उत्तर प्रदेश मिर्जापुर राज्य

मिर्जापुर :: धान क्रय एवं टोकन वितरण में हो पूर्ण पारदर्शिता, लापरवाही पर होगी कार्यवाही – जिलाधिकारी

News
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

अन्नपूर्णा श्रीवास्तव, कुशीनगर केसरी/kknews24, मिर्जापुर(१७ नवंबर)। जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार ने पी0सी0एफ0 द्वारा संचालित ’’धान क्रय केन्द्र’’ क्रमशः राजपुर, मोहनपुर भवरख एवं दाढ़ीपुर साधन सहकारी समिति का औचक निरीक्षण किया। सर्वप्रथम राजपुर धान क्रय केन्द्र पहुॅचने पर वहाॅ के केन्द्र प्रभारी ललिता सिंह से किसानो के क्रय टोकन रजिस्टर, स्टोर रूम, बोरो की संख्या, डस्टर फैन की स्थिति, इलेक्ट्रानिक कांटे की चेकिंग सम्बन्धित प्रश्नो पर संतोषजनक उत्तर नही मिला।

जिलाधिकारी ने स्टोर रूम मेें काफी दुर्गध आने एवं डस्टर फैन सही से क्रियाशील न होने और 20 किलो के बाट रखकर इलेक्ट्रानिक कांटे का परीक्षण किया। वहाॅ उपस्थित किसान सुरेश चन्द्र मालवीय से उन्होने धान टोकन प्राप्ति से लेकर विभिन्न सुविधाओ के बारे में पूछा। मोहनपुर भवरख धान क्रय केन्द्र में किसानो की बड़ी संख्या ने जिलाधिकारी से वहाॅ कि अव्यवस्था एवं कमियो को विस्तार से अवगत कराया। केन्द्र प्रभारी श्री अनिल कुमार द्वारा धान क्रय रजिस्टर पूर्ण रूप से न भरा होने पर जिलाधिकारी ने कड़ी चेतावनी देते हुये कहा कि सभी सूचनायें उसी समय और शासन के निर्धारित प्रारूप में अवश्य भरी जायें। उपस्थित किसान श्री सुनील सिंह, कमला प्रसाद, संजय आदि ने बोरे की कमी, टोकन अनियमितता, पासबुक, सचिव की अनुपस्थिति एवं अन्य समस्याओ से परिचय कराया। जिलाधिकारी ने यूरिया खाद की एक बोरी रखाकर इलेक्ट्रानिक कांटे का परीक्षण किया।
दाढ़ीपुर धान क्रय केन्द्र के सचिव लोलारख नाथ मिश्र द्वारा धान का नमी मापक यंत्र सही से संचालित न कर पाने पर जिलाधिकारी नें फटकार लगायी तथा स्टोर में गंदगी एवं साफ-सफाई न होने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की। वहाॅ किसानो के लिये पानी की व्यवस्था, डस्टर फैन एवं इलेक्ट्रानिक कांटे का भी परीक्षण किया। उपस्थित किसान तेज बहादुर द्वारा बटाईदारी का सत्यापन संदर्भित जिलाधिकारी से शिकायत की गयी।
जिला खाद्य विपणन अधिकारी श्री धनंजय सिंह एवं जिला सूचना अधिकारी डाॅ0 पंकज कुमार के साथ निरीक्षण पश्चात जिलाधिकारी ने पी0सी0एफ0 के तीनों धान क्रय केन्द्रो पर असंतोष जनक व्यवस्था पाये जाने पर जिला प्रबन्धक एवं सहायक निबन्धक सहकारी को नोटिस जारी किया तथा साथ ही साथ उनको निर्देशित किया कि वे निरीक्षण के तीनों क्रय केन्द्रो सहित लापरवाही वाले अन्य केन्द्रो को नोटिस भेजकर आवश्यक कार्यवाही करें। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि सभी क्रय केन्द्रो पर अनिवार्य रूप से धान की खरीद प्रारम्भ कर दिया जाये तथा उसकी रिपोर्ट सांय तक जिला खाद्य विपणन अधिकारी के माध्यम से प्रस्तुत किया जायें। उन्होने सभी केन्द्र प्रभारी एवं सचिवो को निर्देश दिया कि व अपने केन्द्रो पर समुचित सफाई व्यवस्था, किसानो के बैठने एवं पेयजल व्यवस्था, इलेक्ट्रानिक कांटा, डस्टर फैन, नमी मापक यंत्र, बोरा की व्यवस्था करना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि टोकन वितरण व्यवस्था में शत प्रतिशत पारदर्शिता होनी चाहिये ’’पहले आओ पहले पाओ’’ के आधार पर टोकन दिया जाये उसी क्रम में टोकन रजिस्टर में किसानो का नाम व टोकन नम्बर दर्ज किया जायें। उन्होने कहा कि किसानो के मेहनत का पूरा दाम मिलेगा। धान खरीद में किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाशत नही की जायेगी।

About the author

Aditya Prakash Srivastva