उत्तर प्रदेश राज्य सरोकार सोनभद्र

सोनभद्र :: सिटी मैचुअल बेनिफिट इंडिया लिमिटेड में मनाया गया मां दुर्गा का भव्य देवी जगराता

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अनूप श्रीवास्तव, कुशीनगर केसरी/kknews24, सोनभद्र,
(१४ अक्टूबर)। जनपद के थाना पिपरी अन्तर्गत नगर मुर्धवा में सिटी मैचुअल बेनिफिट इंडिया लिमिटेड के सौजन्य से, हर्षोल्लास के साथ मनाया गया मां दुर्गा का देवी जागरण। मां दुर्गा की आराधना पूरे भारतवर्ष में शायद ही ऐसा कोई हो जो ना करता हो। मां की महिमा इतनी अपरंपार है कि वह अपने भक्तों को अपनी ओर आकर्षित कर ही लेती हैं।

बता दें कि सिटी मैचुअल बेनिफिट इंडिया लिमिटेड के डायरेक्टर मिस्टर “भागीरथी मौर्य” मां दुर्गा के असीम उपासक हैं। वह मां की महिमा के कायल हैं। मां के प्रति उनकी ऐसी श्रद्धा है कि उनके साथ-साथ उनके साथ के लोग भी मां की श्रद्धा में भाव विभोर हो जाते हैं। दुर्गाष्टमी की पावन बेला में भागीरथी मौर्य जी ने अपने निवास स्थान के पावन धरती पर “जगराता कार्यक्रम” मां के आशीर्वाद से प्रारंभ किया।

मां की जगराता में कई संगीत कलाकार, गीत कलाकार जगराता गाने व सजाने के लिए पधारे हुए थे। जगराता कि मंडली मां के भक्त कृष्णा कुमार की थी। कृष्णा कुमार अत्यंत ही मृदुभाषी, सरल व निर्मल स्वभाव के व्यक्ति हैं। अपने क्षेत्र में कृष्णा कुमार बहुत ही चर्चित कलाकार हैं। भारी संख्या में उपस्थित होकर मां के भक्तों ने मां के जगराता का आनंद लिया। जगराते के दौरान थोड़े-थोड़े समय पर जलपान की व्यवस्था लगातार चल रही थी। मां दुर्गा के जो भी भक्त उपवास थे, उन्हें फलाहार दिया जा रहा था। डायरेक्टर भागीरथी मौर्य उपस्थित सभी लोगों को स्वयं अपने हाथ से चाय, मिष्ठान, फलाहार दे रहे थे। उपस्थित सभी लोगों ने उनके इस सरल स्वभाव की बहुत तारीफ की। मौर्या जी ने कहा यहां उपस्थित सभी लोग मां के भक्त और मेरे मेहमान हैं आप की सेवा करना मैं अपना सौभाग्य समझता हूं।

काफी जोर-शोर हर्षोल्लास ,नाच गाने के साथ मां का जगराता धूमधाम से होता रहा। जगराते के जयकारे जोर-जोर से लगाते रहे। सभी लोगों ने मां के जागरण का आनंद लिया और सफल कार्यक्रम के लिए मौर्या जी को धन्यवाद कहा। जगराते के अंत में महादेवी की आरती की गई। तत्पश्चात जगराते का समापन हुआ। सभी भक्तों को भागीरथी मौर्य जी ने अपने हाथों से प्रसाद वितरण कर भावभीनी विदाई की।

About the author

Aditya Prakash Srivastva

Leave a Comment