बिहार मोतिहारी राज्य

मोतिहारी : जनपद की प्रमुख खबरें

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

(५ जनवरी, शनिवार)

केतन कुमार, केके न्यूज24/कुशीनगर केसरी ढाका की रिपोर्ट

केसरिया नगर पंचायत के मुख्यपार्षद रिंकू पाठक को पकड़ ले गई सहरसा पुलिस

मोतिहारी : पूर्वी चम्पारण के केसरिया नगर पंचायत के मुख्य पार्षद रजनीश पाठक उर्फ रिंकू पाठक को सहरसा की पुलिस टीम ने गिरफ्तार लिया हे। इसके पहले कल पटना की एसटीएफ की टीम ने मुख्य पार्षद से गहन पूछताछ के बाद लौट गई थी। बाद में पुलिस ने पार्षद को हिरासत में ले लिया। पुलिस का कहना है कि सहरसा की पुलिस को रंगदारी के एक मामले में पक्के सबूत मिलने के बाद पार्षद को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस टीम अपने साथ सहरसा ले गई। जिले की पुलिस ने रिंकू पाठक की पिस्टल की अनुज्ञप्ति रद करने को भी डीएम को लिखा है।

पूछताछ के बाद पुलिस लगी अन्य सफेदपोश की तलाश में, गुरुवार को एसटीफ ने की थी पूछताछ-

मालूम हो कि केसरिया नगर पंचायत के अध्यक्ष रजनीश उर्फ रिंकू पाठक को गुरुवार को पटना एसटीएफ की टीम उनके घर पर छापेमारी कर अपने हिरासत में लेकर स्थानीय थाना लाई थी। इस दरमियान एसटीएफ की टीम थाना परिसर में घंटो पूछताछ की। स्थानीय थानध्यक्ष को सौंप बैरंग वापस लौट गई थी। इसके पूर्व पटना की एसटीएफ की टीम ने जिला प्रशासन के साथ केन्द्रीय कारा में भी रेड की थी। जहां पर संतोष पाठक के शार्गिद संजीत चौधरी व उसके तीन साथियों की तलाश ली थी। लेकिन वहां कोई मोबाइल नहीं मिला था।

क्या है मामला-

सहरसा के ठीकेदार समरेश कुमार सिंह का शिवहर में सड़क निर्माण कार्य चल रहा है। इस सड़क निर्माण के लिए 46 करोड़ का टेंडर है। इस टेंडर का 10 प्रतिशत रंगदारी की मांग संतोष पाठक गिरोह के नाम पर की गई है। पुलिस का कहना है कि जिस मोबाइल से रंगदारी की मांग की जा रही थी। उस मोबाइल से रिंकू पाठक की भी बात हुई है। इतना ही नहीं रंगदारी वाले नम्बर का लोकेशन यूपी के कुशीनगर का था। उसी दिन रिंकू पाठक के अपने मोबाइल का भी लोकेशन कुशीनगर ही था। इससे पुलिस को अंदेशा है कि रिंकू पाठक भी उस दिन कुशीनगर में ही उपस्थित था। रिंकू पर इस गिरोह के रंगदारी के रुपए कलेक्ट करने का भी आरोप लगा है। पुलिस का कहना है कि एक अन्य मामले में रिंकू पाठक पटना के एक ठीकेदार से रंगदारी के रुपये वसूलने गया था।

हत्यारों को भी दी थी शरण-

पिछले वर्ष ठाका अनुमंडल कार्यालय परिसर में अभिषेक झा की हत्या हुई थी। पुलिस का कहना है कि मर्डर के बाद हत्या के आरोपी रिंकू पाठक के गांव पर ठहरे थे।

कोटवा में बम विस्फोट में चार बच्चे जख्मी, मौके पर पहुँचे एसपी

मोतिहारी : तारीख- 5 जनवरी, दिन- शनिवार, स्थान- मोतिहारी…सबकुछ सामान्य दिनों की तरह ही चल रहा था। लोग हर दिन की तरह अपने खेतों में काम कर रहे थे तभी बम विस्फोट से पूरा इलाका दहल उठता है। अचानक बम के फटने से वहां अफरा-तफरी मच जाती है। लोग इधर-उधर भागने लगते हैं। जल्द ही पता चलता है कि खेत में किसी ने बम छिपा कर रख दिया था। बच्चों ने बम को कोई खेलने का सामान समझकर छुआ तभी विस्फोट हो गया। इस विस्फोट में चार बच्चे बुरी तरह घायल हो गये। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कहा जा रहा है कि अपराधियों ने खतरनाक मंसूबे से बम को खेतों में छिपाकर रखा था।
इधर, खेत में बम फटने की खबर मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और छानबीन में जुट गयी। मामले की गंभीरता को देखते हुए खुद एसपी मौका-ए-वारदात पर पहुंचे और आसपास के लोगों से पूछताछ की । एसपी उपेंद्र शर्मा ने बताया कि कोटवा कर गढ़वा चौक के पास एक खेत में एक साथ चार बम विस्फोट हुआ। जिसमें चार बच्चे बुरी तरह घायल हो गये। निजी नर्सिंग में प्राथमिक इलाज के बाद उन्हें बेहतर इलाज के लिए मोतिहारी के अस्पताल में रेफर कर दिया गया है। पता लगाया जा रहा है कि इसके पीछे किसका हाथ है ? किसने और किस मकसद से इतने सारे बमों को खेत में छिपाकर रखा था।

सेविका सहायिका बहाली में गड़बड़ी के खिलाफ उग्र लोगो ने सीडीपीओ कार्यालय में की तालाबंदी, बखरी पंचायत के वार्ड नंबर 19 में पर्यवेक्षिका पर गरबड़ी करने से उग्र थे लोग, तालाबंदी के बाद आम सभा किया गया स्थगित

मोतिहारी : पताही थाना क्षेत्र के बखरी पंचायत कर सेविका सहायिका बहाली  में गड़बड़ी के विरोध में उक्त वार्ड के ग्रामीणों ने सीडीपीओ कार्यालय पहुंचकर शुक्रवार को तालाबंदी कर  हंगामा किया। तालाबन्दी से बहाली प्रकरण की जांच करने पहुंचे जांच टीम भी घंटों कार्यालय में बंद रहे। हंगामा एवं तालाबंदी का नेतृत्व सेविका पद के उम्मीदवार पूजा कुमारी कर रही थी। मामला उक्त पंचायत के वार्ड नंबर 19 का है। ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि बखरी पंचायत के उक्त वार्ड में सेविका सहायिका बहाली करने पर्यवेक्षिका मनीषा कुमारी आम सभा करने पहुंची थी। इस दौरान प्रवेशिका द्वारा अति पिछड़ा वर्ग के सीट पर पिछड़ा वर्ग के उम्मीदवार का चयन की घोषणा कर दिया गया। घोषणा होते की आम सभा में जमकर हंगामा हो गया और उग्र लोगो ने पर्यवेक्षिका के गाड़ी को घेर प्रदर्शन करने लगे। हंगामे के बाद आम सभा में उपस्थित पुलिस बल के द्वारा कभी मसक्कत के बाद  पर्यवेक्षिका को सुरक्षित सीडीपीओ कार्यालय  पहुचाया गया ।जिसके बाद हंगामा कर रहे दर्जनों ग्रामीण प्रखंड मुख्यालय पहुंचकर सीडीपीओ कार्यालय में तालाबंदी कर आम सभा स्थगित करने की मांग करने लगे। हंगामा एवं ग्रामीणों के मांग पर सीडीपीओ विणा चौधरी के द्वारा आम सभा को स्थगित कर दी गई। जिसके बाद तालाबंदी एवं हंगामा कर रहे ग्रामीण वापस घर लौट गए। मालूम हो कि सीडीपीओ कार्यालय में दलालों  के माध्यम से अवैध राशि वसूली कर सेटिंग गेटिंग कर बहाली किया जा रहा है। जिसको लेकर बहाली प्रक्रिया में विभिन्न जगहों पर हंगामा हो रहा है। तालाबन्दी एवं हंगामा करने वालों में पूजा कुमारी, लाल मुन्नी देवी, मुन्नी देवी, चंपा देवी, शारदा देवी, रामपति देवी, रंभा देवी, रीना देवी, चंद्रकला देवी, मीना देवी ,सावित्री देवी, नहक साह, मुन्ना कुमार आदि शामिल थे। इस संबंध में सीडीपीओ वीणा चौधरी का पक्ष जानने के लिये उनसे संपर्क किया गया लेकिन उनके द्वारा फोन नही उठाया गया।

About the author

Aditya Prakash Srivastva