क्राइम राजनीति

कुशीनगरःविभिन्न थाना क्षेत्रों से आधा दर्जन अपराध के आरोप में गिरफ्तार

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सुनील तिवारीkknews24

कुशीनगर।जनपद में पुलिस अधीक्षक राजीव नारायण मिश्र के निर्देशन में अपराध एवं अपराधियों के विरुध्द चलाये जा रहे अभियान के तहत की गयी कार्यवाही-

थाना कसया-*
थाना कसया पुलिस द्वारा 01 नफर अभियुक्त 1-सुदर्शन राजभर उर्फ बल्ली पुत्र साधु साकिन भैसहां सदर टोला जनपद कुशीनगर को गिरफ्तार कर उनके पास से 10 लीटर अवैध कच्ची शराब बरामद कर मु0अ0सं0 70/19 धारा 60 आबकारी एक्ट के अन्तर्गत आवश्यक विधिक कार्यवाही की जा रही है।
*• वांछित अभियुक्तों की गिरफ्तारी-*
*थाना को0 पड़रौना-*
थाना को0 पड़रौना पुलिस द्वारा 01 नफर वांछित अभियुक्त अविनाश उर्फ गुलशन पटेल पुत्र वृजेश पटेल साकिन कस्बा रामकोला जनपद कुशीनगर को गिरफ्तार कर मु0अ0सं0- 60/19 धारा- 363 IPC के अन्तर्गत आवश्यक विधिक कार्यवाही की जा रही है।
*थाना तरयासुजान-*
थाना तरयासुजान पुलिस द्वारा 01 नफर वांछित अभियुक्त राजेन्द्र जायसवाल पुत्र भुखल जायसवाल साकिन जेवही दयाल चैनपट्टी थाना तरयासुजान जनपद कुशीनगर को गिरफ्तार कर मु0अ0सं0- 57/19 धारा- 304,272 IPC के अन्तर्गत आवश्यक विधिक कार्यवाही की जा रही है।
*थाना नेबुआ नौरंगिया-*
थाना ने0 नौ0 पुलिस द्वारा 02 नफर वांछित अभियुक्त 1-प्रभु पुत्र स्व0 सुखारी साकिन चितहां थाना ने0 नौ0 जनपद कुशीनगर, 2-मन्टु कुशवाहा पुत्र राधेश्याम कुशवाहा साकिन सिंगहा थाना रामकोला जनपद कुशीनगर को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से चोरी की 08 अदद वैट्री 12 वोल्ट बरामद कर मु0अ0सं0- 23/19 धारा- 457,380 IPC के अन्तर्गत आवश्यक विधिक कार्यवाही की जा रही है।
*थाना रामकोला-*
थाना रामकोला पुलिस द्वारा 03 नफर वांछित अभियुक्त 1-सलमान खान पुत्र जलील अहमद साकिन वार्ड न0 2 कस्बा रामकोला थाना रामकोला जनपद कुशीनगर, 2-किशन खरवार पुत्र ओमप्रकाश खरवार साकिन वार्ड न0 11 कस्बा रामकोला थाना रामकोला जनपद कुशीनगर, 3-महेश रौनियार पुत्र लक्ष्मण रौनियार साकिन वार्ड न0 7 कस्बा रामकोला थाना रामकोला जनपद कुशीनगर को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से चोरी की एक अदद मो0 साइकिल BR 22 1822, लोहे की राड, 02 अदद पायल, 02 अदद विछिया आदि बरामद कर मु0अ0सं0- 37/19 धारा- 411,401 IPC के अन्तर्गत आवश्यक विधिक कार्यवाही की जा रही है।

About the author

Aditya Prakash Srivastva