क्राइम पश्चिमी चम्पारण बगहा बिहार राज्य

बगहा(पश्चमी चंपारण) :: जरनेटर चालन में मिली अनियमितता पर बगहा अनुमंडल अस्पताल के लिपिक हुए निलंबित

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विजय कुमार शर्मा, कुशीनगर केसरी/केके न्यूज24, बिहार(१४ सितंबर)। बगहा अनुमंडल अस्पताल में जरनेटर चलाने में अनियमितता का आरोप प्रमाणित होने पर लिपिक शशि प्रसाद यादव लिपिक अनुमंडल अस्पताल बगहा को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए इनका निलंबित मुख्यालय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र गौनाहा निर्धारित किया जाता है।

उक्त बातों की जानकारी सिविल सर्जन डॉ अरुण कुमार सिन्हा ने देते हुए बताया कि निलंबित मुख्यालय में अनुपस्थिति विवरणी प्राप्त होने पर ही निलंबन भत्ता भुगतान किया जाएगा ।प्रमाणित आरोप पर अलग से दंड आधीरोपित किया जाएगा। आगे उन्होंने बताया कि श्री यादव पर के ऊपर पर पत्र” क” में आरोप गठित पर संचालन पदाधिकारी डॉ त्रियुगी नारायण प्रसाद ,उपाधीक्षक सह सहायक अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी के द्वारा अपने जांच प्रतिवेदन में निम्न तथ्य उजागर किए गए जिसमें जरनेटर संचालन के क्रम में प्रतिदिन लांग बुक नहीं भरा जाता है, साथ ही लॉग बुक पर किसी भी पदाधिकारी का हस्ताक्षर प्रतिदिन नहीं किया जाता है जिससे लॉग बुक की सत्यता प्रमाणित हो सके। इतना ही नहीं एक ही दिन में एक महीना का लांग बुक बहुत ही सुंदर अक्षरों में भरा पाया गया और जरनेटर चालक अनिल बैठा से भी एक दिन में ही पूरी लॉग बुक का हस्ताक्षर करा लिया गया है, ऐसे में स्पष्ट है कि मंनगढंत तरीके से लॉग बुक भरा गया है फलस्वरूप जरनेटर परिचालन में राशि के गबन से इनकार नहीं किया जा सकता। आगे उन्होंने बताया कि उक्त जांच के पूर्व अनुमंडल पदाधिकारी बगहा एवं जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी बेतिया के द्वारा अनुमंडल बगहा, की जांच की गई थी, जिसमें जरनेटर परिचालन की में गवन की बात प्रति वेदित की गई है। जरनेटर के संचालन के पूर्ण कार्य भार एवं भुगतान संबंधी प्रक्रिया कार्य शशि यादव ,लिपिक के द्वारा किया जाता है फलस्वरूप यह उपरोक्त अनियमितता के लिए पूर्ण दोषी पाए गए।
वहीं एक अन्य प्ररकरण में अनियमितता को लेकर अनिल कुमार सिंह, लिपिक अनुमंडल अस्पताल बगहा को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए इनका निलंबित मुख्यालय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सिकटा निर्धारित किया जाता है निलंबित मुख्यालय से अनुपस्थिति विवरणी प्राप्त होने पर निलंबन भत्ता भुगतान किया जाएगा उक्त प्रमाणित आरोप पर अलग से दंड आरोपित आधी रोपित किया जाएगा ।उक्त बातों की जानकारी देते हुए सिविल सर्जन डॉ अरुण कुमार सिन्हा ने बताया कि कार्यालय के द्वारा निलंबित लिपिक अनुमंडल अस्पताल बगहा के ऊपर पत्र “क” में गठित आरोप का संचालन पदाधिकारी डॉ त्रियुगी नारायण प्रसाद ,उपाधीक्षक सह सहायक अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी के द्वारा जांच प्रतिवेदन समर्पित किया गया जिसमें कई आरोप सत्य पाए गए। आगे श्री सिन्हा ने बताया कि विपत्र संख्या 840 के माध्यम से निम्नांकित दावा बाजार से खरीदा गया सही ढंग से स्टॉक पंजी में अंकित नहीं किया गया। Cefriaxone 200 vial फरवरी 2018 को खरीदारी की गई परंतु इसे स्टॉक पंजी में खरीदारी के पूर्वी जनवरी 18 को तिथि अंकित कर दिया गया। इतना ही नहीं gloves फरवरी 18 को खरीदारी की गई है परंतु इसे स्टॉक पंजी में जनवरी 2020 अंकित किया गया है। आगे उन्होंने बताया कि savlon फरवरी 18 को खरीदारी की गई परंतु इसे स्टॉक पंजी में अप्रैल 2018 तिथि अंकित किया गया। katmin inj. जितनी मात्रा में खरीदारी की गई उसे स्टॉक पंजी में अंकित नहीं किया गया है मई 18 को बाद जितनी दवाएं खर्च की गई उस पर किसी भी पदाधिकारी के हस्ताक्षर सत्यापित नहीं किया गया है इतना ही नहीं दवा, सामग्री के भंडारण का कार्यभार श्री सिंह के द्वारा किया जाता है फलस्वरूप यह उपरोक्त अनियमितता के लिए पूर्ण पूर्ण दोषी पाए गए।

About the author

Aditya Prakash Srivastva

Leave a Comment