पश्चिमी चम्पारण बगहा बिहार राज्य

बगहा(प.चं.) :: मूसलाधार बारिस के कारण जलस्तर बढ़ने से बगहा में बाढ़, सभी नदिया उफान पर

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विजय कुमार शर्मा, कुशीनगर केसरी/केके न्यूज24, बिहार(२६ सितंबर)। बाल्मीकिनगर गण्डक बैराज से छोड़ा गया पानी से गंडक ने उग्र रूप धारण कर लिया है।

बगहा अनुमंडल अंतर्गत प्रखंड बगहा एक और बगहा दो जो गंडक नदी के तट पर बसा हुआ है यूं कहें तो लगभग संपूर्ण बगहा अनुमंडल गंडक नदी के किनारे बसा हुआ है गंडक नदी में जलस्तर बढ़ जाने और उफान पर आने जाने से बगहा का अस्तित्व खतरे में नजर आ रहा है नदी के तट पर बसे हुए ग्रामीणों की स्थिति देखने लायक है जिनके हाथ सीने पर हैं कब नदी के आगोश में चला जाए उनका आशियाना नदी के उग्र रूप को देखकर नदी के किनारे बसने वाले लोग भयभीत नजर आ रहे हैं सबका मन अक्रांत होकर रह गया है यहां तक की नदी के जलस्तर बढ़ने से नदी में लहरों का उफान बहुत ऊंचाई तक उठ रहा है और नदी के किनारों से टकरा रहा है जिससे संभव है की नदी के तटवर्ती गांव पर खतरा साथ ही साथ धारा प्रवाह में विलीन हो सकता है दियारावर्ती पंचायत बलुआ ठोरी के कई गांव जैसे कठहवा सिसई निबियहवा मदरहवा वीरता टाडीटोला आदि का गांव। गंडक नदी के उफान को देखते हुए प्रशासन अपनी चौकसी पर है और साथ ही साथ ग्रामीणों की नजरें लगी हुई हैं किनारे पर टकटकी लगाए देख रहे हैं नदी की लहरों की उफान को जो न जाने कब आपने आगोश में ले सकता है वही प्रखण्ड बगहा एक के सिसबा बसंतपुर में बाढ़ की चपेट में आने से पूरा गांव पानी मे डूबा हुवा है जहां प्रत्येक घर मे दो फिट पानी भर गया है।

About the author

Aditya Prakash Srivastva