उत्तर प्रदेश क्राइम फर्रुखाबाद राज्य

फर्रुखाबाद :: मिट्टी धंसकने से दुसरे दिन भी नहीं निकाली जा सकी बच्ची

News
  •  
  •  
  •  
  • 2
  •  
  •  
  •  
  •  
    2
    Shares

सुआलाल यादव, फर्रुखाबाद। निरंतर मिट्टी धंसकने के कारण बोरवेल में गिरी बालिका सीमा को नहीं निकाला जा सका। जिसके कारण जिला प्रशासन द्वारा युद्ध स्तर पर शुरू किया गया ऑपरेशन बीती रात बंद करके गड्ढे को भर दिया गया।

मालूम हो कि थाना कमालगंज के ग्राम रशीदापुर निवासी स्वर्गीय नरेश राजपूत की 8 वर्षीय पुत्री सीमा 4 अप्रैल को दिन के 2 बजे बोरवेल में गिर गई थी। बीती रात तक सेना के जवानों ने सुरंग में लोहे के दो ड्रम डालें लेकिन निरंतर मिट्टी धंसकने के कारण काम बंद कर दिया गया। सेना के जवानों ने बालिका को निकालने के लिए बोरवेल के निकट करीब एक दर्जन मकानों को खाली कराने के लिए कहा था। बीते दिन ही बालिका के मर जाने की आशंका में प्रशासनिक अधिकारियों ने मकानों को गिरवाने से हाथ खड़े कर दिए। खुदाई के कारण अड़ोस पड़ोस के कई मकान क्षतिग्रस्त हो गए थे। डॉक्टरों की टीम ने बीती शाम ही बालिका के मर जाने की जानकारी दे दी थी। डॉक्टरों की टीम शाम 5 बजे ही चली गई। डीएम एसपी रात करीब 10 बजे चले गए। करीब 3 बजे फतेहगढ़ सेना के जवान, आगरा की पैरा मिलेट्री, लखनऊ की एनडीआरएफ व एसटीआरएफ की टीम वापस चली गई।
सुबह 4 बजे एसडीएम सदर चले गए। उसके बाद सुबह अपर उप जिलाधिकारी बृजेंद्र कुमार पहुंचे। सुबह 8 बजे नायव तहसीलदार पवन गुप्ता लेखपाल संजू मिश्रा भी चले गए। सुबह तक खोदे गए गड्ढे में मिट्टी का भराव कर पोपलीन मशीनों को भी बाहर निकाला गया।
गांव के प्रधान हरीश चंद्र दिवाकर ने बताया बोरवेल में फंसी बालिका की बीते दिन ही मौत हो गई थी। उसके ऊपर काफी मिट्टी गिर गई थी। लेखपाल संजू मिश्रा ने बताया कि सेना के जवानों ने बालिका को निकालने के लिए बोरवेल के चारों ओर एक दर्जन मकान खाली कराने के लिए कहा था।

About the author

Aditya Prakash Srivastva

Leave a Comment