उत्तर प्रदेश कुशीनगर क्राइम राज्य

कुशीनगर :: नकली जेके वालपुट्टी स्टेशन रोड पर जिले के डिस्ट्रीब्यूटर ने धर दबोचा, घंटों मशक्कत के बाद पहुंचे असिस्टेंट कमिश्नर जीएसटी, कब्जे में लिए ट्रैक्टर सहित नकली वालपुट्टी

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

आदित्य प्रकाश श्रीवास्तव, कुशीनगर केेेसरी/केके न्यूज24, कुशीनगर(१२ अक्टूबर)। दीपावली के आगमन पर जनपद में जेके ह्वाइट सिमेन्ट की वालपुट्टी का डुब्लीकेट माल आना शुरू हो गया है। इसका खुलासा तब हुआ जब लगभग तीन लाख का अवैध जेके वालपुट्टी स्टेशन रोड पर जिले के डिस्ट्रीब्यूटर ने धर दबोचा और पकड़े गये माल की जानकारी अधिकारियों को दी गई। सूचना पर सेल टेक्स व अन्य अधिकारी घंटो मसक्कत के बाद मौके पर पहुंचे।

बता दें कि कुशीनगर जनपद के पडरौना में जेके वालपुट्टी का डुब्लिकेट पुट्टी पकड़ा गया है। इस दौरान जेके वालपुट्टी के कुशीनगर जनपद के डीलर सतीश खेतान ने बताया कि मुझे शक हुआ कि यह डुब्लीकेट है तो रोक कर देखा तो 150 बोरी पुट्टी थी जिसकी कीमत लगभग150 लाख रुपये है। जब ड्राइवर से इसका बिल हमने मांगा तो मात्र 60 बोरी का हीं बिल है मगर पूरा माल ट्राली में 150 बोरी बरामद है जो पडरौना में महाकाल ट्रेडर्स दरबार रोड पडरौना के नाम से था। यह वाल पुट्टी विशाल पेन्ट्स तमकुही रोड़ से आया है।जेके ह्वाइट सीमेंट की ओरिजनल जेके वालपुट्टी की एक बोरी कीमत 800 रुपये है। वहीं पकड़े गये माल की जानकारी अधिकारियों को दी गई लेकिन सूचना पर भी सेल टेक्स व अन्य कोई अधिकारी घंटो तक मौके पर नहीं पहुंचा। घंटों बाद मौके पर पहुंचे जेके वालपुट्टी के मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव प्रभाकर पाण्डेय ने वाल पुट्टी की बोरियों की जांच करने के बाद बताया कि यह माल हमारे जेके व्हाइट सीमेंट के वालपुट्टी का नहीं है डुब्लीकेट है जो कि हमारे कंपनी को बदनाम करने के नियत से मार्केट में उतारा गया है। हमने ऊपर कंपनी को रिपोर्ट कर दिया है और कंपनी के दिशानिर्देशों के अनुसार इसके विरुद्ध उचित कार्यवाही की जाएगी।
वहीं जेके वालपुट्टी के कुशीनगर जनपद के डीलर सतीश खेतान ने बताया कि यह पुरी तरह से अवैध है क्योंकि लगभग 6० बोरियों को छोड़कर किसी भी बोरी पर कम्पनी द्वारा लगाया गया बार कोडिंग नहीं है। वहीं घंटों बाद मौके पर पहुंचे असिस्टेंट कमिश्नर जीएसटी रविन्द्र कुमार शुक्ला ने बताया कि इस अवैध वालपुट्टी सूचना मुझे मिली है मैं पहुंच कर माल को अपने कब्जे में ले लिया है और अवैध कारोबारियों के खिलाफ निगरानी बढ़ा कर उचित कार्यवाही की जाएगी।

About the author

Aditya Prakash Srivastva