उत्तर प्रदेश कुशीनगर क्राइम राज्य

कुशीनगर :: पुलिस ने 50,000 के ईनामिया बदमाश को पिस्टल व जिंदा कारतूस के साथ किया गिरफ्तार

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सुनील कुमार तिवारी कुशीनगर केसरी/kknews24 पड़रौना/कुशीनगर(३० मई)। आज जनपद की तरयासुजान थाने की पुलिस ने पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है । ₹ 50,000 का इनामी बदमाश के पास है पिस्तौल दो जिंदा कारतूस व बाइक बरामद करने में कामयाबी पाई है । इस घटना का खुलासा आज बृहस्पतिवार को पुलिस लाइन में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान पुलिस अधीक्षक राजीव नारायण मिश्रा ने करते हुये बताया कि कई दर्जन भर आपराधिक मुकदमों में वांछित चल रहा था जिसके ऊपर ₹ 50,000 का इनाम घोषित किया गया था। आज उसे गिरफ्तार करने के बाद दर्ज मुकदमों की धारा में जेल के लिए रवाना कर दिया गया है।

एसपी श्री मिश्र ने आगे बताया कि जनपद में अपराधियोंं के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के क्रम मेआज दिनांक 30मई को जनपद की स्वाट व थाना तरयासुजान पुलिस की संयुक्त टीम को मुखबिर द्वारा सूचना पर मय प्रभारी निरीक्षक व स्वाट प्रभारी द्वारा मय टीम द्वारा तत्काल प्रतिक्रिया करते हुए अभियुक्त विजय साहनी पुत्र शंकर साकिन जबही दयाल चैनपट्टी थाना तरया सुजान जनपद कुशीनगर को गिरफ्तार किया गया तथाअभियुक्त विजय साहनी के कब्जे से एक अदद पिस्टल .32 बोर 2 अदद जिंदा कारतूस व एक अदद खोखा कारतूस तथा चोरी की एक अदद पल्सर मोटर साइकिल जो गोपालगंज बिहार से चोरी गयीथी, की बरामदगी की गयी है।अवगत कराना है कि अभियुक्तविजय साहनी की गिरफ्तारी हेतुपुलिस महानिरीक्षक गोरखपुर परिक्षेत्र गोरखपुर द्वारा 50 हजार रुपये के इनामी घोषित किया गया था।उल्लेखनीय है किअभियुक्त विजय साहनी पुत्र शंकर साहनी सा0 खलवा चैनपट्टी थाना तरया सुजान जनपद कुशीनगर एक अपराधिक प्रबृत्ति का व्यक्ति है, जो अबैध शराबी के कारोबार में लम्बे समय से संलिप्त था। यह अपमिश्रित शराब के निष्कर्षण व बिक्री के कार्यो में संलिप्त रहा है।* अभियुक्त विजय साहनीमु0अ0सं0 241/18 धारा 60(2) आबकारी अधिनियम में वांछित चल रहा था। दिनांक 13.11.18 को मुखविर की सूचना पर अभियुक्त विजय साहनी की गिरफ्तारी हेतु थाना तरया सुजान पुलिस द्वारा अभियुक्त के घर चैनपट्टी में दविश देकर अभियुक्त विजय साहनी को हिरासत में लेने का प्रयास किया गया कि उसने शोर मचाकर परिवार व पास पङोस के लगभग 15-20 की संख्या में लोगों को एकत्र कर पुलिस पार्टी पर हमलाकर दिया था। अभियुक्त विजय साहनी मौका पाकर भागने में सफल हो गया था।दविश पार्टी का नेतृत्व कर रहे उ0नि0 घायल हो गये थे। इस घटना के सम्बंध में थाना तरया सुजान पर मु0अ0सं0 552/18 धारा 34/224/225/307/332/333/353भादवि व 7 सीएलए एक्ट विरूद्ध विजय साहनी आदि के पंजीकृत हुआ था।अभियुक्त विजय साहनी इस अभियोग में भी वांछित व पुरस्कार घोषित चल रहा था।विजय साहनी पुत्र शंकर साहनी सा0 खलवा चैनपट्टी थाना तरया सुजान जनपद मु0अ0सं0- 312/04 धारा 60 आबकारी अधिनियम थाना तरया सुजानकुशीनगर।
2-मु0अ0सं0- 46/12 धारा 4/25 आर्म्स एक्ट थाना तरया सुजान कुशीनगर। 3-मु0अ0सं0- 462/15 धारा 419/420/467/468 भादवि व 54/64 कापी राईट एक्ट व 60/62आबकारी अधिनियम थाना तरया सुजान कुशीनगर। 4-मु0अ0सं- 518/16 धारा 419/420/467/468/471/272 भादवि व 54/64 कापी राईट एक्ट व 60/62 आबकारी अधिनियम थाना तरयासुजान कुशीनगर। 5-मु0अ0सं0- 157/17 धारा 3(1) यूपी गैगेस्टर एक्ट थाना तरयासुजान कुशीनगर। 6-मु0अ0सं0- 59/18 धारा 323/504/506 भादवि व 3(1) द एससी/एसटी एक्ट थाना तरयासुजानकुशीनगर। 7-मु0अ0सं0241/18 धारा 60(2) आबकारी अधिनियम व 272 भादवि थाना तरयासुजानकुशीनगर। 8-मु0अ0सं0552/18 धारा 34/224/225/307/332/333/353 भादवि व 7 सीएलए एक्ट थाना तरयासुजानकुशीनगर। 9-मु0अ0सं0280/19 धारा- 41/411,भादवि थाना तरया सुजान , 10-मु0अ0सं0281/19 धारा 504/307,34 भादवि। 11-मु0अ0सं0281/19 धारा 3/25 आर्म्स एक्ट थाना तरयासुजान। एक अदद पिस्टल 32 बोर। दो अदद जिंदा कारतूस 32 बोर,एक अदद खोखा कारतूस 32 बोर,एक अदद पल्सर मोटर साइकिल बिना नम्बर रंग काला जो गोपालगंज बिहार से चोरी की गयी थी।इस घटना का सफल आनावरण करने में प्रभारी निरीक्षक सुशील कुमार शुक्ला थाना तरयासूूूजान, निरीक्षक सुनील कुमार राय स्वाट प्रभारी , उ0नि0 संजय कुमार सिंह चौकी प्रभारी तमकुहीराज, मुख्य आरक्षी मुबारक अली स्वाट टीम, मुख्य आरक्षी विनोद राय, हे0का0 सुशील सिंह सर्विलांस का0 आतिश कुमारसर्विलांस का0 अभिषेक यादव सर्विलांस, आरक्षी मनोज यादव थाना तरया सुजान, आरक्षी मानवेन्द्र सिंह, आरक्षी अनिल तिवारी, स्वाट टीम आरक्षी रणजीत यादव, स्वाट टीम आरक्षी शिवानन्द सिंह, स्वाट टीम आरक्षी शशिकेश गोस्वामी, स्वाट टीम आरक्षी संदीप यादव, चौकी तमकुहीराज आरक्षी अनिल कुमार आदि का सराहनीय योगदान रहा।

About the author

Aditya Prakash Srivastva