चुनाव पूर्वी चम्पारण बिहार मोतिहारी राजनीति राज्य

मोतिहारी(पू.चं.) :: मोदी के पक्ष में 2014 में लहर थी, 2019 में सुनामी है : सुशील मोदी

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विजय कुमार शर्मा (पू.चं.) बिहार, तुरकौलिया(२८ अप्रैल)। बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि देश में फिर नरेंद्र मोदी की नेतृत्व वाली मजबूत सरकार की जरुरत हैं। मोदी के नेतृत्व में पाच साल में देश का विकास हुआ हैं। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का मान बढ़ा हैं।

उप मुख्यमंत्री रविवार को राजकीय मध्य विद्यालय तुरकौलिया के मैदान में भाजपा प्रत्याशी राधामोहन सिंह के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने विपक्ष पर कड़ा प्रहार किया। भाजपा सरकार को मजबूत तथा पूर्ववर्ती मनमोहन सरकार को कमजोर बताया। लोगों से देशहित में पुनः मजबूत अर्थात नरेंद्र मोदी सरकार बनाने की अपील की। कहा कि विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ रहे हैं। पांच साल में जो विकास हुआ। पिछले कई सालों में नहीं हुआ। सुशील मोदी ने कहा कि देश में पीएम मोदी के पक्ष में 2014 में लहर थी 2019 में तो सुनामी है। एनडीए गठबंधन बिहार की सभी सीटों पर जीत दर्ज करेगी। वहीं कहा कि इस चुनाव में महागठबंधन का खाता खुलना भी मुश्किल है।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि देश में पहली बार कोई चुनाव हो रहा है, जिसमें महंगाई मुद्दा नहीं है। पांच वर्ष में केंद्र सरकार ने महंगाई को नियंत्रित किया। उन्‍होंने कहा केंद्र सरकार ने विकास के कई कार्य किए हैं। केंद्र और राज्य सरकार ने प्रत्येक घर तक बिजली पहुंचा दी है। 31 दिसम्बर 2019 तक प्रत्येक खेत तक बिजली मात्र 0.75 प्रति यूनिट के दर से पहुंचा दी जाएगी। जिससे किसानों को पटवन से निजात मिलेगा। विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं है। मौके पर मंत्री विनोद कुमार सिंह, पूर्व मंत्री अवधेश कुशवाहा, पूर्व विधायक महेश्वर सिंह, पूर्व विद्यायक कृष्णनंदन पासवान, एमएलसी बब्लू गुप्ता, पूर्व एमएलसी रामजी शर्मा, भाजपा किसान प्रकोष्ट प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद, प्रदेश नेता राजेश वर्मा, हरसिद्धि विधान सभा प्रभारी अनिरुद्ध सहनी, जदयू प्रखंड अध्यक्ष अजय पटेल, लोजपा प्रखंड अध्यक्ष धर्मनाथ पासवान, भाजपा जिला अनुसूचित जाति मोर्चा महामंत्री विजय रामठाकुर प्रसाद गुप्ता, बद्री पासवान, अवधेश राम, अनीश आलम, राजेन्द्र कुशवाहा, जगजीवन पासवान आदि नेता ने मंच को संबोधित किये।

About the author

Aditya Prakash Srivastva