उत्तर प्रदेश कुशीनगर चुनाव राज्य

कुशीनगर :: भाजपा को सबक सिखाने व अपनी ताकत का एहसास कराने की है जरूरत : ओमप्रकाश

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मनोज पाण्डेय, कुशीनगर केसरी/kknews24 कुशीनगर। नेबुआ नौरंगिया स्थानीय विकास खंड के परसौनी स्थित सरस्वती ई कालेज के परिसर पहुँचे सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने सभा कर अपने प्रत्याशी के लिए वोट की अपील करते हुए उपस्थित लोगों से जनसंवाद के लहजे में रूबरू होते हुए भाजपा को सबक सिखाने व अपनी ताकत का एहसास कराने की अपील की।
बता दें कि दिन के ढाई बजे के करीब पहुँचे राजभर ने कहा कि 2017 के विधानसभा चुनाव से पूर्व हुए भाजपा से समझौते के तहत उनकी पार्टी को 8 सीटे मिली जिसमे से 4 पर पार्टी प्रत्याशियों ने जीत दर्ज कराते हुए पूर्वांचल की सवा सौ सीटों पर गठबंधन के प्रत्याशी जीते सरकार बनी तो उन्हें मंत्री पद दिया गया।वे सरकार में रहते हुए शिक्षा आरक्षण जैसी बुनियादी समस्याओं पर सरकार से बात करते रहे उन्होंने कहा कि मैंने योगी से कहा कि प्राइमरी विद्यालय का अध्यापक 60 हजार वेतन लेता है और अपने बच्चों को कान्वेंट में पढ़ाता है क्योंकि वहाँ वह खुद अच्छी शिक्षा नही देता।हमने योगी से कहा कि जिले में तमाम अध्यापकों के पद खाली है और बी एड बी टी सी आदि डिग्री लिए तमाम बेरोजगार भी।आप इनका टेस्ट लेकर एक शर्त पर रखो की पहले साल 5 हजार देंगे अच्छी शिक्षा दिए तो अगले साल 10 हजार पांच वर्ष तक अच्छा परिणाम दिया तो स्थायी कर देंगे परंतु योगी ऐसा नही करेंगे।मोदी ने 24 घंटे के अंदर अगड़ों को 15 परसेंट होने के वावजूद 10 परसेंट आरक्षण दे दिया। परंतु महिलाओ व पिछडोंं के मुद्दे उन्हें दिखाई ही नही देते।मैंने अति दलित अति पिछड़ा आरक्षण की बात करते हुए कहा कि 9 राज्यो में इस पर अमल हो रहा परंतु हमारी नही सुनी गई और अंत मे मुझे योगी ने कहा कि भाजपा के सिम्बल से चुनाव लड़ लो बाद में केंद्र में मंत्री बन दिया जाएगा यानी पार्टी को खत्म करने की साजिश की गई हमने उनसे पार्टी व आपके हित मे नाता तोड़ दिया। आप अपनी ताकत पहचानो और मेरे प्रत्याशी को वोट करो ताकि सारे विपक्षियो को आपकी ताकत का अहसास हो जाये। उन्होंने कहा कि बनारस सीट के शिवाय भाजपा कही से भी जीत नही रही है। ये और इनके वोट के ठीकेदार लुभाएंगे तो भी भ्रमित मत होना। मोदी के राज्य में शराबबंदी है मैंने यू पी में इसकी मांग की तो भी नही सुना गया।सभा को रामकोला विधायक रामानंद बौद्ध सहित कई अन्य ने भी संबोधित किया। इस दौरान किसान मोर्चा के मास्टर राधेश्याम सिंह सहित ढेर सारे प्रशंसक व कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

About the author

Aditya Prakash Srivastva

Leave a Comment