उत्तर प्रदेश कुशीनगर राज्य

कुशीनगर :: पिता की हत्या के बाद हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए एसपी कुशीनगर को दिया प्रार्थनापत्र

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

आदित्य प्रकाश श्रीवास्तव, कुशीनगर केसरी/ kknews24 कुशीनगर। अपने पिता की हत्या को लेकर दिए तहरीर के निर्मित एक व्यक्ति ने पुलिस अधीक्षक कुशीनगर को प्रार्थना पत्र देकर मांग किया है कि उसके पिता को कुछ लोगों ने धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या के नियत से मृत जानकर नाले के किनारे फेंक दिया था बहुत खोजने पर दूसरे दिन अस्पताल से पता चलनेे पर परिजन अस्पताल पर पहुंचे लेकिन मामला संगीन होने के नाते डॉक्टरों ने मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया, जहां उसके पिता की मौत हो गई। एसपी को दिए तहरीर में वादी ने बताया है कि थाना नेबुआ नौरंगिया द्वारा मुकदमा लिख कर केवल कोरमपूूूर्ति कर लिया गया है। उसके बाद अब तक कोई कार्यवाही नहीं की गई है। अपराधी सरेआम घुम रहेे हैं और पीड़ित परिवार को जान से मारने की धमकी देते फिर रहे हैं।

गौरतलब है कि बैजनाथपुर टोला ढोल छपरा थाना कोठीभार जनपद महाराजगंज निवासी अनवर अली पुत्र छविलाल ने पुलिस अधीक्षक कुशीनगर को प्रार्थना पत्र देकर अपने पिता के दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही करने का मांग किया है। पुलिस अधीक्षक को दिए प्रार्थना पत्र में अनवर ने बताया है कि उसके पिता को कुछ लोगों द्वारा गाड़ी में बैठा कर बेलघाट के पास खैरवा स्थान के नाले में धारदार हथियार से हत्या के नियत से गले पर हमला करके मृत जान कर फेंक दिए थे। रातभर खोजने पर कहीं भी पता नहीं चला। दुसरे दिन सुबह जानकारी होने पर नेबुआ नौरंगिया थाने की पुलिस ने जिला अस्पताल कुशीनगर भेजवाया तब जाकर परिजनों को पता चला। आगे अनवर अली ने बताया कि जिला चिकित्सालय कुशीनगर से डॉक्टरों ने मेडिकल कॉलेज गोरखपुर के लिए रेफर कर दिया जहां पर मेरे पिताजी ने इलाज के दौरान पुलिस व डक्टर को रिकॉर्डेड बयान दिया की मैंने वीडियो बना दिया वीडियो में अपना बयान दे दिया है, जोकि जरूरत पड़ने पर हमारी बच्चों को काम आ सके। मृत्यु के बाद नेबुआ नौरंगिया थाने में क्राइम नंबर 147/19 दर्ज किया गया है। लिखित भी बयान दिया गया है।  गए एसपी को दिए प्रार्थना पत्र में अनवर ने बताया है कि नेबुआ नौरंगिया के थाने के दरोगा अवधेश सिंह मामले में विवेचना अधिकारी हैं बार-बार दबाव बना रहे हैं कि और आप ओरिजिनल डाक्यूमेंट्स मेरे पास जमा करा दो और आगे अनवर ने कहा कि मुझे शक है कि हमारे ओरिजिनल डाक्यूमेंट्स और वीडियो के साथ छेड़छाड़ कर हमारे पिताजी को न्याय से वंचित कर दिया जाएगा। आगे यह भी कहा कि कोई सक्षम अधिकारी इस वीडियो व डॉक्यूमेंट को अपने गिरफ्त में सुरक्षित लेना चाहता है तो मैं देने के लिए तैयार हूं। आगे एसपी को दिए प्रार्थना पत्र में यह भी बताया कि विपक्षियों द्वारा बार-बार दबाव बनाया जा रहा है कि समझौता कर लो नहीं तो पूरे परिवार सहित तुमको भी तुम्हारे पिताजी के पास पहुंचा दिया जाएगा।

अब सवाल यह उठता है कि मां पिता के मरने के बाद एक तरफ पूरा परिवार सपने में वहीं दूसरी तरफ इस पीड़ित परिवार को कहीं से न्याय मिलता दिखाई नहीं दे रहा है। बार-बार विपक्षियों द्वारा धमकी दी जा रही है, जिसकी जानकारी वादी ने थाने को भी दी लेकिन थाने द्वारा भी कोई ठोस कदम न उठाकर विपक्षियों का हींं साथ दिया जा रहा है।

About the author

Aditya Prakash Srivastva