उत्तर प्रदेश कुशीनगर राजनीति राज्य

कुशीनगर :: सरकार गठन के बाद महिला मोर्चा की जिलाध्यक्षा ने गुलेलहा गांव में पहुंचकर समस्याओं को सुना और कार्यवाही का दिया आश्वासन

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

आदित्य प्रकाश श्रीवास्तव, कुशीनगर केसरी/kknews24 कुशीनगर(२ जून)। कुशीनगर जनपद के पडरौना विकासखंड के ग्राम सभा गुलेलहां में प्रधान द्वारा ग्रामवासियों को सरकार के किसी भी सुविधा का लाभ नहीं दिया गया है। वहीं जिसके घर शौचालय बनवाया गया भी है तो वह शौचालय बीना प्रयोग किए ही गिर गया। जब ग्रामीणों ने इसकी शिकायत प्रधान से किया तो प्रधान प्रतिनिधि उल्टा सीधा बकना शुरू कर दिया। वहीं जब ग्रामीणों ने गांव में आवास, सड़क, नाली और बिजली के बारे में कहा तो प्रधान प्रतिनिधि द्वारा बताया गया कि सरकार कोई विकास कार्य के लिए पैसा नहीं दे रही है। आज गांव में अपनी टीम के साथ पहुंचीं सत्ता दल की महिला मोर्चा की जिलाध्यक्षा को ग्रामीणों ने समाजसेवी धनंजय मिश्रा के अगुवाई में ज्ञापन सौंपकर गांव में विकास कार्य करवाने को कहा। वहीं अध्यक्षा ने भ्रष्ट प्रधान सहित जिम्मेदारों पर कार्यवाही का आश्वासन भी दिया। बताते चलें कि चुनावी भ्रमण के दौरान ग्रामीणों को दिये आश्वासन के क्रम में आज 2 जून को महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष चन्द्रप्रभा पांडे ने अपने सहयोगी यों के साथ गुलेलहा ग्रामसभा में पहुंची तो ग्रामीणों ने घेर लिया और अपनी-अपनी समस्याओं को बताने लगे। ग्रामीणों ने कहा कि जब प्रधान से आवास शौचालय के लिए कहा जाता है तो कहते हैं कि सरकार निकम्मी है कोई भी कार्य नहीं कर रही है, ना शौचालय दे रही है और ना ही आवाज दे रही है। कुछ ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि शौचालय और आवास के नाम पर प्रधान प्रतिनिधि सतीश चंद्र पाल द्वारा पैसे का भी मांग किया जाती है। वही शाहबुन नेशा पत्नी रसूल, जितेंद्र मिश्रा पुत्र काशीनाथ मिश्रा आदि ने बताया कि शौचालय के नाम पर प्रधान प्रतिनिधि द्वारा ₹1000 रूपया भी ले लिया गया और घटिया किस्म का शौचालय बनवा कर दे दिया गया, जो शुरू होने से पहले ही गिर गया। वहीं ग्रामीणों ने समाजसेवी डा धनन्जय मिश्रा की अगुवाई में शौचालय, आवास, सड़क, नाली व बिजली के पोल सहित गांव के विकास के लिए भाजपा नेत्री को ज्ञापन सौंपा। वही गांव में देखा गया कि लोगों के शौचालय शुरू होने से पहले ही गिर गए हैं, गांव में हुए इंटरलॉकिंग भी उखड़ रहे हैं और लोग पोल के अभाव में बांस कि बल्लियों के सहारे बिजली कनेक्शन लेने के बाद तार को अपने घरों तक लेकर आए हैं। इस बाबत जब प्रधान प्रतिनिधि सतीश चंद से संवादाता ने बातचीत करने का प्रयास किया तो बीमारी का बहाना बनाकर मिलने से इंकार कर दिया। इस बाबत जब भाजपा नेत्री से बातचीत किया गया तो उन्होंने बताया कि गांव की समस्याओं के बारे में वह सरकार के मंशा के विपरीत प्रधान द्वारा कार्य किए जाने का मामला संज्ञान में आया है इसका निस्तारण सांसद व अन्य भाजपा के वरिष्ठ लोगों से मिलकर कराया जाएगा। इस अवसर पर भाजपा महिला मोर्चा की मंडल अध्यक्ष पडरौना रंजना श्रीवास्तव, समाजसेवी रीता अस्थाना, डाक्टर शिप्रा मिश्रा, अनु मिश्रा, आशीष कुमार मिश्रा, चंद्रावती, मीना, बलदाऊ, अनिरुद्ध, उषा, रूमाली, कलामुद्दीन, प्रीति देवी, आरती, माधुरी देवी, पुष्पा, ललिता सहित दर्जनों की संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे।

About the author

Aditya Prakash Srivastva