उत्तर प्रदेश कुशीनगर राज्य

कुशीनगर :: रिटायर नेत्र चिकित्सक के बकाया भुगतान को लेकर सीएमओ कार्यालय का भाजपा नेत्री ने किया घेराव, समाचार संकलन के दौरान पत्रकार से डाक्टर ने किया बदसलूकी

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

आदित्य प्रकाश श्रीवास्तव, कुशीनगर केसरी/केके न्यूज24, पडरौना, कुशीनगर(१४ सितंंबर)। नेत्र चिकित्सक के रिटायर होने के बाद बकाया मानदेय को सीएमओ ऑफिस के बाबु द्वारा भुगतान में हीला हवाली करने के अलावा मोटी रकम मांग किए जाने से नाराज रिटायर चिकित्सक के द्वारा सीएम योगी को भेजे गए पत्र को संज्ञान में लेकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा चिकित्सक के भुगतान के आदेश आने पर भी बाबु द्वारा लापरवाही बरतने पर सोमवार को सीएमओ कार्यालय का भाजपा नेत्री चंद्रभा पांडेय द्वारा प्रदर्शन गया। इस दौरान काफी समय तक अफरा-तफरी का माहौल कायम रहा। उधर मामले को आगे बढ़ता देख खुद सीएमओ के आश्वासन पर प्रदर्शन समाप्त हुआ।

बता दें कि जिला अस्पताल में पूर्व में नेत्र विभाग में तैनात लक्ष्मण प्रसाद ओझा के रिटायर होने के बाद अपने बकाए भुगतान को लेकर सीएमओ कार्यालय के बाबू को पत्र सौंप मांग किए थे। श्री ओझा का आरोप है कि सीएमओ कार्यालय के बाबु कई माह तक भुगतान देने के मामले में हीला हवाली करते रहे। जबकि भुगतान के एवज में मोटी रकम की भी डिमांड किए थे। इस सिलसिले में रिटायर चिकित्सक श्री ओझा के पत्र को लेकर सोमवार को सीएमओ कार्यालय पहुंची भाजपा नेत्री चंद्रप्रभा पांडेय ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी के कार्यालय का घेराव कर दिया। घेराव की सूचना पर मौके पर पहुंचे सीएमओ के आश्वासन पर घेराव समाप्त हो गया। बताया जाता है कि सीएमओ के मौखिक आश्वासन पर प्रदर्शन समाप्त करने के साथ भाजपा नेत्री चंद्रभा पांडेय द्वारा कार्यालय के ही बाबु से लिखित रूप से भुगतान किए जाने की मांग के दौरान मौके पर मौजूद पत्रकार द्वारा समाचार संकलन करने को लेकर यहां मौजूद कोविड-19 प्रभारी द्वारा मना करते हुए उक्त पत्रकार के हाथ से मोबाइल छीनने से मामला और आगे बढ़ गया। ऐसे में यहां मौजूद चिकित्सक और पत्रकार के बीच तीखी नोकझोंक होने की भी खबर है। हालांकि समाचार संकलन कर रहे पत्रकार अजीत उर्फ भोलू का आरोप है कि समाचार संकलन करने के दौरान यहां मौजूद चिकित्सक ने मेरे साथ बदसलूकी किया। कोविड-19 प्रभारी को पत्रकार को समाचार संकलन करने से रोकने का अधिकार किसनेे दिया ? यह एक बहुत बड़ा सवाल है। भाजपा के शासन में भाजपा के महिला मोर्चा के जिलाध्यक्ष की बात को सीएमओ नेे दरकिनार कर भागना शुरू कर दिया।

About the author

Aditya Prakash Srivastva

Leave a Comment