उत्तर प्रदेश चुनाव प्रयागराज राज्य

प्रयागराज :: जिलाधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने अध्यक्ष जिला पंचायत केे लिए बने मतदान व मतगणना स्थल का किया स्थलीय निरीक्षण

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

रामआसरे, कुशीनगर केसरी/kknews24, प्रयागराज(०२ जुलाई)। निर्वाचन-2021 के चुनाव को सकुशल, निष्पक्ष एवं पारदर्शी ढंग से सम्पन्न कराये जाने हेतु सभी तैयारियां पूर्ण, चाक चौबंद व्यवस्था व सुरक्षा रहेगी। परिसर के अंदर मोबाइल फोन ले जाना पूर्णतया प्रतिबंधित रहेगा।
जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने जिला पंचायत अध्यक्ष पद के निर्वाचन को निष्पक्ष, पारदर्शी एवं सकुशल ढंग से सम्पन्न कराने के लिए मतदान व मतगणना स्थल जिला पंचायत कार्यालय का निरीक्षण किया एवं निर्वाचन से सम्बंधित व्यवस्थाओं का जायजा लिया। तत्पश्चात पुलिस लाइन के सभागार में प्रेक्षक अनिल कुमार एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी की उपस्थिति में पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों के साथ अध्यक्ष जिला पंचायत निर्वाचन-2021 के चुनाव को सकुशल, निष्पक्ष एवं पारदर्शी ढंग से सम्पन्न कराये जाने हेतु बैठक भी आयोजित की गयी। बैठक में प्रेक्षक ने अध्यक्ष जिला पंचायत निर्वाचन-2021 के चुनाव को सकुशल, निष्पक्ष एवं पारदर्शी ढंग से सम्पन्न कराये जाने हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। बैठक में जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी ने निर्देशित करते हुए कहा कि मतदान/मतगणना परिसर में मोबाइल फोन को ले जाना पूर्णतया प्रतिबंधित रहेगा। उन्होंने निर्धारित स्थलों पर बैरेकेटिंग की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित किये जाने के साथ-साथ निर्धारित स्थल पर पार्किंग की भी व्यवस्था सुनिश्चित कराये जाने का निर्देश दिया है। मतदान व मतगणना स्थल के अंदर एवं बाहर सीसीटीवी कैमरे की भी व्यवस्था सुनिश्चित की गयी है। मतदान प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी करायी जायेगी।वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने भी चुनाव को निष्पक्ष, सकुशल एवं पारदर्शी ढंग से सम्पन्न कराये जाने हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। अध्यक्ष जिला पंचायत निर्वाचन-2021 के चुनाव को सकुशल, निष्पक्ष एवं पारदर्शी ढंग से सम्पन्न कराये जाने हेतु सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था सुनिश्चित की गयी है। बैठक में एडीएम, एसडीएम, सीओ तथा पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारीगण उपस्थित रहे।

About the author

Aditya Prakash Srivastva