पश्चिमी चम्पारण बगहा बिहार राज्य

बगहा(प.चं.) :: गोरखपुर एनवायरमेंटल ग्रुप द्वारा महिला किसान दिवस का किया गया आयोजन

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विजय कुमार शर्मा, कुशीनगर केसरी/केके न्यूज24, बिहार(१६ अक्टूबर)। गोरखपुर इन्वायरमेंट एक्शन ग्रुप ने 15 अक्टूबर को राजेन्द्र प्रसाद केन्दीय कृषि विश्वविद्यालय से सम्बद्ध कृषि विज्ञान केन्द्र नरकटियागंज के सहयोग से लक्ष्मीपुर रमपुरवा ग्राम पंचायत के झंडुआ टोला में महिला किसान दिवस का आयोजन किया। इस कार्यक्रम में महिला किसानों ने अपने अनुभव साझा किए तो कृषि विज्ञान केन्द्र के प्रभारी डा. आरपी सिंह ने उन्हें गन्ना, धान, सब्जी आदि की खेती के बारे में उपयोगी जानकारी दी।
डा. आरपी सिंह ने कहा कि कृषि विज्ञान केन्द्र महिला किसानों को सशक्त करने का कार्य कर रहा है। इसीलिए केन्द्र पर महिला वैज्ञानिकों की नियुक्ति की जा रही है। उन्होंने कहा कि महिला किसानों को सशक्त किए बिना खेती को मजबूत नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि किसान गन्ने की फसल के साथ-साथ प्याज, मूली, पत्ता गोभी, फूल गोभी, धनिया, आलू, मंूगफली आदि की भी खेती करें तो उन्हें ज्यादा फायदा मिल सकता है। डा. सिंह ने किसानों को सुझाव देते हुए कहा कि किसान समूह बना लें और अपनी उपज को समूह के माध्यम से नजदीकी बाजार में पहुंचाए तो उन्हें अपनी उपज का अधिक दाम मिल सकेगा। उन्होंने किसानों से किसी भी प्रकार की दिक्कत होने पर कृषि विज्ञान केन्द्र से सम्पर्क करने को कहा। उनके साथ आए गन्ना विशेषज्ञ डा आरके सिंह और डा, रवीन्द्र ने गन्ना की खेती और उसमें लगने वाले रोग व उसके निदान के बारे में जानकारी दी।
कार्यक्रम में लक्ष्मीपूर टोले की महिला किसान भागवंती देवी ने सूरन और मशरूम की खेती के अनुभव को साझा किया और कहा कि इससे उनकी आमदनी बढ़ी है। झंडुआ टोले की संगीता ने मटका खाद बनाने के तरीके बताए और कहा कि इससे हानिकारक कीटों को मारने में मदद तो मिलती ही है, आवारा मवेशी भी इसकी गंध से खेत चरने नहीं आते है।
कार्यक्रम के प्रारम्भ में गोरखपुर इन्वायरमेंटल एक्शन ग्रुप के प्रोजेक्ट कोआर्डिनेटर रवि प्रकाश मिश्र ने कहा कि खेती में महिलाएं प्रमुख भूमिका निभाती हैं लेकिन उनकी पहचान बतौर किसान नहीं बन पाती हैं। महिला किसान खेती में बदलाव को जल्दी अपनाती हैं और साथी महिलाओं को भी प्रेरित करती हैं। उन्होंने बताया कि बाढ़ और कटान से नुकसान को कम करने और बाढ़ की पूर्व सूचना के लिए महिला और पुरूष किसानों के चार टास्क फोर्स बनाए गए हैं। इस टास्क फोर्स ने हाल में आयी बाढ़ मंे अच्छा काम किया है। श्री मिश्र ने बताया कि गोरखपुर इन्वायरमेंट एक्शन लूथरन वल्र्ड रिलीफ के सहयोग से पश्चिम चम्पारण जिले के बाढ प्रभावित गांवों में अन्तर सीमा बाढ़ उत्थनशील परियोजना संचालित कर रही है।
कार्यक्रम का संचालन सत्येन्द्र कुमार त्रिपाठी ने किया। कार्यक्रम में बेगू राम, राजू राम, बीडीसी गुलाब अंसारी, दीनदयला, बिंदेशरी निषाद, संगीता देवी, रीता, चंदा, आशा, अंजलि, सरस्वती, रमावती, पूनम, कोलिया देवी, महंत राम, सूखल राम, नसरूल्लाह अंसारी, रामलोचन भगत, क्षेत्रीय पर्यवेक्षक शिव प्रकाश यादव, जय प्रकाश यादव आदि उपस्थित रहेे।

About the author

Aditya Prakash Srivastva

Leave a Comment