के बाद लोगों ने धरना को समाप्त किया इस दौरान पुलिस को कड़ी मशक्त करनी पड़ी!

घटना के बावत मिली जानकारी के अनुसार उक्त गांव निवासी तिलक गुप्ता जो लम्बी बिमारी से परेशान है। उनका इलाज गोरखपुर बीआरडी मेडिकल काजेज में चल रहा है। उनका पुत्र दिपक जो आज सोमवार दोपहर लगभग 12ः00 बजे शौच करने के लिए गांव के बाहर गया हुआ था। आधी तुफान आने के दौरान उक्त विद्यालय में ठहरा हुआ था कि इसी दौारान विद्यालय का छत आचानक जमीन पर गिर गया और मलबे से दबने से युवक की दर्दनाक मौत हो गयी। यह घटना आम होते ही लोगो का भारी हुजूम उमड़ पड़ी। इस घटना की सूचना पर एसडीएम पड़रौना सीओं कसया मय फोर्स के साथ घटना स्थल पर पहुच गये और जेसीबी मगवांकर मलबे से दिपक के शव को बाहर निकाला, शव निकलते ही आक्रोशित ग्रामिणों ने शव को एम्बुलेंस से बाहर निकाल घटना स्थल पर ही शव को रख कर धरना प्रदर्शन चालू कर दिया ,उनकी मांग थी कि इस सम्बन्ध में ग्राम प्रधान सहित आला अधिकारीयों को भी जंर्जर भवन को लेकर शिकायत की गयी थी लेकिन सबने इसकी अनदेखी कर दी। जांच कर जिम्मेदारों के खिलाफ हत्या का मुकदमा पंजकृत किया जायें। तथा मृतक के परिजनों को 20 लाख रूपये का मुवाजा दिया जाये। ग्रामीणों का आक्रोश देख पुलिस को कई बार सख्ती बरतनी पड़ी । कुशीनगर विघायक व हियुवा के जिला महामंत्री के आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने धरना प्रदर्शन समाप्त किया। पुलिस शव को एम्बुलेंस से पीएम कराने के लिए जिला अस्पताल ले गयी। उसके बाद धरना प्रदर्शन समाप्त हो सका। इस घटना को लेकर परिजनों चित्तकार से गांव में कोहराम मचा हुआ हैं।

About the author

Aditya Prakash Srivastva