उत्तर प्रदेश मिर्जापुर राजनीति राज्य

मिर्जापुर :: प्रधानमंत्री के द्वारा सिद्धार्थनगर से प्रदेश के नौ जनपदों के मेडिकल कालेजो को वर्चुअल माध्यम से बटन दबाकर किया गया लोकार्पण

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

::– वर्चुअल माध्यम से लोकार्पित मेडिकल कालेजो में  “मां विन्ध्यवासिनी स्वाशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय (मेडिकल कालेज)” मीरजापुर का भी किया गया प्रधानमंत्री द्वारा लोकार्पण ::– लोकार्पण अवसर पर मीरजापुर मेडिकल कालेज में आयोजित समारोह में केन्द्रीय राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल एवं जनपद के प्रभारी मंत्री दारा सिंह चौहान रहे उपस्थित। ::– 232.97 करोड़ की लागत से बने मेडिकल कालेज मीरजापुर के सौ एम0बी0बी0एस0 के छात्रो को मिलेगा प्रवेश – अनुप्रिया पटेल ::– मीरजापुर व आसपास के नागरिको के लिये मेडिकल कालेज बड़ी उपलब्धी – दारा सिंह चैहान।

अन्नपूर्णा श्रीवास्तव, कुशीनगर केसरी/kknews24, मिर्जापुर (२५ अक्टूबर)। प्रधानमंत्री भारत सरकार नरेन्द्र मोदी के द्वारा जनपद सिद्धार्थनगर से 2329 करोड़ की लागत से नव निर्मित प्रदेश के नौ जनपदों सिद्धार्थनगर, एटा, प्रतापगढ़, मीरजापुर, हरदोई, देवरिया, गाजीपुर, फतेहपुर एवं जौनपुर का बटन दबाकर वर्चुअल माध्यम से उद्घाटन एवं लोकार्पण किया गया। इस अवसर पर सिद्धार्थनगर में आयोजित भव्य कार्यक्रम में प्रधानमंत्री के साथ प्रदेश के महामहिम राज्यपाल श्रीमती आनन्दी बेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ, मा0 मंत्री स्वास्थ, उर्वरक एवं रसायन मंत्रालय भारत सरकार मनसुख मांडविया, उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी स्वतंत्र देव सिंह के अलावा अन्य जन प्रतिनिधिगण उपस्थित रहें। इसी क्रम में जनपद मीरजापुर में 232.97 करोड़ रूपये की लागत से नव निर्मित मां विन्ध्यवासिनी स्वाशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय/मेडिकल कालेज के उद्घाटन अवसर पर मेडिकल कालेज में आयोजित भव्य समारोह में मा0 राज्यमंत्री वाणिज्य एवं उद्योग भारत सरकार श्रीमती अनुप्रिया पटेल, मा0 मंत्री वन, पर्यावरण एवं जन्तु-उद्यान विभाग उत्तर प्रदेश/जनपद के प्रभारी मंत्री श्री दारा सिंह चैहान, ऊर्जा राज्यमंत्री उत्तर प्रदेश श्री रमाशंकर सिंह पटेल, मा0 विधायक नगर श्री रत्नाकर मिश्र, मा0 विधायक मझवा श्रीमती शुचिस्मिता मौर्या, मा0 अध्यक्ष नगर पालिका श्री मनोज जायसवाल, मा0 अध्यक्ष अपना दल इं0 राम लौटन विन्ध्य, मण्डलायुक्त विन्ध्याचल परिक्षेत्र श्री योगेश्वर राम मिश्र, जिलाधिकारी श्री प्रवीण कुमार लक्षकार, पुलिस अधीक्षक श्री अजय कुमार सिंह, मुख्य विकास अधिकारी श्रीलक्ष्मी वीएस के अलावा भारतीय जनता पार्टी व अपना दल पदाधिकारी उपस्थित रहें। प्रधानमंत्री जी के वर्चुअल माध्यम से लोकार्पण के बाद प्रेस प्रतिनिधियो से वार्ता करते हुये राज्यमंत्री वाणिज्य एवं उद्योग भारत सरकार श्रीमती अनुप्रिया पटेल ने कहा कि उनके लिये सपनो को पूरा होने जैसा यह अनुभव हैं। आज मा0 प्रधानमंत्री जी द्वारा 2329 करोड़ की लागत से प्रदेश के नौ जनपदो को मेडिकल कालेज उत्तर प्रदेश की जनता को समर्पित किये गये हैं। उन्होने बताय कि सिद्धार्थनगर, एटा, प्रतापगढ़, मीरजापुर, हरदोई, देवरिया, गाजीपुर, फतेहपुर एवं जौनपुर इन सभी जनपदो में मेडिकल कालेज बनकर तैयार हुये है। इसी क्रम में जनपद मीरजापुर में 232.97 करोड़ की लागत से मां विन्ध्यवासिनी स्वाशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय/मेडिकल कालेज बनकर तैयार हो गया है। उन्होने कहा कि अब इस मेडिकल कालेज में नीट के माध्यम से 100 एम0बी0बी0एस0 की सीटो पर छात्रो को प्रवेश मिलेगा। उन्होने कहा कि यहाॅ पर दूर दराज एवं स्थानीय छात्रो को अच्छी मेडिकल की शिक्षा मिलेगी उसके साथ हमारे इस जनपद और आस पास के लोग जिन्हे अच्छी चिकित्सा व्यवस्था के लिये जनपद के बाहर जाना पड़ता था अब उन्हे हमारे इस मेडिकल कालेज के माध्यम से बहुत ही उत्तम चिकित्सा सुविधायें उपलब्ध होंगी। मा0 केन्द्री मंत्री ने खुशी जाहिर करते हुये कि आज हम सब के लिये यह गौरव का भी दिन है और मीरजापुर जनपदवासियों के लिये ऐतिहासिक व प्रसन्नता का दिन हैं। उन्होने कहा कि बहुत ही अच्छा मेडिकल कालेज का भवन बनकर तैयार हुआ है हम सभी शुभकामनायें है कि इस मेडिकल कालेज का भविष्य उज्ज्वल हो और यहाॅ से बेहतरीन शिक्षा लेकर बच्चे देश के नामी गिनामी डाक्टर बनेंगे।
प्रदेश के मंत्री वन, पर्यावरण एवं जन्तु-उद्यान विभाग उत्तर प्रदेश/जनपद के प्रभारी मंत्री दारा सिंह चैहान ने कहा कि मेडिकल कालेज के चालू हो जाने से मीरजापुर जनपद व आस पास के लोगो के लिये एक बड़ी उपलब्धी है जिन्हे अच्छी मेडिकल सुविधा के लिये जनपद के बाहर जाना पड़ता था अब उन्हे यही पर उच्च स्तरीय मेडिकल सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। उन्होने कहा कि मेडिकल कालेज के चालू होने से अन्य लोगो को भी रोजगार के अनके सुविधाये मिलेंगी। मेडिकल कालेज के प्रभारी प्राचार्य ने मेडिकल कालेज के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुये बताया कि मार्च 2019 से प्रारम्भ होने वाले इस परियोजना की कुल लागत 232.97 करोड़ है। इस मेडिकल कालेज लिये 30.56 एकड़ भूमि उपलब्ध है नये परिसर में प्रशासनिक एवं शैक्षिणक भवन, संकाय सदस्य एवं रेजीडेण्ट आवास एवं छात्र-छात्राओ के लिये आवासीय सुविधा उपलब्ध हैं। इस महाविद्यालय में एम0बी0बी0एस0 के 100 छात्रो को प्रतिवर्ष नीट के माध्यम से प्रवेश मिलेगा यह महाविद्यालय अटल बिहारी बाजपेयी आर्युविज्ञान विश्वविद्यालय लखनऊ से सम्बद्ध हैं। संकाय सदस्य के 51 स्वीकृत पद के सापेक्ष वर्तमान में 45 कार्यरत हैं। सीनियर रेजीडेण्ट 24 स्वीकृत के सापेक्ष 24 कार्यरत, जूनियर रेजीडेण्ट के 50 स्वीकृत पद के सापेक्ष 50 कार्यरत तथा 48 पैरामेडिकल, 173 नर्सिंग एवं 31 लिपकीय संवर्ग तथा 319 चतुर्थ श्रेणी एवं एक जेई और एक इलेक्ट्रिक टेकनीशियन की नियुक्ति महानिदेशालय में प्रकियाधीन हैं। मेडिकल कालेज से सम्बद्ध जिला चिकित्सालय में चिकित्सको की संख्या 42 चिकित्साधिकारियो के सापेक्ष 30 चिकित्साधिकारी कार्यरत हैं। जिला चिकित्सालय में 303 बेड उपलब्ध हैं एवं 300 बेड का हास्पिटल निर्माणाधीन हैं। 100 एल0पी0एम0 आक्सीजन प्लांट की स्थापना पी0एम0 केयर फण्ड द्वारा की जा चुकी हैं, 260 एल0पी0एम0 आक्सीजन प्लांट की स्थापना आर0सी0एफ0 संस्था द्वारा एवं 570 एल0पी0एम0 आक्सीजन प्लांट की स्थापना एन0एच0पी0सी0 संस्था द्वारा हो चुकी हैं। 102 एवं 108 नम्बर पर 60 निशुल्क एम्बुलेंस 04 ए0एल0एस0 तथा रेडियो इमेंजिंग लैब एवं ब्लड बैंक की सुविधा उपलब्ध हैं। नये परिसर के प्राशासनिक एवं शैक्षिणक भवन एनाॅटमी, फीजियोलाजी, बायोक्मक्मेस्ट्री, पैथोलाजी, माइक्रोबायोलाजी, फार्माकोलाजी, क्म्यूनिटी मेडसिन, फोरन्सिक मेडिसिन, मेडिकल एजुकेशन यूनिट से सम्बन्धित पर्याप्त आधारभूत संरचना मौजूद है। मेडिकल कालेज प्राधानाचार्य कार्यालय के साथ-साथ दो व्याख्यानं कक्ष, एक डिक्सेशन हाल, 04 प्रयोगशाला, 04 डिमांसट्रेशन कक्ष, 400 छात्रों एवं अध्यापको के लिये पुस्ताकालय एवं 03 विभागीय पुस्ताकालय के साथ-साथ 30 संकाय सदस्यो के कक्ष तथा कालेज काउंलिंग की स्थापना हो गयी है एवं एक मल्टी पर्पज हालॅ का निर्माण अभी निर्माणाधीन हैं। एन0एम0सी0 नई दिल्ली द्वारा दिनांक 13 अक्टूबर 2021 को 100 एम0बी0बी0एस0 छात्र प्रतिवर्ष प्रवेश हेतु मान्यता प्रदान कर दी गयी हैं। इस अवसर पर सांसद राज्यसभा अरूण सिंह के प्रतिनिधि के अलावा मुख्य चिकित्सा अधीक्षक मण्डलीय अस्पताल डा0 आलोक कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 पी0डी0 गुप्ता, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक जिला महिला चिकित्सालय डा0 संजय पाण्डेय, वरिष्ठ कोषाधिकरी, नगर मजिस्ट्रेट विनय कुमार सिंह, क्षेत्राधिकारी सदर प्रभात राय, तहसीलदार सुनील कुमार कार्यदायी संस्था व मेडिकल कालेज के अधिकारियों के साथ-साथ जनपद के अन्य अधिकारी व जन प्रतिनिधिगण उपस्थित रहें।

About the author

Aditya Prakash Srivastva