उत्तर प्रदेश कुशीनगर क्राइम

कुशीनगरः एएनएम की लापरवाही से जच्चा-बच्चा की हुई मौत .परिजनों की चीत्कार से छाया मातम

News
  •  
  •  
  •  
  • 4
  •  
  •  
  •  
  •  
    4
    Shares

सुनील कुमार तिवारी kknews24
कुशीनगर।कुवेरस्थान थाना क्षेत्र के ग्राम सभा सखवानिया निवासी एक महिला का प्रसव पीड़ा के दौरान मौत हो जाने का मामला प्रकाश में आया है । बताया जाता है कि उसके पेट में तेज दर्द होने पर परिजन सीएचसी अस्पताल लेकर पहुंचे थे जहां ए एन एम ने हालत गंभीर होने के बावजूद कई घंटे रोके रखा जिससे जच्चा बच्चा दोनों की मौत हो गई। इस घटना की जानकारी परिजनों को होते ही उनके चित्कार से गांव में मातम छा गया है वह अपने पीछे दो बच्चों को छोड़ गई है ।
जानकारी के अनुसार शौकत अंसारी की बेटी आसमा अपने मायके आई हुई थी जो गर्भवती थी। रविवार को लगभग दह बजे दिन में दर्द होने पर गांव के आशा बहू को परिवारजनों ने बुलाया आशा बहू साढी एन एम सेंटर पर परिजनों के साथ लेकर चली गई वहां की एन एम ने 3000 जमा कराकर आसमा का इलाज शुरू कर दिया। परिजनों के कहने पर आधा घंटा एक घंटा का कर 24 घंटे तक रोके रहे सोमवार को लगभग 12:00 बजे एन एम एक प्राइवेट चिकित्सालय का नाम लेकर कसया भेज दी यहां डाक्टरों ने देखकर तुरंत जिला अस्पताल ले जाने की सलाह दिया।जिला अस्पताल ले जाते समय रास्ते में ही जच्चा बच्चा दोनों की मौत हो गई। मौत की सूचना मिलते ही परिजनों में हाहाकार मच गया महिला का पति दिल्ली रोजी रोटी की चक्कर में रहता है वह के आने के बाद आगे की कार्रवाई परिजनों द्वारा किया जाएगा महिला के 2 बच्चे हैं तोफिक 6 बस गुल फंसा चार ब वर्ष दोनों का रो-रोकर बुरा हाल है। डॉक्टर सतीश चंद्र ने कहा कि मामले की जानकारी नहीं है अब जानकारी हुई है इसकी जांच कराई जाएगी एनम को 24 घंटा रोकने का कोई सवाल ही नहीं है और ना ही किसी प्राइवेट चिकित्सक के यहां भेजने का नियम है अगर ऐसा की होगी तो उसके खिलाफ जांच कर कार्रवाई किया जाएगा।

About the author

Aditya Prakash Srivastva