पटना बिहार राज्य

पटना :: बिहार की खास खबरें एक नजर में एकसाथ

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विजय कुमार शर्मा, कुशीनगर केसरी/ kknews24 बिहार की रिपोर्ट…..

डीएम रमण कुमार के नेतृत्व में “आर्थिक हल, युवाओं को बल ” योजना क्रियान्वयन की विस्तृत समीक्षा बैठक हुई सम्पन्न

मोतिहारी :: पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार जिला पदाधिकारी के नेतृत्व में “आर्थिक हल,युवाओं को बल” अन्तर्गत बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना , मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता भत्ता योजना, कुशल युवा कार्यक्रम के अद्यतन क्रियान्वयन की विस्तृत समीक्षा की गई। उक्त बैठक में उप विकास आयुक्त अखिलेश कुमार सिंह, जिला योजना पदाधिकारी, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी , प्रबंधक डीआरसीसी आदि उपस्थित थे। युवाओं को उच्च शिक्षा हेतु प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से क्रियान्वित बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना अन्तर्गत 7 जून 2019 तक कुल 601 आवेदन स्वीकृत किए गए है।मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता भत्ता योजना अन्तर्गत स्वीकृत आवेदनों की संख्या 22267 है।कुशल युवा कार्यक्रम के तहत स्वीकृत आवेदनों की संख्या 35376 है। इस प्रकार समेकित रूप से उक्त तीन योजनाओं में कुल स्वीकृत आवेदनों की संख्या 58244 है। कुशल युवा कार्यक्रम के तहत निर्धारित शर्तों के अनुसार युवाओं को कंप्यूटर/भाषा का प्रशिक्षण प्रखंडों में कार्यरत कौशल विकाश केन्द्र में प्रदान किया जाता है। उक्त योजना के तहत अभी तक कुल 30240 युवा प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके है। बैठक में यह तथ्य उभरकर सामने आया कि प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके युवाओं हेतु रोजगार कैंप का आयोजन भी किया गया था। स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना के प्रचार प्रसार हेतु सोमवार को सभी महाविद्यालय में कैंप का आयोजन किया जाना प्रस्तावित है। बैठक में निजी कोचिंग संस्थान प्रबंधक के साथ बैठक के आयोजन का निर्देश दिया गया है।

बाल श्रम के विरूद्ध जन जागरूकता अभियान के तहत प्रचार रथ को डिएम ने हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

मोतिहारी :: समाहरणालय स्थित राधाकृष्ण भवन में जिला पदाधिकारी के नेतृत्व में राज्य कार्य योजना एवं बाल एवं किशोर स्त्रम (प्रतिषेध एवम् विनियमन) अधिनियम,1986 के अनुश्रवण,पर्यवेक्षण तथा इसके प्रभावी क्रियान्वयन हेतु जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक आयोजित की गई। उक्त बैठक में अध्यक्ष जिला परिषद प्रियंका जायसवाल , अध्यक्ष नगर परिषद मंजू देवी , उप विकास आयुक्त अखिलेश कुमार सिंह, सिविल सर्जन बीके सिंह , जिला शिक्षा पदाधिकारी प्रभात कुमार पंकज , जिला कल्याण पदाधिकारी सुशील कुमार सिन्हा, लेबर सुपरिटेंडेंट , जिला जनसंपर्क पदाधिकारी , अपर पुलिस अधीक्षक, जिला विधिक सेवा प्राधिकार प्रतिनिधि, भारतीय मजदूर संघ के प्रतिनिधि, कार्यक्रम पदाधिकारी, निर्देश, पूर्वी चंपारण एवम् अन्य संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे।जिला स्तरीय टास्क फोर्स जिसका गठन विभागीय प्रावधानों के अनुसार जिला पदाधिकारी के नेतृत्व में किया गया है का मुख्य कार्य बाल श्रमिको की पहचान, विमुक्ति एवम् पुनर्वास हेतु प्रभावकारी प्रयास करना है। टास्क फोर्स की बैठक में विधिसम्मत प्रावधानों के संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई।विधिसम्मत प्रावधानों के अनुसार 14 या 14 वर्ष से कम उम्र के बच्चो को बाल श्रम में सलग्न किए जाने की स्थिति में आर्थिक , कारावास का दण्ड दिए जाने का प्रावधान है। बाल श्रमिको के विमुक्ति हेतु संबंधित विभागों , गैर सरकारी संस्था “निर्देश” के सहयोग एवम् समन्वय से धावा दल द्वारा अनेक बच्चो को बाल श्रम से विमुक्त कराया गया है।विमुक्त कराए गए बच्चो को नियमानुसार पुनर्वास,आर्थिक सहायता हेतु सीएलटीएस (child labour tracking system) में प्रविष्टि की जाती है। जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक में कार्यक्रम पदाधिकारी “निर्देश” संस्था द्वारा बाल मजदुर विमुक्ति/पुनर्वास के क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों के संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई। जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक का नेतृत्व कर रहे जिला पदाधिकारी ने इस अवसर पर बच्चो के शिक्षा की आवश्यकता पर बल दिया एवं सभी अनुषंगी विभागों को बाल श्रम उन्मूलन की दिशा में ठोस पहल करने का निर्देश दिया है।उक्त अवसर पर जिला परिषद अध्यक्ष ने अपने विचार व सुझावों से अवगत कराया। बाल श्रम के विरूद्ध जन जागरूकता अभियान के तहत प्रचार रथ को जिला पदाधिकारी , अध्यक्ष जिला परिषद, नगर परिषद अध्यक्ष द्वारा हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया।

गार्ड के सूझबूझ से टला रेल हादसा वरना हो जाती बड़ी घटना

मोतिहारी :: बिहार के मोतिहारी नरकटियागंज रेल खण्ड के बीच बेतिया में सत्याग्रह एक्सप्रेस में उस समय अफरा-तफरी मच गई जब एस 2 बोगी के नीचे से अचानक धुआं निकलने लगी. आग की चिंगारी और तेज आवाज से यात्रियों में हड़कंप मच गया हालांकि ट्रेन के गार्ड ने तुरंत ही कंट्रोल रूम को सूचना दी जिसके बाद नरकटियागंज पहुंचने पर कैरेज कर्मियों ने जांच की और ब्रेक बाइंडिंग को ठीक कर ट्रेन को रवाना कर दिया।
बता दें कि शनिवार को बिहार में चल रही ट्रेनों में ये दूसरा बड़ा वाकया हुआ है जो ट्रेन कर्मियों की तत्परता से बड़े हादसे में तब्दील होने से पहले ही टल गया. गौरतलब है कि शनिवार को समस्तीपुर रेलवे रुट पर भी एक बड़ा हादसा टल गया।

बालू लदे ट्रक के पीछे घुस गई कार, तीन युवक की मौत

मुजफ्फरपुर :: भीषण सड़क हादसा हुआ है. सरैया के रेवाघाट के पास हुए इस हादसे में तीन लोगों की मौत हो गई है. बताया जा रहा है कि एक बालू लदी ट्रक में कार ने पीछे से ऐसा धक्का मारा कि आधी कार ट्रक के नीचे समा गई। ट्रक के पिछले हिस्से में कार ऐसे घुस गई कि कार चलाने वाला युवक, आगे बैठा एक अन्य युवक और पीछे की सीट पर सवार युवक की मौके पर ही मौत हो गई। ट्रक के पीछे घुसी कार इस करद फंस गई कि उसे क्रेन की मदद से निकालना पड़ा। क्रेन की मदद से कार को निकाला जा रहा है ताकि शवों को निकाला जा सके।

65वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल बेतिया सीमांत प्रशिक्षण केंद्र बगहा में जवानों ने मिलकर मनाया “श्रमदान”

बगहा :: 65वी वाहिनीं सशस्त्र सीमा बल ने डिप्टी कमांडेंट सतीश चंद्र गंगवार एवं जवानों ने श्रमदान किया।इस मौके पर निरीक्षक/सामान्य आशित कुमार ने बताया कि श्रमदान का श्री गणेश 23 जनवरी 1953 को हुआ।दान का अर्थ हैं नि:स्वार्थ भाव से बिना किसी प्रतिफल की इच्छा अथवा आशा के किसी जरूरमन्द व्यक्ति को उसकी आवश्यकता की वस्तु श्रमदान प्रदान करना। दान अनेक प्रकार का हो सकता।रक्तदान,विद्यादान,अन्नदान,तुलादान,मुद्रादान,और श्रमदान आदि। किसी व्यक्ति अथवा समाज की महती आवश्यकता को यदि कुछ लोग मिलकर बिना परिश्रमिक लिए शारीरिक श्रम द्वारा पूरा कर दें तो यह श्रमदान के अंर्तगत आएगा।उदाहरणस्वरूप किसी सार्वजनिक मार्ग में उत्पन्न हुई किसी बाधा को दूर करना,पानी की निकासी की व्यवस्था करना,मार्ग बनाना अथवा सिंचाई की व्यवस्था को सरल और सुगम बनाना, सार्वजनिक स्थलों का रख रखाव अथवा सफाई आदि में सहयोग करनी सभी श्रमदान द्वारा सम्पन्न किये जा सकते हैं।
श्रमदान भारतवर्ष की अन्य प्राचीन परंपराओं में से एक प्राचीन भारत में इसका अपना एक अलग की महत्व था जनता सच्चे हृदय से एक दूसरे के कामों में हाथ बंटाती थी,परस्पर सहानुभूति,सहयोग और संवेदना थी योगदान का अर्थ है।स्वार्थ रहित होकर जन कल्याण के कार्यों में अपनी अर्जित शक्तियों द्वारा पूर्ण रुप से सहयोग देना। श्रमदान में राष्ट्र-हित की समस्याओं के साथ साथ सामाजिक और अखिल विश्व की कल्याणकारी भावनाओं का समन्वय भी रहता हैं।श्रमदान से किसी राष्ट्र की आर्थिक स्थिति के सुधार के साथ-साथ राष्ट्र को पूर्ण शक्तिशाली बनाने में अमूल्य सहायता प्राप्त होती हैं।

इस आंदोलन का प्रमुख उद्देश्य जनता में नि:स्वार्थ भाव से रचनात्मक कार्यों के प्रति रुचि उत्पन्न करना तथा परस्पर सहयोग की भावना की वृध्दि करना हैं। अब तक भारत के ग्रामों की दशा बड़ी ही दयनीय थी। इसलिए भारत सरकार ने अपनी प्रथम पंचवर्षीय योजना में ग्राम सुधार योजना में ग्राम सुधार योजना को विशेष महत्व दिया था। आधुनिक काल मे श्रमदान का निकटतम सम्बंध ग्राम सुधार योजनाओं से ही हैं।ग्राम सुधार योजनाओं का सफलता प्रदान करना ही श्रमदान का प्रमुख लक्ष्य हैं।सभी वाहिनी के जवानों ने मिलकर रस्ते बनाना,परिसर की स्वच्छता और सीमा चौकी में भी श्रमदान का आयोजन किया गया। इस अवसर पर सहायक उप निरीक्षक रोशन लाल,सहायक उप निरीक्षक हंसराज, सहायक उप निरीक्षक/मंत्रालियिक परविंदर कुमार,मुख्य आरक्षी/मंत्रालियिक अंकित कुमार,मुख्य आरक्षी/मंत्रालियिक जोतिराम पाटील एवं अधीनस्थ अधिकारी व सभी जवान उपस्थित रहे।

पश्चिम बंगाल में बिहार के लोगों पर हमला और पिटाई करने का मामला आया सामने

पटना :: घटना पश्चिम बंगाल के बर्धमान इलाके की है जहां असामाजिक तत्वों ने बिहारी यात्रियों को निशाना बनाते हुए उन पर हमला बोला और उनके साथ मारपीट की, 20-25 की संख्या में थे हमलावर।

इस मामले में पटना के जक्कनपुर थाने में शिकायत दर्ज कराया गया है। पीड़ित यात्रियों की बस जब पटना पहुंची तो वहां लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। जानकारी के मुताबिक घटना को अंजाम देने वाले असामाजिक तत्व 20-25 की संख्या में थे। यात्रियों ने पुलिस को बताया कि सभी बंगाल टाइगर बस से कोलकाता से पटना आ रहे थे, इसी दौरान उनकी बस को निशाना बनाते हुए हमला किया गया।

About the author

Aditya Prakash Srivastva