उत्तर प्रदेश कुशीनगर क्राइम

कुशीनगरःजहरीली शराब के काल के गाल में समा गये तीन मजदूर, परिजनों चीत्कार से पसरा मातम

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सुनील कुमार तिवारी के.के.न्यूज.24

कुशीनगर : जिले के तरयासुजान थाने के ग्राम जवही दयाल में बुधवार की सुबह शराब पीने से एक साथ तीन लोगों की मौत हो गई। अवैध शराब का कारोबार बंद कराने को लेकर ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया और शवों को रोेके रखा। दूसरी ओर प्रशासन इसे स्वाभाविक मौत बताने लगा, लेकिन ग्रामीणों का तेवर देख दो शवों को पाेस्टमार्टम के लिए भेजा, तब जाकर ग्रामीण शांत हुए। एक शव का मंगलवार की रात ही परिजनों ने दाह संस्कार कर दिया था। मरने वाले सभी अलग-अलग परिवार के सदस्य हैं, जिसमें युवा व बुजुर्ग शामिल हैं।

परिजनों के अनुसार डेबा निषाद पुत्र किशुनी (65), हीरालाल पुत्र सरका निषाद (35), अवध पुत्र राधाकिशुन (50) मजदूरी का कार्य करते हैं। रोज की तरह मंगलवार की शाम काम से लौटे तो गांव के समीप ईंट-भट्ठों पर बनने वाली कच्ची शराब पीने चले गए। घर लौटे तो इनकी हालत अचानक खराब हो गई और उल्टी होने लगी। अस्पताल ले गए, जहां तीनों की मौत हो गई। भूखल के शव काे परिजन रात को ही जला दिए। जब यह खबर गांव में फैली तो पूरा गांव सुबह इकट्ठा हो गया और डेबा व हीरालाल के शव को गांव में रोक लिया।

इस बीच पुलिस क्षेत्राधिकारी आरके तिवारी, एसडीएम बीके प्रसाद पहुंचे। अधिकारियों ने इनकी मौत स्वाभाविक बताई तो महिलाएं हंगामा करने लगीं। इस पर पुलिस अधीक्षक राजीव नारायण मिश्र ने निर्देश दिया कि दोनों शवों का पोस्टमार्टम कराया जाए ताकि मौत का सही कारण पता चल सके। बहरहाल, रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का कारण पता चलेगा, लेकिन ग्रामीणों का दावा है कि मौत शराब पीने से ही हुई है और इसको लेकर पुलिस-प्रशासन के कान भी खड़े हाे गए हैं।

About the author

Aditya Prakash Srivastva

Leave a Comment