उत्तर प्रदेश कुशीनगर क्राइम राज्य

कुुुशीनगर :: शिक्षिका ने प्रबंधक के खिलाफ पुलिस अधीक्षक को प्रार्थना पत्र देकर लगाई न्याय की गुहार

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

आदित्य प्रकाश श्रीवास्तव, कुशीनगर केसरी/kknews24 कुशीनगर। विद्यालय को शिक्षा का मंदिर माना जाता है और गुरु को भगवान के ऊपर का दर्जा दिया जाता है लेकिन एक शिक्षिका और प्रबंधक के बातचीत में इस शिक्षा के मंदिर को भी तार-तार करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। जब शिक्षिका ने विद्यालय के प्रबंधक ओपी गुप्ता के मोबाइल नंबर 9452719698 पर फोन कर अपना बकाया सैलरी 39000(उन्तालीस हजार) की मांग किया तो प्रबंधक द्वारा फोन पर ही भद्दी भद्दी गालियों की बौछार किया जाने लगा और घर में आकर जान से मारने व प्रार्थिनी को जान माल की हानि पहुंचाने की धमकी देने लगा। जिससे तंग आकर पीड़ित शिक्षिका ने पुलिस अधीक्षक प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है।

जी हां बता दें कि कुशीनगर कसया निवासी शिक्षिका अंजुम आरा ने गीता इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल रविंद्र नगर कुशीनगर के पीआरओ के पद पर नियुक्त होने की बात कही है। आगे शिक्षिका ने प्रार्थना पत्र में आरोप लगाया है कि गीता इंटरनेशनल स्कूल के प्रबंधक ओपी गुप्ता नियुक्ति करने के बाद गलत निगाह से देखने लगा कभी-कभी ऑफिस में काम करते हुए अश्लील हरकत करने लगा और कहता था कि अगर स्कूल में नौकरी करनी है तो मेरे साथ हमबिस्तर भी होना पड़ेगा। जब इसका विरोध किया तो दिनांक १६ अप्रैल २०२१ को प्रधानाध्यापक आनंद अग्रवाल द्वारा कहा गया कि रोजा का समय है आप रोजा रखती हैं तो रोजा भर आप घर पर रहे और रोजा के बाद स्कूल आइएगा और प्रार्थिनी के मोबाइल पर २१ मई २०२१ को मैसेज आया कि आप को स्कूल से निकाल दिया गया है।जब शिक्षिका ने १२ अगस्त २०२१ को विद्यालय के प्रबंधक ओपी गुप्ता के मोबाइल नंबर 9452719698 पर फोन कर अपना बकाया सैलरी 39000(उन्तालीस हजार) की मांग किया तो प्रबंधक द्वारा फोन पर ही भद्दी भद्दी गालियों की बौछार किया जाने लगा और घर पर आकर जान से मारने व प्रार्थिनी को जान माल की हानि पहुंचाने की धमकी देने लगा। जिसका रिकॉर्डिंग भी मोबाइल में प्रार्थिनी में कर लिया। उक्त घटना को लेकर के प्रार्थिनी ने पुलिस अधीक्षक कुशीनगर को प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई। जब शिक्षा के मंदिर में शिक्षा के देवताओं द्वारा यह घटना किया जाएगा तो बच्चों के भविष्य पर क्या असर पड़ेगा यह तो भगवान ही जाने।

About the author

Aditya Prakash Srivastva