चुनाव पश्चिमी चम्पारण बगहा बिहार राज्य

बगहा(प.चं.) :: लोकतंत्र के महापर्व में लोगों में दिखा उत्साह, वृद्ध और दिव्यांगों ने भी ठेले पर बैठ उत्साह के साथ डाले वोट

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विजय कुमार शर्मा, कुशीनगर केसरी/केके न्यूज24, बिहार(०७ नवंबर)। बगहा अनुमंडल के अंतर्गत बगहा विधानसभा 04 वाल्मीकि नगर 01 लोकसभा उपचुनाव के लिए एक साथ लोगों ने उत्साह के साथ लोकतंत्र के महापर्व में वोट डालें गए। साथ ही रामनगर, भीताहा ,मधुबनी, बाल्मीकि नगर आदि क्षेत्रों में शांतिपूर्ण तरीके से मतदान हुए। वही बगहा विधानसभा 04 के लिए सुबह 9 बजे तक लगभग 9 से 12 प्रतिशत मतदान ही बगहा 1 और 2 में डाले गए थे। वही शाम होते-होते मतदान की संख्या बड़ी।

प्रशासन के द्वारा भी लोकतंत्र के इस महापर्व को आकर्षित बनाने के लिए बगहा प्रखंड एक में 7 मतदान केंद्र व प्रखंड दो में 7 मतदान केंद्र बनाए गए थे । जिसमें बगहा प्रखंड 1 में काफी अच्छी तैयारी लोगों को आकर्षित करने के लिए दरी टेंट आदि लगाए गए थे । मतदान कड़ी सुरक्षा के बीच केंद्रीय रिजर्व बल पुलिस की निगरानी में ली गई। मतदान देने का आलम यह था कि पुरुष ,महिला ,युवा से लेकर वृद्ध और दिव्यांग जनों ने उत्साह के साथ अपने मत का इस्तेमाल कर वोट डाला। वृद्ध जनों में विश्वनाथ शुक्ला 88 साल के, प्रखंडों में दो में मतदान किया । साथ ही मुस्लिम महिलाओं ने भी बढ़-चढ़कर रहमान नगर ,मस्तान टोला, रतन माला, डूमवलिया आदि जगहों के रहने वाले मतदाताओं ने बगहा 1 और 2 में मतदान दिया। जिसमें बगहा नगर की सभापति जरीना खातून में भी मतदान दिया वही वृद्ध महिलाओं में भी मतदान देने की उत्सुकता देखी गई जिसमें बसंती देवी 65 वर्ष की वृद्ध महिला जिनका बूथ वाल्मिकीनगर विधानसभा के क्षेत्र के राजकीय मध्य विद्यालय गोबरिया था वहां वोट देने के लिए अपने घर और अडगडना टोला रामपुरवा से लगभग 3 किलोमीटर मतदान केंद्र दूर होने के कारण पड़ोस के एक ठेले वाले बंधू सहनी ने वृद्ध महिला को मतदान केंद्र ले जाने के लिए ठेले पर बैठा कर मतदान केंद्र ले गया। बंधू सहनी ने बताया कि मैंने मतदान कर दिया है लेकिन जब मुझे देखा कि वृद्ध महिला ने मतदान केंद्र जानेे में असमर्थ है उन्हें अपने ठेले पर वापस गोबरिया मतदान केंद्र पर ले जाकर वोट दिलाया तो वही दिव्यांग महिला प्रेम शिला देवी राजकीय मध्य विद्यालय रामपुर में पड़ोसी के मोटरसाइकिल पर बैठकर मतदान किया। लोकतंत्र के इस पर्व का उत्साह इतना था कि लोग दो दो ढाई ढाई घंटा कतारों में खड़े नजर आए लेकिन वापस नहीं गए और अपने मतदान अपने मतदान केंद्रों पर दिया जिनमें बगहा प्रखंड एक के बूथ संख्या 67,67 क,70 आदि के साथ प्रखंड दो में 48,48क,49 आदि के साथ, नगर के कई और केंद्र जिनमें डूमवालिया, नारायणपुर घाट, नरईपुर, पटखौली मालकौली आदि बूथों पर लोगों की भीड़ रही। सूचना मिलने तक बगहा विधानसभा 04 पर 11 बजे तक 18.14 प्रतिशत, 1 बजे तक 27.22 प्रतिशत , 3 बजे तक 46.6 प्रतिशत मतदान हुए हैं। वही बूथों पर सामाजिक दूरी नहीं दिखी उसके बावजूद भी लोगों ने मतदान किया। सूचना मिलने तक वाल्मिकीनगर विधानसभा में 11 बजे तक19.51 प्रतिशत, 1 बजे तक 25.58 प्रतिशत, 3 बजे 45.7 प्रतिशत मतदान हुए वही रामनगर विधानसभा में 11:00 बजे तक 19.47 प्रतिशत, 1 बजे तक 27.22 प्रतिशत, 3बजे तक 46 प्रतिशत मतदान हुए। कुछ मतदान केंद्रों पर ईवीएम मशीन खराब होने के कारण मतदान देरी से हुए जिससे लंबी कतारें लग गई।बगहा अनुमंडल के कुछ मतदान केंद्रों पर सुबह में इवीएम व वीवीपैट मशीन केे खराब होने के कारण कुछ मतदान केंद्रों में मतदान देरी से हुए। जिनमें प्रखंड बगहा एक में बूथ संख्या 70 पर कुछ देर मतदान प्रभावित रहा । वही बाल्मीकि नगर विधानसभाा क्षेत्र राजकीय मध्य विद्यालय गोबरिया के 2 मतदान केंद्र 141 ,141 को 2 से ढाई घंटे बंद रहा। जिसके कारण कई लोग वापस चले गए तो वही लोगों की लंबी लाइन भी देखने को मिली। पीठासीन अधिकारी बलराम बैठा 141 बूथ के बारे में उन्होंने बताया कि ईवीएम में इनवेलिड दिखा हो रहा था जिसके कारण मतदान मेंं देरी हुई। इसे ठीक कराने के लिए तकनीकी टीम को खबर करने के लिए पीसीसीपी पदाधिकारी को सूचना दिया गया उसके बाद मशीन को बदला गया। वहीं 141 क पर भी ईवीएम और वीवीपैट एरर दिखा रहा था जिसके कारण मतदान देने में देरी हुई। वहीं दूसरी ओर चखनी मिशन स्कूल में भी ईवीएम खराब होने के कारण डेढ़ से 2 घंटे तक मतदान बाधित रहा। वही मंगलपुर में 142क में 15 से 20 मिनट तक मतदान कर्मी के गलती के कारण ईवीएम के जगह वीवीपैट पर बटन दबाने के कारण वीवीपैट मशीन खराब हो गई। जिसे बदलने 15 से 20 मिनट मतदान प्रभावित रहा। वही मतदान का प्रतिशत 3बजे तक बगहा विधानसभा में 46.6 प्रतिशत, बाल्मीकि नगर विधानसभा में 45.7 प्रतिशत मत डाले गए। वही एक 84 वर्ष वृद्ध महिला चांदगुदी देवी राजकीय मध्य विद्यालय मंगलपुर में चार से पांच बार जाने के बाद भी मतदाता सूची मेंं नाम नहीं मिला। निराश होकर वापस अपने घर को गई। वही लोगों इन सभी परेशानियों के बावजूद लोगों ने उत्साह के साथ मतदान किया।

About the author

Aditya Prakash Srivastva