पश्चिमी चम्पारण बिहार बेतिया राज्य

बगहा(प.चं.) :: नैतिक जागरण मंच वेलफेयर ट्रस्ट ने देवशिल्पी विश्वकर्मा पूजनोत्सव के पूर्व 4 दर्जन से ज्यादा किया पौधों का वितरण

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विजय कुमार शर्मा, कुशीनगर केसरी/केके न्यूज24, बिहार(१६ सितंबर)। चंपारण को चंपारण्य बनाने व धार्मिक स्थलों को पुष्पी एवं फलदार पौधों से सजाने की अनोखा पहल करते हुए नैतिक जागरण मंच ने देवशिल्पी विश्वकर्मा पूजनोत्सव के पूर्व 4 दर्जन से ज्यादा पौधे बांटे।इन बांटे गए पौधों में ज्यादातर फलदार आम व अमरूद हरठ ,इमारती पौधों में सागौन,महोगनी व मलेशियन साखु तथा पुष्पी मे चंपा, गंधराज एवं अड़उल पौधों की संख्या ज्यादा रहे। कार्यक्रम का आयोजन मंच के प्रधान कार्यालय सन्फलावर चिल्ड्रेन्स एकेडमी पठखौली बगहा -2 में निर्धारित समय 2:00 बजे शुरू हुआ। मुख्य अतिथि के रुप में पहुंचे बगहा के पीएसपी धर्मेंद्र कुमार झा को गंधराज पुष्प का पौधा देकर सम्मानित किया गया। पुष्प भतत्पश्चात मंच के अध्यक्ष श्री अरुण कुमार सिंह और सलाहकार श्री हृदयानंद दुबे को यथार्थ गीता की पुस्तकें भेंट कर सम्मानित किए गया।
पौधावितरण का कार्यक्रम शुरू करते हुए करोना योद्धा के रूप में डॉ रणधीर सिंह को चंपा और गंधराज ,मंच के समन्वयक श्री आनंद कुमार सिंह को चीनी अमरूद और सतसाल व हरठ का पौधा मंच के कोषाध्यक्ष श्री नंदलाल प्रसाद को मलेशियन साखु और अमरुद, मंच के राकेश कुमार सोनी को अड़हुल का फूल मीडिया प्रभारी आर .के .पाठक को अमरूद तथा श्री सुभाष यादव उर्फ सोधन यादव ,प्रमोद यादव व दुर्गेश कुमार को अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया गया।
इसके पश्चात मंच के सचिव निप्पू कुमार पाठक ने उपस्थित सभी लोगों को संबोधित करते हुए वृक्ष संरक्षण कर चंपारण को चंपारण्य बनाने में सहयोग के लिए आवाहन किया। उसके बाद द्वितीय चरण के चंपा वितरण में श्री राजन कुमार फरसहनी को अमरूद और साखु के पौधे , मंच के संबंधित श्री उमा शंकर प्रसाद जी को महोगनी और सागवान के पौधे द्विजेंद्रनाथ पाठक को डंका आम व सागौन दिया गया।इसी प्रकार पत्रकार जय श्री विजय शर्मा जी को अमरुद व पत्रकार श्री जयप्रकाश मिश्र को गंधराज प्रदान किया गया।साथ ही साथ मं के उपाध्यक्ष श्री अरविंद कुमार सिंह व श्री दयाशंकर साह न अधिवक्ता कमलेश कुमार शर्मा को सतसाल आंवला व सागौन स के पौधे प्रदान किए गए। अंत में मंच के अध्यक्ष श्री अरुण कुमार सिंह के धन्यवाद ज्ञापन के पश्चात कार्यक्रम का समापन हुआ।

About the author

Aditya Prakash Srivastva

Leave a Comment