क्राइम पश्चिमी चम्पारण बगहा बिहार राज्य

बगहा(प.चं.) :: दो पक्षों के बीच हुई मारपीट में एक की इलाज के दौरान हुई मौत

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विजय कुमार शर्मा, कुशीनगर केसरी/केके न्यूज24, बिहार(०८ नवंबर)। बगहा पुलिस जिला के बगहा थाना क्षेत्र अंतर्गत गिरिजी डुमरिया में हुई दो पक्षों के बीच 2 नवम्बर को हुई मार पीट में एक कि मौत हो चुकी है व अन्य परिवार के सदस्य बेतिया जिला अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रहे है।

ग्रामीणों ने बताया कि दोनो पट्टीदार मामूली सी बात को लेकर आपस मे भीड़ गये जिसमें एक कि 7 नवम्बर को इलाज के दौरान मौत हो गई है। परिजनों ने 7 नवम्बर को भी एक लिखित आवेदन बगहा नगर थाना को सुपुर्द किया है। शव को पोस्टमार्टम करने के उपरांत 8 नवम्बर को रीतिरिवाज के साथ अंतिम संस्कार किया जा रहा है। ग्रामीणों में काफी आक्रोश व्यक्त है जबकि घटना के बाद अभी तक बगहा नगर थाना की पुलिस घटनास्थल पर नही पहुची है। लिखित आवेदन में बताया गया है कि दो नवम्बर की सुबह करीब 6:30 बजे बच्चो द्वारा मिट्टी ढुलाई को लेकर विबाद शुरू हुई जिसमे रामकिशुन यादव, बंधु यादव, उमेश यादव, तारकेश्वर यादव, गाड़ा यादव उर्फ राजा यादव, निशु यादव, कुंदन यादव, अवध बिहारी यादव, तारा देवी पति उमेश यादव सभी साकिन डुमरिया वार्ड नं0 6 के निवासी है जिन्होंने मिल कर लाठी डंडों तथा हरबा हथियार से लैस होकर गाली गलौज देते हुए, घर मे प्रवेश कर हम लोगो से बुरी तरह जानलेवा हमला कर मारपीट करने लगे। तथा पत्नी के गले से मंगलसूत्र 25000 रुपए लेकर मेरे भतीजा सूरज यादव को बिहारी यादव ने लाठी से सिर पर मारकर चोटिल कर दिया। तथा मेरे भाई रकेश यादव को बंधु यादव ने लाठी से मार कर दाहिने बांह के कलाई पर चोटिल कर दिया तथा मेरी मां कलावती देवी को रामकिशुन यादव ने ही लाठी से मार कर उनके सिर पर जख्मी कर दिया तथा मेरे पिता महावीर यादव को गाढ़ा यादव उर्फ राजा यादव ने लाठी से पीट-पीटकर अधमरा कर दिया जिनका इलाज जिला अस्पताल बेतिया में कराया गया लेकिन नाजुक स्थिति को देखते हुए बेतिया से पटना रेफर किया गया। इलाज को लेकर पटना जा रहे थे की रास्ते में ही पिता महावीर यादव की मृत्यु हो गई। जिनके अंतिम संस्कार किया जा रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि प्रशासन के द्वारा अभी तक घटना स्थल पर पुलिस प्रसाशन द्वारा कोई कर्यवाही नही किया गया है। आज एक सप्ताह से अधिक हो गया प्रशाशन पर अस्थानिय लोगो द्वारा आरोप लगाया गया है।

About the author

Aditya Prakash Srivastva