पश्चिमी चम्पारण बिहार राजनीति राज्य वल्मीकीनगर

वाल्मीकीनगर : राष्ट्रीय लोक समता पार्टी कि दो दिवसिय बैठक का हुआ समापन

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

राजेश पांडेय, कुशीनगर केसरी बाल्मीकिनगर, प.च. बिहार (०५ दिसम्बर) : RLSP पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं के साथ बैठक मे आज नीतीश कुमार की जमकर हंगामा पार्टी के कार्यकर्त्ता सभी क्षेत्रों से आये लोगों ने कोर कमेटी की बैठक में राष्ट्रीय कार्य समिति सदस्यों के साथ बन्द कमरे में बनी रणनीति, दो दिवसीय राजनैतिक चिंतन शिविर में तीन पालियों में हो रहे बैठक के बारे में बताया गया है।

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी “राजनैतिक चिंतन शिविर एवं खुला अधिवेशन”

बाल्मीकिनगर में राष्टीय लोक समता पार्टी के गठन का मकसद सामाजिक न्याय के साथबराबर की हिस्से ऐसी सोच है। क्योंकि गरीब घर के बच्चे सिर्फ और सिर्फ सरकारी संस्थानों मे ही अपनी पढ़ाई करते है। नीतीश कुमार एनडीए में शामिल हो गए। मुख्यमंत्री बार-बार यह दोहराते है कि वे क्राइम,क्रप्शन और कम्युनिलज्म से कोई समझौता नहीं कर सकते है, राज्य में एक तरह से आतंक का माहौल बना हुआ है और इनके शासन काल में सृजन घोटाला, शौचालय धोटाले, धान खरीद घोटाला शहरी विकास घोटाला मामले में अनिमियता के साथ नीतीश कुमार ने चुप्पी से मालूम से इस आशंका को बल दिया जा रहा है और प्रमाणित हो रहा है कि नीतीश कुमार पूरी तरह से घुटने टेक रही है और इस पाखंडी सरकार को सत्ता से उखाड़ फेंकने के बिना बिहार का विकास असंभव है। उपेंद्र कुशवाहा को नीच शब्द से संबोधित कर अपमानित करने, पार्टी को तोड़ने इत्यादि की नीतीश कुमार द्वारा कोशिश किया जा रहा है। पार्टी चिंतन शिविर में व्यवस्था को पटरी पर लाने,किसानों, नोजवानों को निर्णय लेने हेतु राष्ट्रीय अध्यक्ष को अधिकृति करती है और प्रारंभ अभियान को गति प्रदान करते हुए 2 फरवरी को आक्रोश मार्च का आयोजन कर महामहिम राज्यपाल को समर्पित किया जायेगा। उक्त जाती के गरीब परिवार के लोग उचित भागीदारी हेतु पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा के तत्वावधान में देश भर में अभियान शुरू करने की मांग करती हैं और अखिल भारतीय न्यायिक सेवा की स्थापना करेंगी।

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के कार्यकारी के बैठक में वार्तालाप के क्रम में एक-दूसरे पर फेका-फेंकी करने के क्रम मंच पर कमेटी के महिला कार्यकर्त्ता मालती कुशवाहा, राष्ट्रीय महा सचिव महिला वर्ग के कुछ बोलने पर मंच पर विरजमान कार्यकर्त्ता ने मालती कुशवाहा का मज़ाक उड़ाया और फिर रोते बिलखते हुए बाहर निकल कर कहने लगीं कि आज मेरा अपमान किया गया है।

About the author

Aditya Prakash Srivastva