उत्तर प्रदेश कुशीनगर क्राइम

कुशीनगरः दो इनामिया बदमाशों के साथ तमंचा व कारतूस के साथ चार गिरफ्तार

News
  •  
  •  
  •  
  • 11
  •  
  •  
  •  
  •  
    11
    Shares

सुनील तिवारी/शम्भू मिश्र
कुशीनगर।जनपद के तीन थानों की पुलिस को भारी सफलता मिली है। दो ईनामिया बदमाशों के साथ तीन को तमंचा व कारतूस के साथ गिरफ्तार करने में सफलता हासिल किया है। उनके विरुद्ध दर्ज मुकदमों की धारा में पुलिस ने जेल के लिए रवाना कर दिया है।

इस सिलसिले में जिला मुख्यालय स्थित पुलिस अधीक्षक कार्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता के दौरान पुलिस कप्तान राजीव नारायण मिश्र ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि अपर पुलिस अधीक्षक उत्तरी गौरव बंसल के पर्यवेक्षक व सीओ पडरौना नितेश प्रताप सिंह के नेतृत्व में चलाए जा रहे अभियान के क्रम में रामकोला पुलिस को मुखबीर जरिए सूचना मिली कि ₹15000 का इनामी बदमाश राजेंद्र प्रसाद उर्फ भोला पुत्र चंद्रिका प्रसाद निवासी सेमरा थाना कुबेरस्थान रामकोला रेलवे स्टेशन पर खड़ा है और कहीं भागने के फिराक में है। पुलिस को सूचना मिलते ही वहां पहुंच उसे धर दबोचा, उसकी जामा तलाशी लेने पर 12 बोर का कट्टा व जिंदा कारतूस भी बरामद किया गया।वह गोकशी के तस्करी में लिप्त था जिस पर ₹15000 का पुरस्कार घोषित किया गया था। श्री मिश्र ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए आगे बताया कि कुवेरस्थान थाने की पुलिस ने गैंगेस्टर एक्ट में वांछित चल रहे अभियुक्त सत्येंद्र कुमार गौड़ पुत्र अमीर प्रसाद निवासी झुगंवा थाना कसया जो फरार चल रहा था। पुलिस को मिली सूचना के आधार पर कसया के लंगडी तिराहा के पास गिरफ्तार कर लिया ।पुलिस की जामा तलाशी लेने के दौरान उसके पास से 315 बोर का तमंचा व एक जिंदा कारतूस भी बरामद हुआ। इसी क्रम में थाना तरयासुजान की पुलिस ने दो अभियुक्तों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल किया है। जिसमें छोटे लाल यादव पुत्र बिहारी यादव निवासी अहिरौली दादन थाना तरयासुजान शम्भू यादव पुत्र नगीना यादव पता उपरोक्त इनके पास से पुलिस ने 12 बोर का तमंचा व एक जिंदा कारतूस सहित नकद भी बरामद किया है। इस घटना का सफल अनावरण करने में रामकोला रामकोला थाना के राहुल कुमार सिंह मिथिलेश कुमार मिश्र कांस्टेबल विशाल यादव बृजेश कुमार दुबे तरयासुजान पुलिस में थाना प्रभारी विनय कुमार पाठक अनिल कुमार कृष्ण सिंह कुबेरस्थान थाना प्रभारी अरुण कुमार मौर्या कमल तिवारी सुनील राजभर का इस घटना का सफल अनावरण करने में महत्वपूर्ण योगदान रहा है।

About the author

Aditya Prakash Srivastva