उत्तर प्रदेश कुशीनगर राज्य

कुशीनगर :: फसल अवशेष प्रबन्धन सम्बन्धी आवश्यक बैठक सम्पन्न, कृषि वैज्ञानिकों द्वारा पराली जलाने पर होने वाले दुष्प्रभाव से कराया अवगत

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

आदित्य प्रकाश श्रीवास्तव, कुशीनगर केसरी/केके न्यूज24, कुशीनगर(११ सितंबर)। जिलाधिकारी भूपेंद्र एस चौधरी ने जनपद में फसल अवशेषों के जलाये जाने पर प्रभावी नियंत्रण के लिये संबंंधित अधिकारियों को निर्देश दिये जाने के साथ ही इसके लिये तहसील स्तर पर पूर्व में गठित स्क्वाईड्स टीम को सक्रिय होने का निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि यह टीम फसल अवशेष जलाये जाने पर नियमानुसार दण्डित करने की कार्यवाही, जुर्माने की वसूली आदि को सुनिश्चित करायेगी तथा फसल अवशेषों के जलाने पर प्रभावी रोकथाम सुनिश्चित करेगी।

जिलाधिकारी ने कलेक्ट्रेट सभागार में फसल प्रबन्धन बैठक की अध्यक्षता करते हुए उक्त निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गठित टीमो में संबंधित खण्ड विकास अधिकारी, तहसीलदार, कृषि, गन्ना विभाग के क्षेत्रीय अधिकारी गण व थानाध्यक्ष को सदस्य नामित किया गया है। इस टीम को निर्देशित किया गया है कि वे फसल अवशेष न जले इसके लिये जन जागरुकता सहित अन्य प्राविधानो का पालन कराये और दण्ड आदि प्रक्रिया को सुनिश्चित करायें। किसी भी भी स्तर पर शिथिलता नही होनी चाहिये। गोष्ठी में कृषि वैज्ञानिक अशोक राय द्वारा उपस्थित कृषकों को फसल अवशेषों का उचित प्रबन्धन, वैज्ञानिक विधि से फसलों की बुआई,निराई, गुड़ाई, कृषि यंत्रों सम्बन्धी पूर्ण जानकारी दी गई। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अन्नपूर्णा गर्ग, उप निदेशक कृषि चौधरी अरुण कुमार, जिला कृषि अधिकारी प्यारेलाल ,समस्त तहसीलदार सहित कृषि वैज्ञानिक व कृषक गण उपस्थित रहे।

About the author

Aditya Prakash Srivastva