उत्तर प्रदेश मिर्जापुर राज्य

मिर्जापुर :: प्रशिक्षित कृषि उद्यमी स्वावलम्बन एग्री जंक्शन योजना वर्ष 2020-21 में होगी क्रियान्वित : उप कृषि निदेशक

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अन्नपूर्णा श्रीवास्तव, कुशीनगर केसरी, मिर्जापुर(२४ फरवरी)। किसानों के हितार्थ कृषि में प्रशिक्षित युवाओं की सेवाओं का उपयोग करने के उद्देश्य से प्रशिक्षित कृषि उद्यमी स्वावलम्बन एग्री जंक्शन योजना वर्ष 2020-21 में क्रियान्वित की जानी है।

बता दें कि जनपद मीरजापुर के प्रत्येक विकास खण्ड में एक-एक शाप स्थापित किये जायेगें। इन केन्द्रो पर मृदा परीक्षण सुविधा, उर्वरक उपयोग की संस्तुतियां, उच्चगुणवत्ता के बीज, उर्वरक, जैव उर्वरक, माईक्रोन्यूट्रिएन्स, वर्मी कम्पोस्ट, कीटनाशक तथा जैव कीटनाशकों एवं लघु कृषि यंत्रों को किराये पर उपलब्धता की व्यवस्था और प्रसार सेवायें देना प्रस्तावित है। इसके अतिरिक्त कृषि उपकरणों की मरम्मत, अनुरक्षण, पशु आहार, कृषि उत्पादों का विक्रय, मौसम सम्बन्धी जानकारी एवं सूचना विज्ञान नियोजन की स्थापना करायी जायेगी। इस निमित्त सरकार द्वारा कृषि प्रशिक्षित उद्यमियों को निम्न सुविधायें दी जायेंगी। इसके लिए पात्र अभ्यर्थियों से आवेदन पत्र आमंत्रित किये जाते है।
अभ्यर्थी उत्तर प्रदेश में निवास करने वाले कृषि स्नातक, कृषि व्यवसाय प्रबन्धन स्नातक, स्नातक जो कृषि एवं सहबद्ध विषयों की शैक्षिक योग्यता रखते हो को प्राथमिकता दी जायेगी। इसके अतिरिक्त अनुभव प्राप्त डिप्लोमाधारी/कृषि विषय में इण्टरमीडिएट योग्य प्रार्थी पर विचार किया जायेगा। आयु सीमा अधिकतम 40 वर्ष हो तथा पात्र अभ्यर्थियों में जिनकी जन्मतिथि पहले है उनको वरियता दी जायेगी। अनुसूचित जाति, जनजाति, महिलाओं को 05 वर्ष की छूट मिलेगी। योजना की लागत- रू0 4-00 लाख (अधिकतम् है जिसमें 3-50 लाख रूपये तक ऋण की सुविधा तथा प्रतिपूर्ति राशि रू0 0-50 लाख (योजना लागत का 12-50 प्रतिशत ऋणी आवेदक द्वारा स्वयं वहन किया जायेगा। कृषि व्यवसाय गतिविधियों के लिए बीज] खाद एवं कृषि रक्षा रसायन के लाइसेन्स प्राप्त करने में सहायता तथा लाइसेन्स फीस का व्यय सरकार द्वारा वहन किया जायेगा। इस उद्देश्य के लिए बैंकों से ऋण प्राप्त करने में सहायता तथा ब्याज में 5 प्रतिशत की दर से ब्याज ¼अधिकतम रू0 42000) का अनुदान देय होगा। यह अनुदान बैंक इण्डेड सब्सिडी के रूप में रखा जायेगा। एक वर्ष तक परिसर के किराये के 50 प्रतिशत की धनराशि जो रू0 1000/- से अधिक न हो का भुगतान सरकार द्वारा किया जायेगा।
उप कृषि निदेशक मीरजापुर ने बताया कि उपरोक्तानुसार एग्री जंक्शन केन्द्र की स्थापना हेतु इच्छुक लाभार्थी अपना आवेदन पत्र उप कृषि निदेशक, मीरजापुर कार्यालय में दिनांक 25 फरवरी 2021 सायं 4-00 बजे तक अवश्य जमा कर दें। इसके उपरान्त के आवेदन पत्र पर विचार नहीं किया जायेगा। आवेदन पत्र उप कृषि निदेशक, मीरजापुर कार्यालय से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है। आवेदन पत्र के साथ अपना फोटो सहित बायोडाटा, शैक्षिक योग्यता प्रमाण पत्र, आधार कार्ड, बैंक पासबुक, निवास प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र इत्यादि की प्रमाणित छायाप्रति संलग्न करना अनिवार्य होगा।

About the author

Aditya Prakash Srivastva