उत्तर प्रदेश कुशीनगर क्राइम

कुशीनगर :जहरीली शराब पीने से मरने का सिलसिला जारी, संख्या दस तक पहुंची

News
  •  
  •  
  •  
  • 2
  •  
  •  
  •  
  •  
    2
    Shares

 

सुनील तिवारी.kknews24

कुशीनगर।तरयासुजान थाना क्षेत्र में आज दूसरे दिन चार लोगों की मौत आज फिर जहरीली शराब के पीने से हुई बतायी जा रही। तीन में से दो के शव का पोस्टमार्डम हो रही है, जबकि एक शव का दाह संस्कार आज परिजनों ने कर दिया। इतनी बड़ी घटना के बाद क्षेत्र मे मातम का माहौल बना हुआ है।कुल मिलाकर अब तक जहरीली शराब पीने से कुल दस दस की मौत होना बताया जा रहा है।
जानकारी के अनुसार विदित हो कि गत दिनो जहरीली शराब पीने के कारण जवही दयाल गाँव मे तीन लोगों की मौत हो गयी थी, वही दो और मौते शराब पीने के कारण होने की बात आई थी। कल हुई मौत में काफी हिला हवाली के बाद पुलिस ने दो शव को पोस्टमार्डम के लिए भेज था। जिनका आज अंतिम संस्कार कर दिया गया।आज ग्राम सभा बेदुपार निवासी रामवृक्ष साहनी पुत्र शिवबचन साहनी की मौत आज देर रात्रि हो गयी। जिसके शव को पुलिस ने पोस्टमार्डम के लिए भेज दिया है। वही ग्राम सभा खैरटिया निवासी विजय गुप्ता पुत्र बिक्रमा गुप्ता की मृत्यु भी देर रात्रि हो गयी, लेकिन बिना पोस्टमार्डम कराए ही इनके शव का दाह संस्कार कर दिया गया। वही रामनाथ पुत्र बिंदेश्वरी भी शराब के सेवन से अतेचित था जिसका इलाज जिला अस्पताल पडरौना में चल रहा था उसकी भी मृत्यु हो गयी है, जिसका पोस्टमार्डम हो रहा है। लगातार मृतकों की संख्या बढ़ने का सिलसिला जारी है।
खैरटिया जलाल छापर निवासी ओम दीक्षित की जहरीली शराब से कल शाम को हुई मौत परिजनों ने कर दिया अंतिम संस्कार , उसका भाई दिवाकर दीक्षित गंभीर हालत में तमकूहीराज सरकारी अस्पताल में इलाज।चल रहा है और वह जीवन और मौत के बीच संघर्ष कर रहा है लोग बता रहे है कि वह भी चंद घण्टो का मेहमान है। वही जहरीली के सेवन से बेदुपार निवासी मिरहशन पुत्र हजरत, साहब पुत्र हरेन्द्र, बिगू पुत्र दहारी की हालत जहरीली शराब पीने के कारण जब बिगड़ने लगी तो परिजन एम्बुलेंस से इलाज के लिये ले गए आज फिर घटना स्थल पर पहुँचे जिलाधिकारी कुशीनगर व पुलिस कप्तान कुशीनगर ने परिजनों को ढांढस बंधाया व अहेतुक सहायता दिलाने की बात कही। वही जिलाधिकारी कुशीनगर ने पीड़ित परिवार के लोगों को नगद अहेतुक सहायता दिया। बेदुपार के पीड़ित परिवार के लोगों ने बताया कि गाँव का ही रामनाथ पुत्र बिंदेश्वरी ही शराब बेचता था जिसकी मौत भी शराब पीने के कारण जिला अस्पताल में हो चुकी है के घर जब डी एम व कप्तान पहुँचे तो दरवाजे पर काफी संख्या में शराब की बोतल का ढक्कन व प्लास्टिक की खाली पाउच पड़ी थी। ढक्कन को जलाने का प्रयास किया गया था लेकिन ढक्कन पूर्ण रूप से जल नही पाया था। स्तिथि देखकर सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है। कि यहाँ अबैध शराब का धंधा काफी दिनों से फल फूल रहा था। जिस तरह लगातार मरने वालों की संख्या बढ़ रही है इससे आगे भी कुछ कहा नही जा सकता। पूरे क्षेत्र में मातम का माहौल बना हुआ है। सभी लोग इसका जिम्मेदार सरकारी तंत्र को मान यह कहते नही चूक रहे कि अगर प्रसासन सजग होता तो आज इतनी बड़ी घटना नही घटित हुई होती।

About the author

Aditya Prakash Srivastva