पश्चिमी चम्पारण बगहा बिहार राजनीति राज्य

बगहा(प.चं.) :: सवर्णों के लिए उम्र सीमा में छूट देने के लिए रखी मांग, लिखित पत्र के माध्यम से राज्यसभा सभापति के समक्ष उठाया मुद्दा

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विजय कुमार शर्मा, कुशीनगर केसरी/केके न्यूज24, बिहार(२३ सितंबर)। बगहा राज्यसभा सांसद सतीशचंद्र दुबे ने सवर्णों के लिए उम्र सीमा की छूट देने के ऊपर राज्यसभा सभापति को एक लिखित आवेदन देकर सवर्णों की मुद्दा को उठाने के लिए एक लिखित आवेदन दिया है।

राज्यसभा सांसद के आवेदन देने के बाद राज्यसभा के सभापति ने उस मुद्दे को उठाने की इजाजत सांसद सतीश चंद्र दुबे को दे दी।जिस पर उन्होंने सभापति का आभार व्यक्त किया।सवर्णों के लिए मुद्दे को उठाते हुए सदन में सांसद सतीश चंद्र दुबे ने सभापति से कहा कि वर्ष 2019 में माननीय प्रधानमंत्री के द्वारा सवर्णों को ईडब्ल्यूएस कोटे के तहत 10% आरक्षण देने का वादा किया था लेकिन इस कोटे के तहत आने वाले अभ्यर्थियों के लिए उम्र सीमा की छूट का प्रावधान नहीं है जबकि अन्य वर्ग के लोगों के लिए यह छूट मिल रहा है।सांसद ने सदन में आगे बताते हुए कहा कि नौकरियों में आरक्षण के आधार पर जिन्हें उम्र की छूट है।उसमें एस सी एस टी को 5 साल की और ओबीसी को 3 साल की छूट है।इसके तहत सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए अधिकतम उम्र की सीमा जहां 32 साल की है वहीं अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए 35 वर्ष और अनुसूचित जाति और जनजाति के लिए 37 वर्ष का है। उन्होंने सरकार से मांग की कि ईडब्ल्यूएस में आने वाले परीक्षार्थियों को लगने वाले आवेदन शुल्क में भी रियायत दी जाए ताकि सवर्णों में भी अधिक रूप से कमजोर छात्र आगे बढ़े।

About the author

Aditya Prakash Srivastva