पश्चिमी चम्पारण बिहार बेतिया राज्य

बेतिया(प.चं.) :: नालियों का मार्ग अवरूद्ध करने, कचरा फेंकने तथा अतिक्रमण करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई करने का जिलाधिकारी ने दिया निदेश, 40 अतिक्रमणकारियों को भेजा गया नोटिस

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विजय कुमार शर्मा, कुशीनगर केसरी/kknews24, बिहार(09 जून)। नगर निगम बेतिया द्वारा बरसात के मद्देनजर जल निकासी की सुदृढ़ व्यवस्था हेतु किये जा रहे विभिन्न कार्यों की गहन समीक्षा की गयी तथा नगर निगम के अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया गया। साथ ही नगर निगम को तत्परतापूर्वक कार्य करने की सख्त हिदायत दी गयी।
जिलाधिकारी ने कहा कि आसन्न मानसून को देखते हुए नगर निगम क्षेत्र में कहीं भी जलजमाव की स्थिति नहीं होनी चाहिए। ऐसी व्यवस्था करें कि सुगमतापूर्वक बिना किसी अवरोध के जल की निकासी हो सके। जिलाधिकारी ने कहा कि एण्ड-टू-एण्ट तक प्राॅपर तरीके से छोटे-बड़े नालों की अच्छी तरीके से साफ-सफाई कराना सुनिश्चित करें ताकि शहर का पानी आसानी से विभिन्न नदियों में जाकर समाहित हो सके। साथ ही चंद्रावत, अंधेरी-चुनरी, कोहड़ा आदि नदी जहां शहर का पानी जाकर गिरता है, वहां भी अच्छे तरीके से सफाई सुनिश्चित किया जाय ताकि बिना किसी बाधा के पानी नदियों में गिर सके। समीक्षा के क्रम में बताया गया कि कुछ लोगों द्वारा विभिन्न जगहों पर नालियों का अतिक्रमण कर लिया गया है जिससे जलनिकासी में बाधा उत्पन्न हो रही है। इस संदर्भ में 40 अतिक्रमणकारियों को नोटिस भी किया गया है। जिलाधिकारी ने निदेश दिया कि नालों में कचरा फेंकने, जलनिकासी मार्ग अवरूद्ध करने तथा अतिक्रमण करने वाले व्यक्तियों को चिन्हित करते हुए उनको नोटिस करें, जुर्माना करें तथा विभागीय निदेशानुसार सख्त कार्रवाई भी करें। उन्होंने कहा कि शहर को जलजमाव से बचाने हेतु हरसंभव प्रयास करें, किसी भी सूरत में जलजमाव की समस्या नहीं होने पाए। जिलाधिकारी ने कहा कि नगर निगम द्वारा जलनिकासी हेतु किये जा रहे कार्यों की फोटोग्राफी, वीडियोग्राफी कराना सुनिश्चित किया जाय। साथ ही शहर से निकलने वाले विभिन्न नालों का निरीक्षण करें तथा जहां-जहां अवरोध है वहां त्ववित कार्रवाई करते हुए जलनिकासी करायें। आवश्यकतानुसार कच्चा नाला का निर्माण भी करायें, ह्यूम पाईप भी लगाये, ह्यूम पाईप की अच्छे तरीके से सफाई करें ताकि जल निकासी में बाधा उत्पन्न नहीं हो। एसडीएम, बेतिया को निदेश दिया गया कि जल निकासी हेतु किये जा रहे कार्यों का लगातार निरीक्षण तथा अनुश्रवण करेंगे। जिलाधिकारी द्वारा गुगल अर्थ के माध्यम से विभिन्न नदी, नालों का मुआयना भी किया गया। नगर निगम के अधिकारियों द्वारा बताया गया कि बानूछापर क्षेत्र के जल निकासी के लिए कच्चा नाला की व्यवस्था की जा रही है जो मैनाटांड़ रोड में लोहिया पुल के समीप जाकर समाप्त होगा और अंधेरी-चुनरी नदी में जाकर गिरेगा। वहीं सर्किट हाउस-ऑफिसर काॅलोनी-होमगार्ड काॅलोनी के पीछे से होते हुए मोहर्रम चैक-विपिन हाईस्कूल चैक-कलेक्ट्रेट चैक-रेलवे स्टेशन चैक से मेन नाला तक की अच्छे तरीके से सफाई शीघ्र करायी जायेगी। साथ ही दुर्गाबाग-एजी मिशन से लेकर कोहरा नदी तक भी सफाई करायी जायेगा। जिलाधिकारी ने निदेश दिया कि शहर से निकलने वाले सभी नालों की अच्छे तरीके से साफ-सफाई अविलंब कराना सुनिश्चित करेंगे। इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही, कोताही एवं शिथिलता कतई बर्दाश्त नहीं की जायेगी। मानसून को देखते हुए पूरी तरह अलर्ट रहकर जलनिकासी की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित की जाय। जहां जलनिकासी की समस्या गंभीर है अथवा जल की निकासी में समस्याएं हैं वहां बरसात में मशीन के माध्यम से जलनिकासी करने की व्यवस्था की जाय। इस अवसर पर एसडीएम, बेतिया, श्री विद्यानाथ पासवान, विशेष कार्य पदाधिकारी, जिला गोपनीय शाखा, श्री बैद्यनाथ प्रसाद सहित नगर निगम, बेतिया के अधिकारी उपस्थित रहे।

About the author

Aditya Prakash Srivastva