उत्तर प्रदेश राजनीति राज्य सोनभद्र

सोनभद्र :: महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी राम मनोहर लोहिया की मनाई गयी पुण्यतिथि

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अवधेश शुक्ला, कुशीनगर केसरी/केके न्यूज24, सोनभद्र(११अक्टूबर)। दुद्धी डीसीएफ कॉलोनी के सपा कार्यालय पर महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी डॉ राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि मनाई गई। जिसकी अध्यक्षता विधानसभा अध्यक्ष जुबेर आलम ने की तथा डॉक्टर राम मनोहर लोहिया की जीवनी के बारे में तथा उनकी आत्मकथाओं के बारे में लोगों को बताया।

जुबेर आलम ने बताया कि राम मनोहर लोहिया का जन्म 23 मार्च 1910 को फैजाबाद बाद जिले के अकबरपुर गांव में मारवाड़ी परिवार में हुआ उनके पिताजी के नाम हीरालाल था वह बचपन से ही कई आंदोलनों में भाग लिए वह काफी राष्ट्रीय चिंतक व दूरदृष्टआ व्यक्ति थे वह स्वभाव से निडर व फक्कड़ भी थे वह अपने विरोधियों से भी मित्रता पुण व्यवहार करते थे तथा उन्होंने जर्मनी के बर्लिन से पीएचडी की तथा भारत में भी कोलकाता विश्वविद्यालय से ग्रेजुएट बनारस से बारहवीं तक मुंबई से दसवीं की शिक्षा भी ली तथा वापस आकर कई नौकरियों को ठुकरा कर उन्होंने राजनीति मैं अपना रुचि दिखाया तथा राष्ट्र के लिए कई आंदोलनों में भी सम्मिलित हुए तथा जेल भी गए वह राष्ट्रीय चिंतक तथा स्वतंत्रता सेनानी भी थे वह समाजवादी विचारक थे और अपने वाक्य में वह हमेशा बोला करते थे “लोग मेरी बात सुनेंगे जरूर लेकिन मेरे मरने के बाद सुनेंगे।जरूर “आज डॉ राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि के अवसर पर कई छात्र नेताओं ने माननीय अखिलेश यादव तथा पूर्व मंत्री विजय सिंह गौड़ पर विश्वास जताते हुए समाजवादी पार्टी ज्वाइन हर्ष पूर्वक किए। डॉ राम मनोहर लोहिया के पुण्यतिथि पर उपस्थित विधानसभा महासचिव हरिहर प्रसाद यादव, कलामुद्दीन सिद्धकी, प्रेमचंद यादव ब्लॉक अध्यक्ष म्योरपुर, अवध नारायण यादव , ब्लॉक अध्यक्ष दुद्धी सूर्यमणि यादव, बुंदेल चौबे, गौस मोहम्मद, दिनेश यादव यू जनसभा अध्यक्ष विधानसभा , प्रेम सागर पांडे, बाबई मरकाम, अभिनव उर्फ बिट्टू ,अजय यादव रामनरेश कुशवाहा, रामचंद्र सिंह गौड़ , बेचू सिंह, राम निहोर , संजय यादव , चनवा देवी , वीरेंद्र यादव तथा छात्र नेता अजय यादव के नेतृत्व मे समाजवादी पार्टी मे तमाम छात्र नेता उपस्थित रहे छात्रों के ज्वाइन करने पर छात्र नेता अजय यादव ने सभी को बधाई दिए।

About the author

Aditya Prakash Srivastva