पश्चिमी चम्पारण बिहार बेतिया राजनीति राज्य

बेतिया(प.चं.) :: शिक्षकों को राज्यकर्मी का दर्जा व अन्य सुविधाएं दिलाना एक मात्र लक्ष्य : डॉ. चन्द्रमा

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विजय कुमार शर्मा, कुशीनगर केसरी/केके न्यूज24, बिहार(18 अक्टूबर)। सारण शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र के सभी शिक्षकों के दुख दर्द में मैं सदा खड़ा रहा हूं और हमेशा रहूंगा । जो सुविधाएं अभी तक के नेतृत्व ने दिलाना तो दूर साफ साफ कहा भी नहीं वो सारी सुविधाएं दिलाना मेरी प्राथमिकता होगी और मदरसा से लेकर संस्कृत विद्यालयों की लंबित समस्याओं , नियोजित शब्द से लेकर अतिथि शब्द तक मे व्याप्त अमर्यादित भाव , सेवा शर्त की विसंगतियों को सबसे पहले समाप्त करूँगा। उक्त बातें पूर्व विधान पार्षद डॉ. चन्द्रमा सिंह ने कही । वे स्थानीय होटल के सभागार में चुनाव के मद्देनजर अपने सभी समर्थकों को संबोधित कर रहे थे। सभा की अध्यक्षता प्राचार्य नंद किशोर मिश्रा ने की जबकि सफल संचालन कवि साहिय्यकार मुकुंद मुरारी राम ने किया।
स्वागत उद्बोधन करते हुए प्रधानाध्यापक सरोज कुमार सिंह ने कहा कि परिवर्तन के सबसे मजबूत स्तम्भ डॉ चंद्रमा बाबू हैं और वर्षों के छल छलावा से अगर निजात पाना है तो हम सबको इसी 22 तारीख को होनेवाले चुनाव में सिर्फ चन्द्रमा सिंह को अपना मत देकर रिकॉर्ड मतों से विजयी बनाना होगा। मतीसरा स्कूल परिवार के प्रतिनिधि राजन चैरसिया ने कहा कि पार्टी और जाति को बीच में लाना हमारे लिए खतरा है इसलिए बदलाव के तूफान में डॉ चन्द्रमा बाबू का कोई विकल्प नहीं , अपना मत दूसरों में जाया करना कतई समझदारी और होशियारी नहीं। चुनाव प्रभारी , मीडिया प्रभारी सह प्रत्याशी प्रवक्ता मुकुंद मुरारी राम ने कहा कि , ष्अब क्या आंधी देखता है , कैसा तूफान देखता है , चन्द्रमा धरती पर उतर आया है , अब क्या आसमान देखता है। इस जिले के सभी नियोजित शिक्षकों ने संकल्प लिया है कि इस बार चन्द्रमा की पुकार और वर्षों तक छल करने वाले से आरपार। डॉ. सुमन सिंह ने कहा कि केरला के तर्ज पर हमें परिवर्त्तन करना चाहिए अन्यथा ऐसी गुलामी से निजात नही मिलेगी , चन्द्रमा सिंह एक आदर्श शिक्षक के साथ साथ वो व्यक्तित्व हैं जिनका डंका सारण शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र में बज रहा है यह हमारी आवाज है। जनाब समीर अहमद ने कहा कि शिक्षक निर्माता होते हैं और उन्हें पार्टी जाति की बात नहीं सोचनी चाहिए , सिर्फ अपना मजबूत प्रतिनिधि चुनना चाहिए नो उनको उनका अधिकार दिला सके और संघर्ष से पीछे नहीं हटे और यह गुण चन्द्रमा बाबू में है इसका हम सभी को समर्थन करना है और इन्हें जीताना है। डॉ. चन्द्रमा सिंह ने अपने घोषणा पत्र में राज्यकर्मी के दर्जा से लेकर ,पुराना वेतनमान , सेवा शर्त की विसंगतियां , अतिथि , संस्कृत और मदरसा शिक्षकों को सारी सुविधाएँ दिया है जिसका समर्थन और सम्मान सभा मे उपस्थित सैकडों शिक्षक मतदाताओं ने किया।
सभा को रामाधार प्रसाद, राजेश जायसवाल, प्रो.असलम, ओमप्रकाश शास्त्री, उमेश यादव , अशोक कुमार , अनिल कुमार , अरविंद तिवारी रिंटू बाबू , प्रो.कौशलेंद्र , अभिनव पाराशर आदि ने संबोधित किया। मौके पर प्रधानाध्यापक बेलसंडी मनीष कुमार, मधुरेन्द्र सिंह, अभय रंजन , मनीष तिवारी , राजेश तिवारी , प्रभु बैठा, असरफ अली , सुमन आर्य, डॉ. प्रवेश पासवान, अमित मिश्रा , लालितेश्वर प्रसाद , ओमप्रकाश श्रीवास्तव सहित सैकडों शिक्षक उपस्थित रहे और सभी ने चन्द्रमा बाबू के जीत की हुंकार भरी ।

About the author

Aditya Prakash Srivastva

Leave a Comment