पश्चिमी चम्पारण बगहा बिहार राजनीति राज्य

बगहा(प.चं.) :: राज्यसभा सांसद सतीश चंद्र दुबे ने बिहार सरकार के जल संसाधन मंत्री को पत्र के माध्यम से बाढ़ की समस्या को कराया अवगत

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विजय कुमार शर्मा, कुुुुुशीनगर केेसरी/kknews24, बिहार(१६ जुुलाई)। राज्यसभा सांसद सह स्थायी समिति खाद्य उपभोक्ता एवं जनवितरण मंत्रालय,भारत सरकार एवं परामर्शदात्री समिति इस्पात मंत्रालय, भारत सरकार के सदस्य सतीश चंद्र दुबे ने बिहार सरकार के जल संसाधन मंत्री को पत्र के माध्यम से अवगत कराते हुए कहा,कि पश्चिमी चंपारण के प्रखंड नरकटियागंज के ग्राम पंचायत राज कुण्डिलपूर के बरगजवा गांव के पास दो पहाड़ी नदियां जमुआ एवं मनिहारी का मिलन होता है। साथ ही मनिहारी नदी के पास त्रिवेणी कनाल अवस्थित पुल के दक्षिण में लगभग 4 किलोमीटर तक जमींदारी बांध के पूर्व में अंग्रेज के जमाने से स्थित है।

वहीं वर्तमान समय में ये बांध बिल्कुल जीर्ण शिर्ण अवस्था में हैं। जिसके वजह से दोनों पहाड़ी नदियों के एक जगह वाले मोहानें के पास बरगजवा गांव के आसपास के लगभग 20 गांव का जनजीवन अस्त व्यस्त हो जाता है एवं किसान का फसल भी नष्ट हो जाता हैं। दूसरी ओर मसान नदी द्वारा संपूर्ण कटाव वाले जगह पर स्थायी रूप से बाँध निर्माण के संबंध में जल संसाधन मंत्री को अवगत कराया हैं कि उपरोक्त विषयक में कहना है कि नीचे निम्नलिखित जगहों पर स्थायी बाँध निर्माण का कार्य कराया जाए।
1. प्रखंड रामनगर के ग्राम पंचायत राज जोगिया के ग्राम शेरहवा,बहुवरी एवं इनारबरवा तीनों गांव मसान में विलीन होने के कगार पर हैं।( तत्काल में इन तीनों गांव के नदी में विलीन होने से बचाने के लिए जियो बैग या बोल्डर पिचिंग प्राथमिकता के आधार पर किया जाए) कार्य प्राथमिकता के आधार पर किया जाए)। 2 प्रखंड रामनगर के गुदगुदी पंचायत में मसान नदी से शेवरही बारवा, हरीहरपुर,उराँव टोला, चमरडीहा बडग़ांव के खलवा टोला का कटा हो रहा हैं। 3.प्रखंड रामनगर के सपही पंचायत के मसान नदी एवं सुखैड़ा नदी से ईमीरती कटहरवा गांव का कटाव हो रहा हैं।

उन्होंने जल संसाधन मंत्री, बिहार सरकार पटना को अवगत कराते हुए आग्रह किया है उपरोक्त वर्णित समस्याओं पर ध्यान आकृष्ट करते हुए जमीदारी बांध के जगह स्थायी बांध की निर्माण व बरसात बाद शिल्ट का निष्तारण कराया जाएं।जो जनहित में अति आवश्यकता हैं। मसान नदी द्वारा संपूर्ण कटाव वाले सभी जगहों पर स्थायी बांध का निर्माण कराई जाए। जिससे हर वर्ष बाढ़ की विभीषिका से जन मानस को बचाया जा सकें।

About the author

Aditya Prakash Srivastva