उत्तर प्रदेश मिर्जापुर राज्य

मिर्जापुर :: सूचना विभाग की प्रदर्शनी एवं सांस्कृृतिक कार्यक्रमों ने लुभाया श्रद्धालुओं का मन

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

● जिलाधिकारी ने फीता काटकर किया लोकल्याणकारी प्रदर्शनी एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम का शुभारम्भ ● विन्ध्य कारीडोर प्रजंटेशन, प्रदर्शनी व सांस्कृतिक कार्यक्रम, जन जागरण एवं ज्ञानवर्धक – जिलाधिकारी ● राम नवमी तक श्रद्धालुओं के लिये जागरूकता एवं ज्ञानवर्धक केन्द्र बनेगा सूचना विभाग की प्रदर्शनी एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम ● प्राचीन भारत कीे कला संस्कृति के संवर्धन एवं पुर्नजागरण हेतु प्रतिबद्ध – डा0 पंकज कुमार।

अन्नपूर्णा श्रीवास्तव, कुशीनगर केसरी/kknews24, मिर्जापुर(०८ अक्टूबर)। पावन पर्व शारदीय नवरात्र मेला के प्रथम दिन ’सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग’ द्वारा विन्ध्याचल रोडवेज बस स्टैण्ड पर प्रदेश सरकार की कल्याणकारी योजनाओं एवं जनजागरूकता प्रदर्शनी एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम का जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार एवं अपर जिलाधिकारी शिव प्रताप शुक्ल ने फीता काटकर, कलशदीप प्रज्जवलित करते हुये माँ विन्ध्यवासिनी को माल्यार्पण कर शुभारम्भ किया। इस मौके पर जिला सूचना अधिकारी डा0 पंकज कुमार ने अतिथियो एवं श्रद्धालुओं का स्वागत अभिनन्दन करते हुये दो बड़ी एल0ई0डी0 प्रचार वाहन द्वारा विन्ध्य कारीडोर मन्दिर परियोजना पर आधारित 05 मिनट की वीडियो प्रजंटेशन के माध्यम से मन्दिर परिसर के पुराने स्वरूप से प्रस्तावित निर्माणाधीन मन्दिर प्रारूप में हुये विकास कार्यो का अवलोकन कराया।

उपस्थित श्रद्धालुओं ने प्रदेश सरकार द्वारा प्राचीन सांस्कृतिक धरोहरों के पुननिर्माण के इस पुनीत कार्य की सराहना करते हुये विन्ध्यवासिनी मन्दिर के दिव्य एवं भव्य प्रारूप को नमन किया। प्रदर्शनी गैलरी में आत्म निर्भर उत्तर प्रदेश, महिला-युवा-किसान, सबका विकास-सबका सम्मान पर आधारित विभिन्न जनपयोगी योजनाओ-मिशन शक्ति, बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ, कोविड टीकाकरण, शिक्षा, स्वास्थ के साथ-साथ नमामि गंगे प्रर्दशनी गैलरी में राष्ट्रीय नदी गंगा के उदभव एवं विकास के विविध पर्यावरणीय, समाजिक-आर्थिक आयाम, जलवायु परिवर्तन, वृक्षारोपण सहित, ज्ञानवर्धक एवं जागरूकता का प्रचार-प्रसार करने का प्रयास किया गया हैं। सांस्कृतिक मंच पर श्रीमंत विद्यासागर प्रेमी संगीत ग्रुप ने माँ विन्ध्यवासिनी को समर्पित देवी गीत से कार्यक्रम का शुभारम्भ करते हुये श्रीमंत रमापति पाल एण्ड जागरण ग्रुप, श्रीमंत हरीराम यादव ने भजन, र्कीतन, कजरी, बिरहा, महिला सशक्तिकरण एवं नवरात्र पर आधारित लोकगीत-संगीत द्वारा श्रद्धालुओं को आध्यात्मिक भाव विभोर कर दिया। राष्ट्रीय कलाकार श्रीमंत जटाशंकर एण्ड दल ने प्राचीन भारत की विधा ’’चौलर नृत्य’’ एवं अपने हैरतअंगेज कर देने वाले जुबान में सुई एवं ब्लेड को रखकर गायिकी की प्रस्तुति से लोगो को आनन्दित एवं अचम्भित किया। जिलाधिकारी ने विन्ध्यकारीडोर प्रजंटेशन एवं लोकल्याणकारी योजनाओ एवं गंगा पर्यावरण गैलरी को लोगो के जागरूकता एवं ज्ञानवर्धन हेतु एक महत्वपूर्ण केन्द्र बताया। उन्होने कहा कि ऐसे कार्यक्रमो द्वारा हमे अपनी प्राचीन धरोहरो, लोकगीत-नृत्य की जीवन्तता से रूबरू होते है। अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) ने श्रद्धालुओं को समर्पित आध्यात्म एवं पर्यटन के नये क्षितिज पर आधारित विन्ध्य कारीडोर परियोजना एवं अष्टभुजा कालीखोह रोप-वे को मील का पत्थर बताया। जागरूकता एवं पर्यावरणीय गैलरी को देखकर अभिभूत होकर उन्होने इसे दर्शनार्थियो के लिये आध्यात्म एवं जन जागरण का संगम बताया। जिला सूचना अधिकारी डा0 पंकज कुमार ने कलाकारो के द्वारा भारत की प्राचीन लोकगायन-नृत्य को करने वाले कलाकारो को “जीवन्त इतिहासकार” कहा। उन्होने प्राचीन भारत कीे कला संस्कृति के संवर्धन एवं पुर्नजागरण हेतु अपनी प्रतिबद्धतता जताई। कार्यक्रम के संयोजक अपर जिला सूचना अधिकारी ओम प्रकाश उपाध्याय ने प्रदर्शनी एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम के उद्देश्य एवं रूपरेखा को बताते हुये कहा कि यह कार्यक्रम अनवरत राम नवमी तक श्रद्धालुओं के लिये समर्पित हैं। कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियो, श्रद्धालुओ, पत्रकार बन्धुओ, कलाकारो, पुलिस प्रशासन का अभिनन्दन करते हुये उन्होने सभी के प्रति आभार एवं धन्यवाद ज्ञापित किया।

About the author

Aditya Prakash Srivastva