उत्तर प्रदेश कुशीनगर राजनीति राज्य

कुशीनगर : प्रधान व कोटेदार के खिलाफ ग्रामीणों ने खोला मोर्चा

News
  •  
  •  
  •  
  • 12
  •  
  •  
  •  
  •  
    12
    Shares

मनोज पाण्डेय, कुशीनगर(१३ अप्रैल)। जनपद के नेबुआ नौरंगिया विकास खण्ड के ग्रामसभा परसौनी में ग्रामीणों के एक समूह ने प्रधान और कोटेदार पर ब्यापक धांधली के साथ गवंई राजनिति के चलते पक्षपात करने का आरोप लगाया है।

गौरतलब है कि ग्रामसभा परसौनी निवासी अंत्योदय कार्ड धारक जोखू पुत्र सन्तु ने ये बताया कि आज तक इनको आवास, शौचालय व पेंशन जैसी सरकारी सुविधाओ का लाभ नही मिला है और अंत्योदय कार्ड होने के बाद भी सीताराम कोटेदार के द्वारा विगत सात माह से राशन नही दिया जा रहा है, जिसके कारण इनका परिवार भुखमरी के कगार पर पहुच गया है। गरीबी का दंश झेल रहे नाम मात्र के खेत पर अपने परिवार का जीवन यापन करने वाले जोखू की पत्नी रामेश्वरी देवी (62 वर्ष) बीमारी से ग्रसित होकर बिस्तर पर बीमार पड़ी हुई है, पैसे के अभाव में इनका समुचित इलाज नही हो पा रहा है और घर मेंं अनाज का एक दाना भी नही है जिसके कारण ये भुखमरी के कगार पर पहुच गए है, 62 वर्ष की अवस्था बीत जाने के बाद भी आज तक इनको बृद्धा पेंशन नही बना है।
वहीं झोपड़ी में अपनी जीविका यापन करने वाली जयमती पत्नी अछयवर ने ये बताई कि आवास या अन्य सुविधाओ से आज तक इनको बंचित रखा गया है जबकि एक साल पूर्व आवास देने के नाम पर ग्राम पंचायत सचिव के आश्वासन पर बालू गिरवा दिया गया पर आवास नही मिला गिरे हुवे बालू पर उगे झाड़ झंखाड़ इस हकीकत को बयां कर रहे है।
इस दौरान 65 वर्षीय मुन्नीलाल और शंकर सहित पारस पुत्र हरिवन्स ने ये बताया कि अनेको बार सचिव व ग्राम प्रधान के कहने के बावजूद भी न तो इनका पेंशन बना है और न ही शौचालय जबकि ग्राम प्रधान के द्वारा अपात्रोंं को सारी सरकारी सुविधाओंं का लाभ दिया गया है और शिवनारायण पुत्र सुखारी जैसे अपात्रो को प्रधानमंत्री आवास का सुविधा दिया गया है।
प्रकाश पुत्र शंकर का पहले पात्र गृहस्ती का राशन कार्ड था पर गवई राजनीति के चलते इनका तथा अनेको ग्रामीणों का राशन कार्ड कटवा दिया गया है। अनेको बार के लिखित शिकायत के बाद भी आज तक इनका और अन्य लोगो का राशन कार्ड नही बन पाया है जिसके कारण कोटेदार के द्वारा इनको राशन या मिट्टी का तेल नही दिया जाता है।

वहीं स्थानीय ग्रामवासी श्रीकांत गुप्ता, सुनील कुमार चौरसिया, मदन चौरसिया, नरेन्द्र गुप्ता, इंद्राशन प्रसाद ने ग्रामसभा मेंं स्थित जर्जर व जगह-जगह पर जाम होकर बजबजाती हुई नाली को साफ सफाई करवाकर मरमत करवाने के साथ सफाई कर्मी की नियुक्ति की मांग की है तथा ग्रामीणों के एक समूह ने ये आरोप लगाया कि ग्राम प्रधान व कोटेदार के द्वारा गवई राजनीति को लेकर राशन से लेकर अन्य सुविधाओं को पात्रो को देने में भेदभाव किया जाता है और अपात्रो से रिश्वत लेकर उनको इन सभी सुविधाओ का लाभ दे दिया जाता है, सरकारी नौकरी करने वालो को भी राशन कार्ड जारी करके उनको भी राशन तथा अन्य सुविधाओं का लाभ दे दिया जाता है। वहीं शिवनारायण पुत्र सुकट को ग्राम प्रधान द्वारा आवास दिया गया है जो कि अपात्र है जिसका घर दो मंजिला है और 4 चक्का वाहन भी है।
इस दौरान पूर्व ग्राम प्रधान कन्हैया गुप्ता, क्षेत्र पंचायत सदस्य बाबुनन्दन यादव, अमेरिका चौरसिया, असरफी प्रसाद, राजकिशोर, रामेश्वर, विरेन्द्र सहित अनेको ग्रामीणों ने ये बताया कि ग्राम प्रधान और कोटेदार की दबंगई से ग्रामवासी आजिज आ चुके हैंं। पूर्व में कई गयी शिकायत और अधिकारियों के जांचोपरांत कोटेदार 7 बार निलम्बित और 5 बार निरस्त होने के बाद भी बार-बार कोटे को बहाल करा लेना अपने आप मे एक सामंजस्य बना हुवा है जो कि समझ से परे है। स्थानीय ग्रामीणों की एक समूह ने ग्रामसभा में ब्याप्त इन सब धांधली की अतिशीघ्र निष्पक्ष जांच की मांग की है ..!!

इस बावत ग्राम बिकास अधिकारी ने संवाददाता को बताया कि हमने प्रधान और कोटेदार से कई बार यह कहा कि गलत काम ना करो फिर भी वो अपनी आदतों से बाज नही आ रहे।

About the author

Aditya Prakash Srivastva

Leave a Comment