चुनाव पश्चिमी चम्पारण बगहा बिहार राज्य

बगहा(प.च.) : राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर अनुमंडल कार्यालय से मतदाता जागरूकता के लिए प्रभातफेरी का आयोजन किया गया

News
  •  
  •  
  •  
  • 3
  •  
  •  
  •  
  •  
    3
    Shares

विजय कुमार शर्मा, बगहा प.च.बिहार(२५ जनवरी, शुक्रवार)। एसडीएम घनश्याम मीणा सहित तमाम पदाधिकारियों ने बगहा विधानसभा के सभी लोगो से अपील किया वैसे लोग जिनका उम्र 18 वर्ष या उससे अधिक है वैसे लोग अपने बीएलओ से सम्पर्क स्थापित कर नाम जोड़ने हेतु फॉर्म भर मतदाता सूची में नाम जुड़वाए जागरूकता दिवस दिनांक 25 जनवरी को मनाया जाता है ज्ञात हो कि भारत सरकार के द्वारा 25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस के रूप मे मनाया जाता हैं और इस कार्यक्रम का उद्देश्य लोगो मे मतदान के प्रति जागरूकता को बढ़ाना और मत का अधिकार साथ में मत का प्रभाव और राष्ट्र निर्माण मे एक मत कि क्या भूमिका हैं इस विषय पर चर्चा और जागरूकता अभियान चलाया गया। जैसे कि आप सभी को मालूम होगा कि प्रत्येक वर्ष निर्वाचन सूची मे नये मतदाताओं को सम्मिलित किया जाता हैं।और इसी जागरूकता प्रभातफेरी कार्यक्रम के माध्यम से सभी मतदाताओं को भी जागरूक करने का प्रयास किया गया।

विगत कई वर्षो मे मतदान का प्रतिशत थोड़ा-बहुत बढ़ा हैं परन्तु ये अभी भी अपेक्षा के अनुरूप नही हैं।जिस कारण से मतदान प्रतिशत अपेक्षा के अनुरूप नही हो पाता हैं और यदि सरकार इस विषय को लेकर गंभीर हैं तो इन खामियों को भी दूर करना होगा। खास कर महिलाओं के मतदान को लेकर स्थिति संतोष जनक नही हैं और इसका मुख्य कारण बेवस्थाओं मे कमी महिलाओं मे असुरक्षा कि भावना और पुरुष सदस्यों द्वारा प्रतिबंध जैसी स्थिति शामिल हैं।

बगहा अनुमंडलाधिकारी घनश्याम मीणा ने कहा कि यदि मतदान का प्रतिशत बढ़ाना हैं तो इसके लिए पुरुष नवयुवक और महिलाओं मे जागरूकता का प्रचार प्रसार करना अतिआवस्यक जरूरी है राष्ट्रीय मतदाता जागरूकता दिवस पिछले 9 वर्षो से पूरे भारत मे मनाया जाता हैं लेकिन सरकारी कार्यक्रम सरकारी कार्यालयों तक हि सीमित हैं। इसे जन जन तक इस बात को पहुचाने के लिए मीडिया सामाजिक संगठन और सरकारी तंत्र सभी एक साथ मिल कर लोगो के बीच मे पहुचना होगा ताकि उनका अपने मत के प्रति विश्वास मे इज़ाफ़ा हो।

जिससे मतदान के प्रतिशत मे बढ़ावा मिल सकता हैं। परन्तु निर्वाचन सूची मे नाम न होने के कारण उनमे मायूसी भी देखी जाती हैं। यदि नये मतदाताओंं की इस समस्या को समय रहते दूर किया जाए तो मतदान प्रतिशत मे भारी बढ़ोतरी दर्ज की जा सकती है। जिससे एक सशस्क्त राष्ट्र निर्माण करने मे मदद प्राप्त हो।

इस जागरूकता प्रभात फेरी कार्यक्रम क्षेत्र भ्रमण के दौरान कुछ बुज़ुर्ग मतदाताओं से भी बात चित भी कि गई और उनमे मतदान के प्रति जागरूकता तो हैं परन्तु स्वास्थ्य एवं शारीरिक समस्या एक बड़ी बाधा के रूप मे जान पड़ती है। सरकार के द्वारा ऐसे लोगो के लिए विशेष विकल्प दिया जाना चाहिए ऐसा उनका मानना हैं। हमे यदि अपने राष्ट्र को सर्वोपरि बनाना हैं तो सभी बाधाओं से लड़ कर मतदान केंद्र तक पहुच कर अपने मत का उचित प्रयोग करना ही पड़ेगा जिससे आने वाली पीढ़ी को अच्छा संदेश जाये और लोकतंत्र सही रूप मे परिभाषित हो सके।

About the author

Aditya Prakash Srivastva