पटना बिहार राज्य

पटना :: बिहार की छोटीबड़ी खास खबरें एकसाथ

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विजय कुमार शर्मा बगहा बिहार की रिपोर्ट……

अरेराज :: नाबालिक लड़की के साथ दुष्कर्म, सोये अवस्था मे घर से उठाकर ले गए दुष्कर्म। गण्डक किनारे से अचेत अवस्था मे नाबालिक बरामद। संग्रामपुर के पुछरिया गांव की है घटना।

डायन बताकर पड़ोसी ने महिला को पीटा, कोरमा के घाट कुसुम्भा गांव की घटना, प्राथमिकी दर्ज

मधुबनी :: दरभंगा से सहरसा जा रही बस सकरी थाना क्षेत्र के NH57 पर मुरारी चौक पर एक तेज रफ्तार ट्रक ने टक्कर मार दिया जिससे बस मे सवार लोगों मे आधा दर्जन यात्री घायल हो गए .सूचना पाकर पहुची पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से घायल को हॉस्पिटल भेजा वही ट्रक को जप्त कर लिया है।

वैशाली :: नकली नोट के साथ 3 शख्स गिरफ्तार
100 रुपए के 1.70 लाख के नोट बरामद। नगर थाना पुलिस की छोटी मरई इलाके में हुई कार्रवाई।

भीषण आग से छः घर जलकर राख नहीं पहुंचे कोई अधिकारी, वार्ड पार्षद अपने कोश से बांटी सामग्री

केसरिया :: नपं के वार्ड नं0-10 मे डिह पर बिते रात्रि खाना बनाने के दौरान आग लगने से छः लोगों का घर जल कर राख हो गया।साथ हीं लाखो की सम्पत्ति जिसमें नगद,गहना, कपड़ा, बर्तन, अनाज,बिछावन सहित करिब पांच लाख कि सम्पत्ति जल कर नष्ट हो गया।जिसमें रबिन्द्र महतो,सुरेन्द्र महतो,लखिन्द्र महतो,रामप्रवेश महतो,राजेश महतो,शिवचन्द्र महतो का घर शामिल है।गौरतलब हो कि आग लगने के बाद समाचार लिखे जाने तक किसी भी सरकारी पदाधिकारी अपने स्तर से स्थल का निरिक्षण तक नहीं किया।इसे प्रशासनिक उदाशीनता भी कहा जा सकता है।इस संदर्भ में अग्नि पिड़ितों में काफी अक्रोश है।वहीं वार्ड के वार्ड पार्षद रौशन कुमार के शौजन्य से अग्निपिड़ितों के बीच तत्काल राहत सामग्री की वितरण भी किया गया।जिसमें चुड़ा, मिठा, सलाई, मोमबत्ति,सहित अन्य सामग्री का वितरण किया। वहीं उक्त जानकारी देते हुए पार्षद रौशन कुमार ने बताया कि अग्निपिड़ितो के बीच सरकारी सहायता राशी का वितरण नहीं कराया गया।जो काफी चिंतनीय विषय है।
बेतिया(प.च.) :: अजीब है विभाग गरीब की कहानी मामला बेतिया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का यह बात आपको सुनने में तो अटपटा जरूर लगेगा लेकिन यह हकीकत है।

विदित हो कि सरकार ने जिले के सभी पीएचसी में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों का नियुक्ति किया जाता है कि वह पदाधिकारी अपने कर्मियों का समीक्षात्मक बैठक प्रतिमाह व सप्ताहिक करेंगे और कर्मचारियों के साथ फील्ड में हो रही समस्याओं का निपटारा करेंगे लेकिन यह तो सब बेतिया पी एक्स सी में उल्टा होता दिख रहा है !यहां पर के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ पूनम सिन्हा जोकि मीटिंग में नहीं आती है आती है ?तो आखिर कर्मचारी को अपनी समस्या बताएं किसको समस्याओं का समाधान करेगा कौन ?जानकार बताते हैं कि पूनम सिन्हा पीएचसी में कॉम निजी नर्सिंग होम में ज्यादा रहती है दुर्भाग्य है कि ऐसे पीएचसी प्रभारी बेतिया पी एचसी का है आखिर यहां की एएनएम ;आशा ;चिकित्सक की समस्या कौन सुनेगा ? जबकि जानकार बताते हैं कि उनके पति सिविल सर्जन है क्या कार्रवाई कर पाएंगे? जानकारों का मानना है कि लिपिकीय संवर्ग का कर्मचारी एनम का प्रशिक्षण नहीं ले सकता है या उसका समीक्षात्मक बैठक नहीं कर सकता है लेकिन यहां तो सब उल्टा ही होता है! ह चर्चा का विषय बना हुआ है आ रही है! ब्रज की समीक्षात्मक बैठक के दौरान डॉ केडी राय चिकित्सा पदाधिकारी, राहुल झा, नौशाद, शशि भूषण सिंह बी ई ई मुरारी शरण, एएनएम श्यामली कुमारी स्नेह लता आदि मौजूद रहे।

About the author

Aditya Prakash Srivastva